मप्र : एक साल बाद अब एपीएल वर्ग की महिलाएं भी विधवा पेंशन योजना के दायरे में

Advertisements

NEWS IN HINDI

मप्र : एक साल बाद अब एपीएल वर्ग की महिलाएं भी विधवा पेंशन योजना के दायरे में

भोपाल। पिछले एक साल से विधवा पेंशन योजना के दायरे को बढ़ाने की कवायद अब पूरी होती नजर आ रही है। विधवा पेंशन योजना से बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) के दायरे को समाप्त किया जा रहा है। बजट घोषणा से पहले सामाजिक न्याय विभाग इसका प्रस्ताव वित्त विभाग को भेज चुका है। इससे करीब दस लाख महिलाओं को सीधा फायदा होगा। सरकार को अब योजना क्रियान्वित करने में 360 करोड़ रुपए अतिरिक्त लगेंगे। योजना अप्रैल 2018 से शुरू होगी। सूत्रों के मुताबिक पिछले साल के बजट में सरकार ने विधवा पेंशन के दायरे को बढ़ाने की बात कही थी, लेकिन सालभर प्रक्रिया ही चलती रही। एक बार सामाजिक न्याय विभाग ने प्रस्ताव भेजा तो वित्त विभाग ने लौटा दिया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रेडियो कार्यक्रम ‘दिल से” में इसकी घोषणा की तो दोबारा प्रस्ताव भेजा गया। इस बार वित्त विभाग का रुख सकारात्मक रहा। वित्त मंत्री जयंत मलैया के बजट भाषण में इसे शामिल किया गया। आयकरदाता विधवा महिलाओं को छोड़कर सभी एपीएल महिलाओं को योजना में शामिल किया जाएगा। इससे सरकार के खजाने पर करीब 360 करोड़ रुपए का अतिरिक्त खर्चा आ सकता है, क्योंकि केंद्र सरकार सिर्फ बीपीएल श्रेणी की विधवा महिलाओं को पेंशन देती है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

MP: A year later, the women of the APL class also under the widow pension scheme

Bhopal. For the past one year, the exercise of widening the scope of widow pension scheme is now complete. With the widow pension scheme, the scope of BPL (below poverty line) is being abolished. Before the budget announcement, the Social Justice Department has sent the proposal to the Finance Department. This will give direct benefit to nearly one million women. Now the government will take additional Rs 360 crores to implement the scheme. The plan will start from April 2018. According to sources, in the last year’s budget, the government had said that the widow pension should be extended, but the process continued throughout the year. Once the Social Justice Department sent the proposal, the Finance Department returned. Chief Minister Shivraj Singh Chauhan announced this in a radio program “Dil Se” and then the proposal was sent again.This time the Finance Department’s attitude was positive and it was included in the budget speech of Finance Minister Jayant Malaiya. All the applicants except income taxpayer widows The women will be included in the scheme, which may result in an extra expenditure of Rs 360 crore on the treasury of the government, because the Central Government The BPL gives pension to widowed women.

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.