अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष रिपोर्ट : चीन को पछाड़कर 2018 में भारत बनेगा तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था

Advertisements

NEWS IN HINDI

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष रिपोर्ट : चीन को पछाड़कर 2018 में भारत बनेगा तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था

वाशिंगटन। इस साल चीन को पछाड़कर भारत फिर दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन जाएगा। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) के अनुमान के मुताबिक, 2018 में चीन के 6.8 फीसद की तुलना में भारत की अर्थव्यवस्था 7.4 फीसद की दर से आगे बढ़ेगी। पिछले साल भारत की विकास दर नोटबंदी और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को लागू करने की शुरुआती दिक्कतों के चलते कम रही थी। सोमवार को जारी वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक (डब्ल्यूईओ) में आइएमएफ ने 2019 में भारत की विकास दर 7.8 फीसद रहने का अनुमान व्यक्त किया है।

अक्टूबर, 2017 में जारी डब्ल्यूईओ में भी 2018 और 2019 में भारत की विकास दर का अनुमान क्रमशः 7.4 और 7.8 फीसद ही रखा गया था। 2019 में चीन की विकास दर 6.4 फीसद रहने का अनुमान है। आइएमएफ के अनुसार, उभरते बाजारों और विकासशील देशों के लिए विकास का अनुमान पहले जैसा ही बना हुआ है। 2017 की तरह ही उभरते और विकासशील एशिया में 2018-19 के दौरान अर्थव्यवस्था करीब 6.5 फीसद की दर से बढ़ेगी। वैश्विक अर्थव्यवस्था में इसकी हिस्सेदारी आधी से ज्यादा बनी रहेगी। ग्लोबल अर्थव्यवस्था को लेकर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने चिंता जताई है।

आइएमएफ का कहना है कि 2018 और 2019 में वैश्विक अर्थव्यवस्था की गति बनी रहेगी, लेकिन यह तेजी ज्यादा समय तक रहने की उम्मीद नहीं है। आइएमएफ के इकोनॉमिक काउंसलर और रिसर्च डायरेक्टर मॉरिस ऑब्स्टफेल्ड ने कहा, ‘वैश्विक अर्थव्यवस्था ने गति पकड़ी है। यह अच्छी खबर है। लेकिन राष्ट्रों को ध्यान रखना होगा कि अभी तेजी के कुछ ऐसे कारक हैं, जो ज्यादा लंबे समय तक शायद नहीं बने रहेंगे। वैश्विक आर्थिक संकट हमें बहुत पीछे छूटा हुआ लग रहा है, लेकिन समावेशी विकास और बेहतर नीतियों के बिना अगला संकट बहुत जल्द आ सकता है। इससे निपटना ज्यादा मुश्किल होगा।’ 2017 में ग्लोबल इकोनॉमी अनुमानित तौर पर 3.7 फीसद की दर से बढ़ी। 2018 और 2019 में यह 3.9 फीसद रह सकती है।

 

NEWS IN English

International Monetary Fund Report: India will become India’s fastest growing economy in 2018, overtaking China

Washington India will again become the world’s fastest growing economy by overtaking China this year. According to the International Monetary Fund (IMF) estimates, India’s economy will grow at a rate of 7.4 percent compared to China’s 6.8 percent in 2018. Last year, the growth rate of India was lower due to the initial problems of the ban and the introduction of Goods and Services Tax (GST). In the World Economic Outlook (WEO) released on Monday, the IMF has projected India’s growth rate to be 7.8 percent in 2019.

In the WPO released in October 2017, India’s growth rate in 2018 and 2019 was estimated at 7.4 and 7.8 percent respectively. China’s growth rate is estimated at 6.4 percent in 2019. According to the IMF, growth estimates for emerging markets and developing countries remain the same as before. In 2018-19, emerging and developing Asia, like in 2017, the economy will grow at around 6.5 per cent. Its share of the global economy will remain at least half. The International Monetary Fund has expressed concern about the global economy.

The IMF says that the pace of the global economy will continue in 2018 and 2019, but this is not expected to stay fast for much longer. “The global economy has caught momentum,” said IMF Economic Counselor and Research Director Maurice Obstfeld. This is good news. But the nations will have to keep in mind that there are some factors of fast progress, which may not last for a long time. The global economic crisis seems to be lying behind us, but without the inclusive development and better policies, the next crisis can come very soon. It will be more difficult to deal with this. ” In 2017, global economy grew at an estimated rate of 3.7 per cent. It can be 3.9 percent in 2018 and 2019.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.