पटवारी की अब जिले के बाहर भी हो सकेगी तैनाती – राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता

Advertisements

NEWS IN HINDI

पटवारी की अब जिले के बाहर भी हो सकेगी तैनाती – राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता

भोपाल। चुनावी साल में सरकार पटवारियों की जिले के बाहर भी तैनाती करेगी। इसके लिए एक जिले से दूसरे जिले जाने वाले पटवारियों को 10 से 20 फरवरी के बीच ऑनलाइन आवेदन देना होगा। इसके साथ ही प्राथमिकता वाले तीन जिले बताने होंगे। अभी तक जिला कैडर होने की वजह से पटवारी चाहकर भी दूसरे जिले में नहीं जा पाते थे। राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने मंगलवार को मंत्रालय में विभागीय समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि पटवारियों को उनकी पसंद के जिले में पदस्थ किया जाए। जिला कैडर होने की वजह से अभी जिले के बाहर पटवारियों को पदस्थ नहीं किया जाता था।

उन्होंने यह भी कहा कि नए भर्ती होने वाले नौ हजार से ज्यादा पटवारियों की काउंसलिंग के बाद अप्रैल से प्रशिक्षण शुरू कराया जाए। इसके लिए सेवानिवृत्त राजस्व अधिकारियों की सूची पहले से तैयार कर ली जाए। 10 फरवरी तक पटवारियों को मोबाइल लेने के लिए राशि उपलब्ध करा दी जाए। इसके बाद कोई राशि इस काम के लिए नहीं दी जाएगी।

आयुक्त भू-अभिलेख एम. सेलवेन्द्रन ने बैठक में बताया कि नए पटवारियों का प्रशिक्षण नए पाठ्यक्रम से होगा। इसमें चार माह का सैद्धांतिक और दो माह का व्यावहारिक प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसमें पूरा जोर कम्प्यूटर पर रहेगा। दरअसल विभाग सीमांकन, गिरदावरी सहित अन्य कामकाज में सूचना प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल पर जोर दे रहा है। इसके पीछे मंशा राजस्व मामलों का तेजी से निराकरण करना है।

 

NEWS IN English

Patwari can now be deployed even outside the district – Revenue Minister Umashankar Gupta

Bhopal. In the election year, the government will also be deployed outside Patwari district. For this, the patwaris going from one district to the next are required to apply online between 10 and 20 February. Along with this, three priority districts have to be told. Because of being a district cadre, Patwari did not even want to go to another district. Revenue Minister Umashankar Gupta on Tuesday directed the officials to make departmental review in the ministry that the Patwariis should be posted in the district of their choice. Because of being a district cadre, the patwaris were not kept in the district just outside the district.

He also said that after the counseling of nine thousand more families to be recruited, training should start from April. For this, list of retired revenue officials should be prepared in advance. By February 10, the funds for the mobile phones should be made available to the families. After this no amount will be given for this work.

Commissioner Land Records M. Selvendran told in the meeting that the training of new patwaris will be done by the new curriculum. There will be a four-month theoretical and two-month practical training. The full emphasis will be on the computer. In fact, the department is focusing on the use of information technology in other activities including demarcation, Girdavari. The intention behind this is to speed up the revenue matters quickly.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.