बैतूल की शक्कर का स्वाद चखेंगे पश्चिम बंगाल के लोग,जिले में बनी 27 हजार क्विंटल शक्कर ट्रेन से भेजी जा रही बंगाल

Advertisements

NEWS IN HINDI

बैतूल की शक्कर का स्वाद चखेंगे पश्चिम बंगाल के लोग,जिले में बनी 27 हजार क्विंटल शक्कर ट्रेन से भेजी जा रही बंगाल

दूसरे राज्य् से मिलेगी बैतूल जिले को 8 करोड से अधिक की रकम

बैतूल। जिले के किसानों द्वारा खेतों में लगाई गई गन्ने की फसल से बनाई जा रही शक्कर की मिठास का स्वाद अब पश्चिम बंगाल के लोग चखेंगे। जिले के इतिहास में यह पहला अवसर है कि बैतूल में बनी शक्कर ट्रेन के माध्यम से पश्चिम बंगाल भेजी जा रही है। इस शक्कर को बेचने के बाद 8 करोड की रकम पश्चिम बंगाल से बैतूल जिले में पहुंचेगी। आमतौर पर लोग बैतूल के रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के माध्यम से सामग्री जिले में पहुंचते देखते हैं लेकिन गुरूवार को जब रेलवे स्टेशन के माल गोदाम पर लोगों ने मालगाडी में शक्कर लोड होती देखी तो सभी आश्चर्यचकित रह गए। सोहागपुर स्थित श्रीजी शुगर मिल के संचालक अभिषेक गोयल ने बताया कि जिले के किसानों द्वारा मिल को प्रदान किए जा रहे गन्ने से उ’च गुणवत्ता की शक्कर बनाई जा रही है। इसी गुणवत्ता के कारण पश्चिम बंगाल में बैतूल की शक्कर की मांग अधिक हो रही है। गुरूवार को शुगर मिल से करीब 27 हजार क्विंटल शक्कर ट्रेन के माध्यम से पश्चिम बंगाल भेजने का कार्य किया जा रहा है। श्री गोयल ने बताया कि पहली बार अन्य प्रदेश से जिले में 8 करोड से अधिक की रकम पहुंचेगी। अन्य प्रदेशों में जिले में उत्पादित शक्कर को बेचने से जिले का ही राजस्व बढेगा और आर्थिक उन्नति भी होगी। श्री गोयल के अनुसार जिले में श्रीजी शुगर मिल के द्वारा किसानों को गन्ने का सबसे बेहतर दाम प्रदान किया जा रहा है और भुगतान भी निर्धारित समय पर किया जा रहा है। जिले के किसानों द्वारा उत्पादित गन्ने की गुणवत्ता पिछले वर्षों की तुलना में बेहतर हो रही है इसी वजह से शुगर मिल द्वारा भी उ’च गुणवत्ता की शक्कर निर्मित की जा रही है। इस गुणवत्ता को और बेहतर बनाने का प्रयास लगातार किया जा रहा है जिससे शक्कर की सप्लाई अन्य प्रदेशों में भी की जा सके।

 

NEWS IN English

People of West Bengal will enjoy the sugar syrup of Betul, 27 thousand quintals of Sugar sugar in the district being sent from Bengal

Betul district to get more than 8 crores from second state

Betul The sweet taste of sugars made from sugarcane crop planted by the farmers of the district will now taste the people of West Bengal. This is the first time in the history of the district that the sugar made in Betul is being sent to West Bengal through train. After selling this sugar, Rs 8 crores will reach West Bengal from Betul district. Usually, people see the materials coming through the train at Betul railway station, but on Thursday, when people saw the sugar loading in the freight train at the railway station warehouse, they were all surprised. Mr. Abhishek Goyal, Director, Shreeji Sugar Mill located in Sohagpur told that Sugarcane Sugar is being made from sugarcane being provided to the mill by the farmers of the district. Due to this quality, demand for Betul sugars in West Bengal is increasing. On Thursday, about 27 thousand quintals of Sugar Mill are being used to send West Bengal through Sugar Mill. Shri Goyal said that for the first time, more than Rs 8 crore in the district will reach the state. Selling the sugar produced in the other districts will increase the revenue of the district and also the economic growth. According to Mr. Goyal, the best price for cane is being provided to farmers by Shriji Sugar Mill in the district and the payment is also being done at the scheduled time. Sugarcane Sugar Sugar is being manufactured by Sugar Mill due to the quality of sugarcane produced by farmers of the district is better than previous years. Efforts are made to further improve this quality, so that sugar can be supplied in other regions too.

Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.