मप्र : किसानों के नाम पर भाजपा नेताओं को विदेश भेजने के प्रस्ताव पर विवाद,जबकि इस सूची में बैतूल विधायक हेमंत खंडेलवाल का नाम शामिल

Advertisements

NEWS IN HINDI

मप्र : किसानों के नाम पर भाजपा नेताओं को विदेश भेजने के प्रस्ताव पर विवाद,जबकि इस सूची में बैतूल विधायक हेमंत खंडेलवाल का नाम शामिल

भोपाल। किसानों को खेती की उन्नत तकनीकी सिखाने के लिए कराए जाने वाले विदेश दौरे को लेकर विवाद शुरू हो गया है। दौरे के लिए प्रस्तावित किसानों की सूची में भाजपा नेताओं के नाम आने से सवाल उठने लगे हैं। वहीं सूची में नाम आने पर हैरत जताते हुए बैतूल विधायक हेमंत खंडेलवाल ने कहा कि दौरे के लिए मैंने कोई आवेदन ही नहीं किया है। उधर, संचालक कृषि मोहनलाल मीणा ने दावा किया कि अभी कोई सूची तय ही नहीं हुई हैं। उल्लेखनीय है कि सरकार किसानों के दल को इस बार ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, स्पेन, फ्रांस, ब्राजील, अर्जेन्टीना,एम्सटर्डम और तेलअवीव भेजने वाली है। इस साल विदेश अध्ययन के लिए भेजे जाने वाले किसानों की जो सूची प्रस्तावित की गई है, उसमें भाजपा से जुड़े कई नेताओं के नाम सामने आए हैं। इसमें पूर्व विधायक मुकाम सिंह किराड़े, बाबूलाल ताम्रकार, मनोरमा अग्रवाल, आशुतोष तिवारी, रामकृष्ण रघुवंशी, रमेशचंद्र सोमानी, हेमंत खंडेलवाल, जयप्रकाश जाट, नीरज भाटी सहित कई नेताओं के नाम प्रस्तावित हैं। इसको लेकर विवाद शुरू हो गया है। प्रदेश कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि भाजपा नेताओं को उपकृत करने के लिए शासकीय धन पर दौरे कराए जा रहे हैं। उधर, कृषि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि विदेश दौरे के लिए कलेक्टर आवेदन के आधार पर नाम प्रस्तावित करते हैं। इसके बाद संचालक कृषि के स्तर पर इनका परीक्षण होता है और अंतिम चयन कृषि उत्पादन आयुक्त के स्तर वाली समिति करती है। दौरे का अधिकांश खर्च सरकार उठाती है।

अगले सप्ताह तय होंगे नाम
कृषि संचालक मोहनलाल मीणा का कहना है कि पता नहीं सूची कहां से आई है। अभी तक किसी भी दौरे के लिए किसानों के नाम तय नहीं हुए हैं। नाम जिलों से आते हैं। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दौरे के लिए अगले एक सप्ताह में नाम तय हो सकते हैं।

भाजपा के ही किसान
उधर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने भाजपा नेताओं का नाम सामने आने पर कहा कि सौ में से 70 लोग भाजपा के हैं। ऐसे में जो किसान दौरे पर जाएंगे, वे भाजपा के ही निकलेंगे।

 

NEWS IN English

MP: Controversy over the proposal to send BJP leaders to foreigners in the name of farmers, while the names of the Betul MLA Hemant Khandelwal are included in this list.

Bhopal. There has been a debate over the foreign tour to be imparted to teach advanced technological farming to the farmers. The names of BJP leaders in the list of proposed farmers for the tour have begun to raise questions. While expressing surprise at the name of the list, Betul MLA Hemant Khandelwal said that I have not applied any application for the tour. On the other hand, Director of Agriculture Mohanlal Meena claimed that no list has yet been finalized. It is notable that the government is sending the group of farmers to Australia, New Zealand, Spain, France, Brazil, Argentina, Amsterdam and Tel Aviv this time. The list of farmers who have been sent for this year’s foreign studies has been mentioned in the names of many BJP leaders. In the name of many leaders including former MLA Mukam Singh Kirada, Babulal Tamrakar, Manorama Agarwal, Ashutosh Tiwari, Ramkrishna Raghuvanshi, Ramesh Chandra Somani, Hemant Khandelwal, Jaiprakash Jat, Neeraj Bhati are proposed. The dispute has started. Pradesh Congress has alleged that touring government funds is being made to oblige BJP leaders. On the other hand, the officials of the Agriculture Department say that for the foreign tour the collector proposes names on the basis of application. After this, the test is done at the level of the farmer and the final selection is done by the committee headed by Agriculture Production Commissioner. The government raises most of the tour cost.

Names will be fixed next week
Agriculture director Mohanlal Meena says that the list does not know where the list came from. So far the names of farmers have not been decided for any tour. The names come from the districts. Names can be fixed in Australia and New Zealand for the next one week.

BJP’s own farmer
On the other hand, BJP state president Nandkumar Singh Chauhan said on the name of BJP leaders that 70 out of the hundred people belong to the BJP. In such a case, the farmers who will go on tour, they will leave the BJP.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.