NPS नियमों में 4 बड़े बदलाव, आखिर क्यों पड़ी इन बदलावों की जरूरत, जानें

Advertisements

पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (पीएफआरडीए) ने एनपीएस से अंतिम भुगतान लेने के लिए तय समय सीमा को घटा दिया है। पीएफआरडीए के मध्यस्थों-सेंट्रल रिकॉर्डकीपिंग एजेंसी (सीआरए), पेंशन फंड्स कस्टोडियन ने एनपीएस के सिस्टम इंटरफेस में सुधार किया है। इसके तहत उन्होंने विभिन्न लेनदेन की समयसीमा को कम करने के लिए अपनी सूचना प्रौद्योगिकी क्षमताओं को बढ़ाया है।

क्यों पड़ी इस बदलाव की जरूरत

यह बदलाव तेजी से उभरती जरूरतों को पूरा करे और अंशधारकों को बेहतर अनुभव प्रदान करने के उद्देश्य से किया गया है। इसके तहत अंशधारकों के निकासी अनुरोध अब टी+4 की जगह टी+2 दिन कर दिए जाएंगे। इसमें टी मतलब है जिस दिन अनुरोध किया गया और उसके बाद के दो दिन और लगेंगे। पहले इस काम में कुल पांच दिन लगते थे। नियामक पीएफआरडीए ने कहा, निकास के समय अंशधारकों के निकासी अनुरोधों को अब तक टी+4 कार्य दिनों में निपटाना तय था जिसे अब घटाकर टी+2 कर दिया गया है। इस बदलाव से संबंधित सीआरए से जुड़े ग्राहकों को लाभ होगा।

नई व्यवस्था के तहत प्रोटीन ईगोव टेक्नोलॉजीस सीआरए से जुड़े अनुरोध सुबह 10:30 बजे तक अधिकृत करने पर टी+2 आधार पर निपटाए जाएंगे। नियामक ने कहा कि केफिन टेक्नोलॉजीज लिमिटेड और सीएएमएस सीआरए से जुड़े अंशधारकों से सुबह 11 बजे तक मिले अनुरोधों का निपटान टी + 2 आधार पर किया जाएगा।

हाल ही में एनपीएस नियमों में हुए 4 बड़े बदलाव

1. ई-नामांकन

एनपीएस में सरकारी और कॉरपोरेट क्षेत्र के अंशधारकों से जुड़े ई-नामांकन प्रोसेस में बदलाव किया गया है। यह नया नियम 1 अक्टूबर से लागू हो रहा है। अब नोडल अधिकारी को अधिकार मिला है कि वह ई-नामांकन के आवेदन को स्वीकार करे या खारिज करे। आवेदन किए जाने के 30 दिन तक नोडल अधिकारी ई-नामांकन पर फैसला नहीं लेता है, तो अनुरोध सेंट्रल रिकॉर्डकीपिंग सिस्टम के जरिये स्वीकार कर लुया जाएगा।

2. एन्युटी प्लान के लिए अलग फॉर्म नहीं

पहले एनपीएस ग्राहकों को एनपीएस की अवधि समाप्त होने पर एक एग्जिट फॉर्म भरना होता था। साथ में लाइफ इंश्योरेंस कंपनी में एन्युटी प्लान खरीदने के लिए फॉर्म भरना होता था। इसी आधार पर पेंशन मिलती थी। अब फॉर्म भरने की जरूरत नहीं होगी क्योंकि एग्जिट फॉर्म से ही एन्युटी प्लान के लिए आवेदन हो सकेगा।

3. डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जमा

एनपीएस के पेंशनर अब डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जमा करा सकेंगे। यह सर्टिफिकेट आधार वेरिफिकेशन पर आधारित होगा। यह काम फेसआरडी ऐप से हो सकता है जिसमें मोबाइल में ऐप डाउनलोड कर अपना डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट बनवाया जा सकता है। यह सर्टिफिकेट एन्युटी देने वाली लाइफ इंश्योरेंस कंपनी में जमा कराना होता है। यह काम अब ऑनलाइन पूरा किया जा सकेगा।

4. क्रेडिट कार्ड से पैसा जमा नहीं

एनपीएस के टियर-2 खाताधारक अब अकाउंट में क्रेडिट कार्ड से पैसे जमा नहीं करा सकेंगे। यह नियम 3 अगस्त, 2022 से लागू हो चुका है। इसके तहत क्रेडिट कार्ड को भुगतान माध्यम में रखते हुए पैसे जमा नहीं किए जा सकते। हालांकि एनपीएस टियर-1 खाते में अभी भी क्रेडिट कार्ड से पैसे जमा करने की छूट मिली है।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.