नई दिल्ली : नारंगी पासपोर्ट नहीं जारी होंगे, केंद्र सरकार ने लिया फैसला वापस

Advertisements

NEWS IN HIND

नई दिल्ली : नारंगी पासपोर्ट नहीं जारी होंगे, केंद्र सरकार ने लिया फैसला वापस

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने नारंगी पासपोर्ट जारी करने का फैसला वापस ले लिया है। सरकार की योजना थी कि जिन्होंने 10वीं की परीक्षा पास नहीं की है, उन्हें नारंगी रंग का पासपोर्ट दिया जाए। सरकार के इस फैसले का यह भी अर्थ है कि पासपोर्ट का अंतिम पन्ना अब भी पहले की ही तरह छापा जाएगा। भारतीय पासपोर्ट के आखिरी पन्ने पर पते की जानकारी होती है। पासपोर्ट में लिखा पता मान्य प्रमाण के रूप में स्वीकार किया जाता है। विदेश मंत्रालय के अनुसार नारंगी पासपोर्ट जारी करने के फैसले को वापस लेने का निर्णय विगत सोमवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने वीके सिंह समेत अपने दो विदेश राज्य मंत्रियों की मौजूदगी में लिया है।

सरकार ने यह फैसला महिला और बाल विकास मंत्रालय की तीन सदस्यीय कमेटी की सिफारिशों के आधार पर लिया था। गौरतलब है कि विदेश मंत्रालय ने पिछले हफ्ते एक घोषणा की थी। इसमें बताया गया था कि अब पासपोर्ट के आखिरी पन्ने को खत्म करने का प्रावधान होगा। आखिरी पन्ने में धारक के पते समेत तमाम जानकारियां होती हैं। हालांकि अभी जो नीले रंग के पासपोर्ट जारी किए गए हैं वो भी वैध रहेंगे और उनको बदलवाया भी जा सकेगा।

यह पासपोर्ट उन लोगों के लिए जारी किए जाने थे जिन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी नहीं की है और वह विदेश काम करने के लिए जा रहे हैं। इनमें ज्यादातर खाड़ी देश जाते हैं। अब उनको इसके लिए संबंधित विभाग से अनुमति का प्रमाणपत्र लेना होगा। उल्लेखनीय है कि विदेश मंत्रालय के नारंगी रंग के पासपोर्ट को जारी करने के फैसले की कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों ने कड़ी आलोचना की थी। विपक्ष का आरोप था कि ईसीआर श्रेणी के लोगों को अलग से नारंगी रंग का पासपोर्ट देने से भाजपा की भेदभाव की नीति का पता चलता है।

 

NEWS IN English

New Delhi: Orange passports will not be issued, central government withdraws decision

new Delhi. The central government has withdrawn the decision to issue orange passports. The government had planned that those who did not pass the 10th examination should be given an orange color passport. This decision of the government also means that the last page of the passport will still be printed in the same way as before. Address information is available on the last page of Indian passport. The address written in the passport is accepted as valid proof. According to the Ministry of External Affairs, the decision to withdraw the decision to issue an orange passport has been taken by Foreign Minister Sushma Swaraj on Monday, in presence of two foreign ministers including VK Singh.

The government took this decision on the basis of the recommendations of the three-member committee of the Ministry of Women and Child Development. Significantly, the Ministry of External Affairs had made an announcement last week. It was stated that there will be a provision to eliminate the last page of the passport. The last page contains all the information including the address of the holder. However, the blue passports that are currently issued will also be valid and they will be replaced.

This passport was to be issued for those who have not completed their schooling and are going to work abroad. Most of them go to the Gulf country. Now they will have to obtain a certificate of permission from the concerned department for this. It is noteworthy that all the opposition parties including the Congress, including the Congress, had strongly criticized the decision of the Foreign Ministry to issue orange color passports. The Opposition was accused of giving orange color passport separately to people of the ECR category, the BJP’s discriminatory policy is revealed.

Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.