सीबीएसई बोर्ड एग्जाम में डायबीटिक स्टूडेंट दिव्यांग श्रेणी में

Advertisements

NEWS IN HINDI

सीबीएसई बोर्ड एग्जाम में डायबीटिक स्टूडेंट दिव्यांग श्रेणी में

भोपाल। सीबीएसई ने इस साल टाइप-1डायबीटीज को दिव्यांग कैटेगरी में रखा है। और 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले बच्चों से कहा है कि जो भी स्टूडेंट्स टाइप-1डायबीटीज से पीड़ित हैं, वे दिव्यांग कैटेगरी के तहत ही फॉर्म भरें। पिछले साल सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं की परीक्षा में शामिल हो रहे वैसे स्टूडेंट्स जो इंसुलिन पर निर्भर हैं, उन्हें परीक्षा केंद्र पर शुगर टैबलेट्स, चॉकलेट, कैंडीज और पानी की बोतल ले जाने की छूट दी थी। सीबीएसई के सर्कुलर में कहा गया था कि इन बच्चों को हर थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ खाने की जरूरत होती है, ताकि उन्हें हाइपोग्लैकेमिया से बचाया जा सके जिससे जान का भी खतरा रहता है।

और भी सुविधाएं मांग सकते हैं स्टूडेंट
5 मार्च से 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं शुरू हो रही हैं और बोर्ड एग्जाम में शामिल होने वाले डायबीटिक बच्चों से कहा गया है कि अगर वे परीक्षा के दौरान विशेष छूट चाहते हैं तो उन्हें शारीरिक दिव्यांगता कैटेगरी में फॉर्म भरना होगा। दिव्यांगता कानून 2017 के तहत जो 21 अक्षमताएं इस लिस्ट में शामिल हैं, उसमें डायबीटीज नहीं है। एक्सपर्ट्‌स की मानें तो इस तरह के बच्चों दिव्यांगता सर्टिफिकेट के अधिकारी नहीं हैं, लेकिन सीबीएसई के इस कदम की वजह से कुछ जटिलताएं हो सकती हैं। इस तरह के स्टूडेंट्स आगे चलकर दिव्यांगता कानून के तहत सुविधाओं की मांग कर सकते हैं।

 

NEWS IN English

In the CBSE board exam, diabetic student in the Divya category

Bhopal. CBSE has kept type-1 diabetes in Divya category this year. And to the children joining the 10th and 12th board exams, they have told that the students who are suffering from Type-1 diabetes should fill the form only under Divya category. Students who were dependent on insulin were allowed to take sugar pots, chocolates, candies and water bottles at the examination center, as the CBSE joined the 10th and 12th examination last year. In CBSE circular it was said that these children need to eat something in a little while so that they can be protected from hypoglycemia, which also threatens life.

Students can ask more facilities
From the 5th March to the 10th and 12th board examinations are going on and the diabetic children attending the board exams have been told that if they want special discounts during the examination, they will have to fill the form in the physical Divya category. The 21 disabilities that are included in this list under the Divyangata Act 2017 do not contain diabetes. Experts believe that such children do not have the services of Divya Certificate, but due to this move of CBSE, there may be some complications. Such students can further demand facilities under Divya Law Act.

Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.