मोदी-शाह ने फिर चौंकाया, धर्मेंद्र प्रधान को MP से राज्यसभा भेजने की इनसाइड स्टोरी

Advertisements

NEWS IN HINDI

मोदी-शाह ने फिर चौंकाया, धर्मेंद्र प्रधान को MP से राज्यसभा भेजने की इनसाइड स्टोरी

भारतीय जनता पार्टी की राजनीति का मिजाज इन दिनों बदला हुआ है. हर बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह किसी नयी नीति से या फिर उम्मीदवारों के चयन को लेकर हर किसी को हैरानी में डाल देती है. राज्यसभा चुनाव की पहली सूची ने इसी तरह राजनीतिक पंडितों को भी गच्चा दे दिया है. भाजपा ने तमाम कयासों को गलत साबित करते हुए मध्य प्रदेश से धर्मेंद्र प्रधान को राज्यसभा के अपना उम्मीदवार बना दिया है.

धर्मेंद्र प्रधान के उम्मीदवार बनाए जाने के साथ ही भाजपा के गलियारों में राजनीतिक हलचल तेज हो गई है. धर्मेंद्र प्रधान की उम्मीदवारी सिर्फ उनके राज्यसभा के लिए चुने जाने के विकल्प तक सीमित नहीं है, बल्कि ये फैसला दूरगामी राजनीतिक समीकरणों को ध्यान में रखते हुए लिया गया है.

भाजपा सूत्रों के अनुसार, धर्मेंद्र प्रधान चुनावी साल में मध्य प्रदेश में एक बड़ी राजनीतिक भूमिका में नजर आ सकते है. सूत्रों की मानें तो धर्मेंद्र प्रधान को राज्य में भाजपा के चुनावी प्रचार की कमान दी जा सकती है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए उन्हें मध्य प्रदेश से राज्यसभा भेजने की कवायद की जा रही है.

वहीं, राजनीति के जानकार धर्मेंद्र प्रधान की भूमिका को लेकर उनके पिछले बयानों से जोड़ रहे हैं. धर्मेंद्र प्रधान ने पिछले दिनों उज्जैन में महाकाल के मंदिर में दर्शन और विशेष पूजा की थी. इसके बाद उन्होंने प्रदेश में पेट्रोल के दामों को लेकर पूछे गए एक सवाल पर कहा था कि हमारी अपेक्षा रहती है कि टैक्स कम लगे. राजनीति के जानकार अब इस पुराने बयान के हवाले मध्य प्रदेश में उनकी सक्रियता का हवाला दे रहे है.

धर्मेंद्र प्रधान इसके पूर्व उत्तराखंड में जेपी नड्डा के साथ चुनाव की कमान संभाल चुके हैं. इस पहाड़ी राज्य में भाजपा की सत्ता में ताजपोशी के पीछे उनकी रणनीति को अहम माना गया था. प्रधान छत्तीसगढ और झारखंड में भाजपा को चुनाव में जीत दिलाने में अहम भूमिका निभा चुके हैं.

हालांकि, भाजपा के सीनियर नेताओं ने इस मुद्दे पर पूरी तरह से चुप्पी साध ली है. बुधवार को राज्यसभा चुनाव के लिए जारी पहली सूची में मध्य प्रदेश से केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और थावरचंद गहलोत के नाम तय किए गए हैं. प्रदेश की पांच सीटों पर 23 मार्च को चुनाव होना है, जिनमें चार पर सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पाटी के उम्मीदवारों की जीत तय है. एक अन्य सीट कांग्रेस के खाते में जाने की संभावना है.

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Modi-Shah again shocked, Inside Story of sending Dharmendra Pradhan MP from Rajya Sabha

The mood of the Bharatiya Janata Party’s politics has changed over the years. Every time Prime Minister Narendra Modi and BJP President Amit Shah are surprised by any new policy or the selection of candidates. Similarly, the first list of the Rajya Sabha elections has also been voiced by political pundits. The BJP has proved Dharmendra Pradhan as the Rajya Sabha candidate from Madhya Pradesh while proving all the facts.

With the creation of Dharmendra Pradhan’s candidate, the political stir in BJP corridors has increased. Dharmendra Pradhan’s candidature is not limited to his choice of his Rajya Sabha, but this decision has been taken keeping in view of far-reaching political equations.

According to BJP sources, Dharmendra can appear in a major political role in Madhya Pradesh in the election year. According to sources, Dharmendra Pradhan can be given the command of BJP’s election campaign in the state. In view of this, they are being exercised to send Rajya Sabha from Madhya Pradesh.

At the same time, the knowledge-makers of politics are connecting with their previous statements about Dharmendra Pradhan’s role. Dharmendra Pradhan, in the last days of Ujjain, had a Darshan and special puja in the temple of Mahakal. After this, he said on a question asked about the prices of petrol in the state that we expect our tax to be low. Knowledge of politics is now referring to the activation of this old statement in Madhya Pradesh.

Dharmendra Pradhan has already held the post of election with JP Nadda in Uttarakhand. In this hill state, his strategy behind the coronation in the BJP’s power was considered important. In principal Chhattisgarh and Jharkhand, the BJP has played an important role in winning elections.

However, senior BJP leaders have completely silenced this issue. In the first list released for the Rajya Sabha elections on Wednesday, the names of union ministers Dharmendra Pradhan and Thavarchand Gehlot have been decided from Madhya Pradesh. The elections to five seats in the state will be held on March 23, out of which the ruling party of four is the victory of the candidates of the Bharatiya Janata Party. Another seat is likely to go to the Congress account.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.