मुलताई : सेन समाज ने की पैसेंजर ट्रेन चालू करने की मांग

Advertisements

NEWS IN HINDI

मुलताई : सेन समाज ने की पैसेंजर ट्रेन चालू करने की मांग

जय मालवीय
मुलताई। सेन समाज संघ द्वारा बंद की गई पैसेंजर पुनः चालू करने की मांग की गई है। सवर्ण जयंती, अमरावती-जबलपुर का स्टॉपेज सहित त्रिशताब्दी नागपूर-इंदौर को रोजाना करने की भी मांग की गई है। समाज के यादोराव निम्बालकर, प्रभाकर बोरकर, मनोज खवादे सहित अन्य लोगों ने बताया कि रेलवे द्वारा पैसेंजर को अचानक बंद कर देने से पूरे क्षेत्र के लोग परेशान हो गए हैं। नगर का व्यवसाय भी प्रभावित हो गया है। पैसेंजर ट्रेन बंद होने से पूरे क्षेत्र के विद्यार्थी भी आमला एवं बैतूल में स्थित महाविद्यालय नहीं जा पा रहे हैं। जिससे उनकी शिक्षा प्रभावित हो रही है। मुलताई पवित्र नगरी होने के बावजूद प्रमुख ट्रेनों का स्टापेज नहीं होने से तीर्थयात्री भी मुलताई नहीं आ रहे हैं, इसलिए स्वर्ण जयंツती, अमरावती-जबलपुर ट्रेनों का स्टॉपेज किया जाना चाहिए। सेन समाज ने कहा कि ट्रेनों के स्टॉपेज के लिए जन आंदोलन मंच द्वारा आंदोलन किया जा रहा है जिसका सेन समाजा समर्थन करता है।

 

NEWS IN English

Multanai: Sen community demands passenger trains to be started

Jai Malavi
Multatai The demand for the resumption of passenger stopped by Sen community association has been demanded. There has been a demand for routine Nagpur-Indore including the stops for Sravan Jayanti, Amravati-Jabalpur, daily. Other people, including Yadavo Nimbaalkar, Prabhakar Borkar and Manoj Khwade, said that due to the sudden shutdown of the passenger by the railway, the people of the entire area have become disturbed. The business of the city has also been affected. Due to the passenger train closure, the students of the entire area are not able to attend college in Amla and Betul. This is affecting their education. Despite being a holy city, despite having no stapages of major trains, the pilgrims are not getting any help, hence the stops for the Golden Jubilee, Amravati-Jabalpur trains should be done. Sen said that the movement is being organized by the mass movement platform for the stops of trains, whose community supports the community.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.