नई दिल्ली : एलईडी बल्ब से रफ्तार पकड़ेगा इंटरनेट,दस जीबी प्रति सेकंड होगी गति

Advertisements

NEWS IN HINDI

नई दिल्ली : एलईडी बल्ब से रफ्तार पकड़ेगा इंटरनेट,दस जीबी प्रति सेकंड होगी गति

नई दिल्ली। तकनीक की बदलती दुनिया में इंटरनेट इंसानी जिदगी का अहम हिस्सा बन गया है। कभी मिनटों का काम घंटों में होता था, लेकिन अब बदलते दौर में घंटों का काम भी सेकंड्स में होने लगा है। अब जल्द ही आपका वास्ता 4G से भी आगे की तकनीक से होने वाला है। भविष्य में इंटरनेट की सुविधा एलईडी बल्ब से मिलेगी। हाल ही में एक प्रोजेक्ट के तहत इन्फर्मेशन ऐंड टेक्नॉलजी मिनिस्ट्री ने एक नई तकनीक का सफल टेस्ट किया है। इस नई तकनीक को लाई-फाई का नाम दिया गया है।

क्या है ये नई तकनीक-
Li-Fi डाटा ट्रांसफर के लिए रेडियो फ्रिक्वेंसी वेव्स की जगह विजिबल लाइट कम्युनिकेशंस या इंफ्रारेड या नजदीकी अल्ट्रावॉयलेट का उपयोग करता है। यह टेक्नोलॉजी 400 और 800 THz (780–375 nm) के बीच के विजिबल लाइट का प्रयोग करता है। बल्ब को स्विच ऑन या ऑफ करने से इसका उपयोग किया जाएगा, चूंकि यह नैनोसेकेंड में होगा इसलिए आमतौर पर हम आंखों से नहीं देख पाएंगे। Li-Fi नाम की यह तकनीक Wi-Fi की जगह नहीं लेना चाहती लेकिन यह अपने तरीके के फायदे लेकर आया है विशेषतौर पर सिक्योरिटी। जैसा कि हम जानते हैं प्रकाश की तरंगे दीवार के आर-पार नहीं हो सकती, यह तकनीक कम दूरी के लिए काफी प्रभावी होगी और हैकिंग जैसी मुश्किलों को रोकेगी।

सुपर फास्ट स्पीड पर होगा डाटा ट्रांसफर –
उम्मीद की जा रही है की इस तकनीक से 1km तक के इलाके में 10GB प्रति सेकंड की स्पीड से डाटा ट्रांसफर किया जा सकेगा। इस तकनीक की मदद से लगभग देश के हर हिस्से में इंटरनेट उपलब्ध करवाना संभव हो सकेगा।

स्मार्ट सिटीज लाने में होगा मददगार-
इस प्रोजेक्ट पर कार्य कर रही नीना पहुजा के अनुसार- आने वाले समय में स्मार्ट सिटीज में लाई-फाई तकनीक काफी काम आएगी। इसमें इंटरनेट की जरुरत होगी और इसे इस तकनीक के जरिए पूरा किया जा सकेगा।

आईआईटी मद्रास के साथ काम चल रहा है-
इस प्रोजेक्ट पर अभी आईआईटी मद्रास में काम चल रहा है। इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में एलईडी बल्ब बनाने वाली कंपनी फिलिप्स भी साथ दे रही है। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस अपने इस प्रोजक्ट का इस्तेमाल बेंगलुरु में करना चाहता है।

क्या है फिलिप्स लाइटिंग इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर का कहना-
इस पूरे मामले पर फिलिप्स लाइटिंग इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर सुमित जोशी का कहना है, ‘हम नई तकनीकों को लाए जाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और इस क्षेत्र में नई तकनीकों पर काम करते रहेंगे।

 

NEWS IN English

New Delhi: LED bulb will speed Internet, speed up to 10 GB per second

new Delhi. In the changing world of technology, the Internet has become an important part of human life. Sometimes the work of minutes was done in the hours, but now the working hours in the changing phase are also being done in seconds. Now soon your passage will be going beyond 4G. The future of the internet will be available from the LED bulb. Under the recent project, the Information and Technology Ministry has successfully tested a new technique. This new technology has been named as Lia-Fi.

What is this new technology-
Li-Fi uses Visible Light Communications or infrared or close ultraviolet instead of Radio Frequency Waves for data transfer. This technology uses Visible Light between 400 and 800 THz (780-375 nm). This will be used by the switch on or off of the bulb, because it will be in nanosecond, so usually we will not be able to see with our eyes. The Li-Fi technology does not want to replace Wi-Fi, but it has come with its own advantages, especially security. As we know, the wave of light can not be crossed across the wall, this technique will be effective for a short distance and will prevent the difficulties like hacking.

Data transfer on super fast speed –
It is expected that this technology will be able to transfer data from 10GB per second speed to the area of ​​up to 1km. With the help of this technology, it will be possible to provide internet in almost every part of the country.

Smart Cities will be helpful-
According to Nina, who has been working on this project, in the coming days, the Lia-Fi technology will be quite useful in smart cities. It will require internet and it can be accomplished through this technique.

Working with IIT Madras –
Work on this project is currently under the IIT Madras. Philips is also collaborating with the LED bulb maker to complete this project. The Indian Institute of Science wants to use this project in Bengaluru.

What is the Managing Director of Philips Lighting India?
On this whole, Sumit Joshi, managing director of Philips Lighting India, says, “We are committed to bringing new technologies and will continue to work on new technologies in this field.”

Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.