मप्र : दो साल से तैयार है मप्र में एक साथ निकाय व पंचायत चुनाव कराने का प्रस्ताव

Advertisements

NEWS IN HINDI

मप्र : दो साल से तैयार है मप्र में एक साथ निकाय व पंचायत चुनाव कराने का प्रस्ताव

भोपाल। देश में एक बार फिर लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ करने की चर्चा छिड़ गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक समिति भी बना दी है। वहीं, प्रदेश में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव एक साथ कराने का प्रस्ताव पिछले दो साल से तैयार है।राज्य निर्वाचन आयोग प्रस्ताव राज्य सरकार को सौंप चुका है। मुख्य सचिव के सामने इसका प्रस्तुतिकरण भी हो गया है। एक साथ चुनाव कराने के पंचायतराज व नगर पालिक अधिनियम में संशोधन कराना होगा। यदि प्रस्ताव लागू हो जाता है तो एक साथ चुनाव कराने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य हो सकता है। सूत्रों के मुताबिक 2016 में राज्य निर्वाचन आयुक्त आर. परशुराम की देखरेख में 378 नगरीय निकाय व 22 हजार से ज्यादा पंचायतों के चुनाव एक साथ कराने का प्रस्ताव तैयार किया गया था। इसमें एक साथ चुनाव कराने की वजह लंबी चलने वाली आचार संहिता है। इसमें आधार प्रभावित होने वाले विकास कार्य, प्रशासनिक शिथिलता और चुनाव में होने वाले खर्च को बनाया गया है। नगरीय विकास और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पहले चुनाव एक साथ होते थे पर विभिन्न् कारणों से इनके कार्यकाल में अंतर आ गया। 100 से ज्यादा निकायों का कार्यकाल दूसरे निकायों से अलग है। सरदार सरोवर बांध के गेट की ऊंचाई बढ़ाने से बैकवॉटर बढ़ने की वजह से पुनर्वास के काम में प्रशासनिक मशीनरी के व्यस्त होने की वजह से धार, बड़वानी सहित अन्य जिलों के नगरीय निकायों में अलग से चुनाव कराने पड़े थे। अनुसूचित क्षेत्रों के नगरीय निकायों के चुनाव भी बाकी निकायों से अलग हुए थे। कुछ ऐसी ही स्थिति पंचायतीराज संस्थाओं की भी है। निर्वाचन आयुक्त आर. परशुराम का कहना है कि हम प्रस्ताव भेज चुके हैं। निर्णय सरकार को करना है। इसके लिए अधिनियम में संशोधन होंगे। इसके आधार पर राज्य निर्वाचन आयोग चुनाव संचालन नियम में संशोधन करेगा।

यह है खास बातें
नगर निगम – 16
नगर पालिका – 98
नगर परिषद – 264
ग्राम पंचायत – 22,604
जनपद पंचायत – 312
जिला पंचायत – 51

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

MP: Ready for two years with a proposal to hold simultaneous body and panchayat elections

Bhopal. In the country, the discussion of elections for the Lok Sabha and assembly elections together again has sprung up again. On the initiative of Prime Minister Narendra Modi, Chief Minister Shivraj Singh Chauhan has also made a committee. At the same time, the proposal to make urban bodies and Panchayat elections together in the state is ready for the last two years. The state election commission has submitted the proposal to the state government. It has also been presented to the Chief Secretary. The Panchayat Raj and the Municipal Police Act will be amended in order to hold elections simultaneously. If the proposal is implemented then Madhya Pradesh can be the first state in the country to hold elections simultaneously.
According to sources, in 2016, the state election commissioner R. Under the supervision of Parashuram, a proposal was made to bring 378 urban bodies and more than 22 thousand panchayats together. The reason for holding elections together is a long-running code of conduct. In this, the development work, administrative dysfunction and the cost of elections will be affected. Urban Development and Panchayat and Rural Development Department officials say that the first elections were held together, but there was a difference in their tenure for various reasons. The tenure of more than 100 bodies is different from other bodies. Due to the increased height of the gate of the Sardar Sarovar Dam, due to the increase of backwater, due to the administrative machinery being engaged in rehabilitation work, there were separate elections in the urban bodies of other districts including Dhar, Badwani. The elections of urban bodies in the scheduled areas also got separated from the rest of the bodies. There is a similar situation in Panchayat Raj institutions too. Election Commissioner R. Parashurama says that we have sent the proposal. The government has to decide. The Act will be amended for this. Based on this, the State Election Commission will amend the conduct of the election.

This is special things
Municipal Corporation-16
Municipality – 98
City Council – 264
Gram Panchayat – 22,604
Janpad Panchayat – 312
District Panchayat – 51

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.