कासगंज हिंसा : चंदन की मौत के मामले में मुख्य आरोपी सलीम गिरफ्तार

Advertisements

NEWS IN HINDI

कासगंज हिंसा : चंदन की मौत के मामले में मुख्य आरोपी सलीम गिरफ्तार

कासगंज। कासगंज में गणतंत्र दिवस पर युवक की हत्या के बाद फैली हिंसा अब काबू में है और शहर में हालात समान्य बताए जा रहे हैं। इस पूरे मामले की जांच राज्य सरकार ने एसआईटी को सौंप दी गई है। इस बीच खबर है कि युवक चंदन की मौत के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी सलीम को गिरफ्तार कर लिया है। इस बीच हिंसग्रस्त इलाके के लिए निकले कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने रोक दिया है। जानकारी के अनुसार कासगंज डीएम ने कांग्रेस नेताओं के दल को रोक दिया है। इस दल का नेतृत्व कांग्रेस नेता राज बब्बर कर रहे थे।

आरोपियों के घर लगाए नोटिस
दूसरी तरफ पुलिस ने हिंसा में आरोपी लोगों के घर नोटिस लगा दिए हैं। पुलिस ने अब तक चार आरोपियों को हिरासत में लिया है वहीं फरार चल रहे हैं आरोपी वसीम के घर नोटिस लगाकर सरेंडर करने के लिए कहा गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि आरोपी अगर सरेंडर नहीं करता है तो उसकी संपत्ति कुर्क की जाएगी।

योगी ने कहा, फिर न हो कासगंज जैसी घटना
कासगंज हिसा को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गुस्सा मंगलवार शाम वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान साफ नजर आया। कानून-व्यवस्था की समीक्षा भी की। उन्होंने कई जिलों के कप्तानों को फटकारा और घटनाओं के जल्द पर्दाफाश का अल्टीमेटम दिया। मुख्यमंत्री ने कासगंज एसपी से बात भी करनी चाही लेकिन, उन्हें बताया गया कि कासगंज एसपी व डीएम क्षेत्र में गश्त कर रहे हैं। योगी ने कहा कि वह नहीं चाहते कि कासगंज जैसी घटना की पुनरावृत्ति हो। कासगंज में जिन लोगों ने माहौल बिगाड़ा है, उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए।

नकलविहीन परीक्षा को लेकर सभी जिलों के डीएम-एसएसपी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर रहे योगी ने जब पुलिस कप्तानों से सवाल-जवाब किए, तब डीजीपी ओपी सिंह भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने मथुरा, फर्रुखाबाद, गोंडा, आजमगढ़ व वाराणसी के कप्तानों से वहां हुई लूट व डकैती की घटनाओं में अब तक की गई कार्रवाई का ब्योरा पूछा। योगी के सवालों के आगे कप्तानों के पसीने छूट गए। उन्होंने गोंडा में 50 लाख की लूट सहित अन्य बड़ी घटनाओं का पर्दाफाश अब तक न होने को लेकर नाराजगी जताई। लखनऊ में पड़ी डकैतियों का जल्द पर्दाफाश किए जाने की बात भी कही।

 

NEWS IN English

Kasganj violence: Chief accused Salim arrested in connection with Chandan’s death

Kasganj The violence spreading after the murder of the youth on Republic Day in Kasganj is now under control and the situation in the city is being declared as normal. The state government has been entrusted to the SIT to investigate the entire matter. Meanwhile, the news is that police arrested Salim, the main accused in the case of Youth Chandan’s death. Meanwhile, the Congress leaders who have left for the affected area have been stopped by the police. According to the information, the Congress has stopped the Congress leader’s team. The party was led by Congress leader Raj Babbar.

House arrest notice
On the other hand, the police has given notice to the accused people in the violence. The police has so far detained four accused, while the absconding accused has been asked to surrender by the notice of Wasim’s house. It also states that if the accused does not surrender, then his property will be squared.

Yogi said, then do not happen, incident like Kasganj
Chief Minister Yogi Adityanath’s anger about Kasaganj violence was clearly visible on Tuesday evening during video conferencing. He also reviewed the law and order. He cracked the captains of several districts and gave ultimatum to the expose of the incidents soon. The Chief Minister also wanted to talk to Kasganj SP but, he was told that Kasganj SP and DM are patrolling the area. Yogi said that he does not want to have a repetition of incident like Kasganj. Hard action should be taken against those who have spoiled the atmosphere in Kasganj.

DGP OP Singh was also present when the Yogi, who was doing video conferencing with DM-SSP of all the districts, against questionless examination, questioned the police captains. The Chief Minister asked the details of action taken so far in the cases of robbery and robbery there from the leaders of Mathura, Farrukhabad, Gonda, Azamgarh and Varanasi. The skeptics lost the sweat of the yogi’s questions. They expressed displeasure over not having exposed other major incidents including the loot of 50 lakh in Gonda Also, the robberies of Lucknow are being exposed soon.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.