नई दिल्ली : 900 करोड़ की कर चोरी पकड़ने वाले अधिकारी रवि दत्त शंकर को राष्ट्रपति पुरस्कार

Advertisements

NEWS IN HINDI

नई दिल्ली : 900 करोड़ की कर चोरी पकड़ने वाले अधिकारी रवि दत्त शंकर को राष्ट्रपति पुरस्कार

नई दिल्ली। अपने पिछले 25 साल के सेवाकाल में 961.92 करोड़ रुपये की कर चोरी पकड़ने वाले अधिकारी रवि दत्त शंकर को आखिर इसका इनाम मिल ही गया। उन्हें राष्ट्रीय पदक से सम्मानित किया गया। डायरेक्टरेट जनरल ऑफ गुड्स एंड सर्विस टैक्स इंटेलीजेंस (डीजीजीएसटीआइ) के सतर्कता अधिकारी शंकर ने अनेक कर चोरों को पकड़ा। 1992 से विभिन्न पदों पर रहते हुए वह अब सतर्कता अधिकारी हैं। एक पुरस्कार समारोह में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राष्ट्रपति की ओर से उन्हें सम्मानित किया। शंकर ने अपने कार्यकाल के दौरान कुल 47 मामले पकड़े। इनमें 961.92 करोड़ रुपये उत्पाद शुल्क या सेवा कर चोरी का पता चला। इसमें से 99.44 करोड़ रुपये स्वेच्छा से जमा कराए जा चुके हैं।

 

NEWS IN English

New Delhi: Ravi Dutt Shankar, who was the tax evasion owner of Rs 900 crore, gets President’s Award

new Delhi. Ravi Dutt Shankar, who was caught by tax evasion of Rs 961.92 crore in his last 25 years of service, was finally rewarded. He was awarded the National Medal. Vigilance officer Shankar, director general of Goods and Services Tax Intelligence (DGGSTI) caught many thieves While on various posts since 1992, he is now a vigilance officer. Finance Minister Arun Jaitley honored him on behalf of the President at an awards ceremony. Shankar caught a total of 47 cases during his tenure. They found out Rs 961.92 crore of excise duty or service tax evasion. 99.44 crores have been voluntarily deposited.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.