ग्‍वालियर जिले में स्कूल वैन में एलपीजी किट प्रतिबंधित

Advertisements

NEWS IN HINDI

ग्‍वालियर जिले में स्कूल वैन में एलपीजी किट प्रतिबंधित

ग्वालियर। कलेक्टर ने जिले में एलपीजी गैस किट लगी मारूति वैनों को स्कूल के बच्चों को लाने व ले जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। अगर एलपीजी वैन बच्चों का परिवहन करते पकड़ी गई तो इसके लिए स्कूल प्रबंधन व वैन मालिक जिम्मेदार होंगे।

साथ ही आदेश के उल्लंघन के मामले में कानूनी कार्रवाई की जाएगी। वहीं दूसरी ओर निर्देश दिए गए हैं कि उप पुलिस अधीक्षक यातायात, आरटीओ व जिला शिक्षा अधिकारी वैनों पर अलग-अलग कार्रवाई करें।

16 फरवरी 2018 को रायसिंह के बाग में एक स्कूली वैन में आग लग गई थी। इस वैन में 11 बच्चे सवार थे, आग लगने के बाद ड्राइवर वैन छोड़कर भाग गया था। तभी मौके पर मौजूद दो युवकों की मदद से वैन से बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला गया था।

वैन में इंजन के पास से गैस का रिसाव हो रहा था, जिससे वैन के अंदर आग भड़क गई थी। इस घटना के बाद स्कूली वैनों के खिलाफ कार्रवाई की गई। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी एसपीएस चौहान ने एक प्रस्ताव कलेक्टर को भेजा, जिसमें स्कूल वैनों में एलपीजी किट को प्रतिबंधित करने की बात कही गई थी। कलेक्टर ने इस प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है।

शहर में 405 मारूति वैन एलपीजी से दौड़ रहीं
शहर में 405 मारूति वैन रजिस्टर्ड हैं, जिनमें 208 में ईधन के रूप में एलपीजी गैस का उपयोग किया जा रहा है। ये वैन निजी उपयोग के लिए रजिस्टर्ड हैं, लेकिन इन वैनों में स्कूल के बच्चों का परिवहन हो रहा है। बच्चों के लिए ये वैनें सुरक्षित नहीं हैं।

– कलेक्टर ने अपने आदेश में कहा कि जिले के समस्त सीबीएसई, आईसीएसई से संबंद्ध स्कूल, माध्यमिक शिक्षा मंडल से संबद्ध स्कूल, शासकीय व अर्ध शासकीय स्कूल सुनिश्चित करें कि उनके स्कूल में अध्ययनरत छात्रों का परिवहन एलपीजी गैस किट लगे वाहन से तो नहीं हो रहा है। इस आदेश का पालन कराने के लिए स्कूलों को 15 दिन का समय दिया जाता है।

– जिन स्कूलों में एलपीजी किट लगे वाहनों से बच्चों का परिवहन हो रहा है, वह स्कूल संचालक 13 मार्च से पहले अन्य वाहन की व्यवस्था कराएं।

गैस किट मिली थी जर्जर हालत में
रायसिंह के बाग में हुई घटना के बाद खाद्य विभाग व आरटीओ ने संयुक्त अभियान चलाया। जिसमें वैनों में लगी गैस किट की जांच की गई। जिसमें सामने आया कि किटें काफी जर्जर हालत में हैं। इनसे कभी हादसा हो सकता है। इसके चलते किटों को प्रतिबंधित किया गया है।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

LPG kit in school van in Gwalior district

Gwalior The collector has banned LPG gas kit in the district to bring the children of the school to the Maruti Vans. If the LPG van is being transported to the children, the school management and the van owner will be responsible for this.

In addition, legal action will be taken in case of order violations. On the other hand, instructions have been given that the Deputy Superintendent of Traffic, RTO and District Education Officer, Vans will take separate actions.

On February 16, 2018, a school van was set on fire in Rai Singh’s garden. In this van, 11 children were aboard, after the fire, the driver fled the van and ran away. Only then were the children safely evacuated from the van with the help of two young men present on the spot.

There was a leak of gas from the engine in the van, which caused the fire inside the van. After this incident, action was taken against school vans. Regional Transport Officer SPS Chauhan sent a proposal to the Collector, in which there was talk of restricting the LPG kit in school vans. The collector has approved this proposal.

Running 405 Maruti van LPG in the city
405 Maruti Vans are registered in the city, in which 208 LPG gas is being used as fuel. These vans are registered for personal use, but the children of school are being transported in these vans. These vans are not safe for children.

– In his order, the Collector said in his order that the school affiliated to all the CBSE, ICSE affiliated schools, government and semi government schools, ensure that the students studying in their school are not being transported by the vehicle carrying LPG gas kit. is. Schools are given 15 days to comply with this order.

– In the schools which are transporting children from LPG kit to vehicles, the school operator should arrange other vehicles before March 13.

Gas kit was found in shabby condition
Food Department and RTO joint campaign launched after the incident in Raisingh Bagh In which the gas kit in the vans was examined. It was revealed that the kittens were in very shabby condition. These can be an accident. The kits have been banned in this regard.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.