मुलताई : ट्रेनों के स्टापेज की मांग का लेकर जन आंदोलन मंच के धरना स्थल पहुंचे मध्यरेल नागपुर के अधिकारी

Advertisements

NEWS IN HINDI

मुलताई : ट्रेनों के स्टापेज की मांग का लेकर जन आंदोलन मंच के धरना स्थल पहुंचे मध्यरेल नागपुर के अधिकारी

बैतूल/मुलताई। मुलताई स्टेशन पर विभिन्न ट्रेनों के स्टापेज की मांग का लेकर जन आंदोलन मंच के बेनर तले 23 जनवरी से क्रमिक भूख हड़ताल प्रारंभ की गई है। जिससे रेल प्रसारण में हड़कंप व्याप्त है। क्रमिक भूख हड़ताल में शामिल विभिन्न जनसंगठनों द्वारा क्रमबद्ध तरीके से शांती पूर्वक प्रदर्शन कर जायज मांगो को पूरा करने की मांग की जा रही है। मंगलवार को मध्यरेल नागपुर के मार्केटिंग इंस्पेक्टर एसएम बालेकर, वाणिज्य निरिक्षक पीए वानखेड़े धरना स्थल पहुंचे व धरनारथ जनमंच के साथियों से चर्चा की गई। जिसमें मुख्य रूप से जीएम मुम्बई डीके शर्मा के 6 फरवरी के नियत कार्यक्रम के संबंध में जानकारी ली गई। धरनारथ नागरिकों ने कहा कि यदि उनकी जायज मांगों को स्वीकार नही किया जाता है तो धरना आंदोलन के तहत होने वाले नारे बाजी सहित अन्य तरह से विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। आंदोलन कारियों से मिलने पहुंचे अधिकारियों ने कहा कि वे अपनी ओर से मांगो के समर्थण में पत्राचार कर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराने का कार्य करेंगे ताकि मुलताई क्षेत्रवासियों को रेल सुविधाओं का लाभ मिल सके।

 

NEWS IN

English

Multai: With the demand of stamps of trains, the people of Madhyalal Nagpur, reaching the site of the mass movement platform

Betul / MultaI. A hunger strike has started with the demand of the stampedes of various trains at Multai station. There is a stir in the train transmission. Demand for fulfilling the legitimate demands by performing various peace organizations in a consistently hungry manner is being demanded by various mass organizations involved in the gradual hunger strike. On Tuesday, the marketing inspector of Madhyalalal Nagpur, SM Balarekar, commerce officer, reached the spot at the PA Wankhedra Dharna and discussed with the friends of Dharnarath Janamanch. In which mainly information was obtained regarding the scheduled meeting of GM Mumbai DK Sharma on February 6. Dharnarath citizens said that if their justified demands are not accepted, then there will be protests in other ways, including the slogans, which occur under the Dharna movement. Officials who arrived to meet the movement activists said that they would work to make senior correspondents inform them in support of the demands on their behalf so that the residents of Multan can get the benefit of the railway facilities.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.