सारनी : शोभापुर खदान में लगी आधे घंटे में लगी आग से काबू पाया गया

Advertisements

NEWS IN HINDI

सारनी : शोभापुर खदान में लगी आधे घंटे में लगी आग से काबू पाया गया

प्रमोद गुप्ता
बैतूल/सारनी। शोभापुर खदान के पीछे प्रांगण में 11 से 12 बजे के बीच अचानक आग लग गई। आग इतनी तेज लगी कि डब्ल्यूसीएल के अधिकारियों के होश उड़ गए। उन्होंने तत्काल प्रभाव से नगरपालिका के फायर को आग लगने की सूचना दी। नपा के फायर ने तत्काल समय गवाएं मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पा लिया यदि डब्ल्यूसीएल के अधिकारी जरा भी कोताही बरतने तो बड़ा हादसा होने से इनकार नहीं किया जा सकता था बताया जाता है कि मुख्य सेक्शन जिससे भूमिगत खदान में आवागमन किया जाता है। उस सेक्शन के पीछे ही आग लगी हुई थी नपा के कर्मचारियों और डब्ल्यूसीएल के अधिकारियों मकसद से लगभग आधे घंटे में लगी आग से काबू पाया गया आग की वजह से डब्ल्यूसीएल प्रबंधन को मामूली नुकसान होना बताया जा रहा है नुकसान कितने का हुआ है यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है।

महुआ बीनने वालों ने लगाई होगी आग
गर्मी का दौर शुरू हो गया है अनुमान लगाया जा रहा है कि खदान प्रांगण और उसके बाहर महुआ बीनने वाले ग्रामीणों की संख्या में इजाफा होने लगा है महुआ बीनने के उद्देश्य ग्रामीणों ने जंगल में आग लगाई होगी और यह आग धीरे-धीरे करके शोभापुर माइंस प्रांगण में पहुंच गई। महुआ गिरने का दौर शुरू हो गया है और ग्रामीण महुए के पेड़ के आसपास साफ सफाई करके महुआ को बिन्ने का काम करते हैं। उसके लिए ग्रामीण खरपतवार में आग लगा देते हैं और संभवता ही इस खरपतवार की वजह से आग मयंक प्रांगण में लग गई होगी खैर जो भी हो लेकिन डब्ल्यूसीएल की भूमिगत खदान शोभापुर में लगी आग से बड़ा हादसा टल गया है।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Sarni: Over half an hour in Sobhapur mine was overrun by fire

Pramod Gupta
Betul / Sarani There was a sudden fire in the courtyard behind Sobhapur mine between 11 am and 12 am. The fire got so sharp that the WCL officials got scared. With immediate effect, they reported the fire of the Nagarpalika fire. Napa’s fire took the immediate time to reach the spot and managed to control the fire, if the WCL officials did not even refuse to accept a major accident, it is said that the main section is where the traffic in the underground mines is done. The fire was on the back of that section Nappa’s employees and WCL officials were being told to cause minor damage to WCL management due to fire caused by fire in almost half an hour. Have not been found.

Mahua pickers will set fire
Summer has begun. It is being speculated that the number of villagers who are taking mahua out of the mines and in front of them has started increasing. The purpose of procuring Mahua, the villagers have set a fire in the forest, and this fire will gradually bring the Shobhapur Mines Ground Reached in The mahua fall period has begun and the cleaning of the village mahua trees clean the mahua by cleaning it. For this, the villagers set fire to the weed and possibly due to this weed the fire may have been taken in the Mayank yard, but whatever happened to WCL’s underground mine, Sobhpur, a big accident has taken a toll.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.