दावोस में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- पिछली बार से छह गुना बढ़ी हमारी जीडीपी

Advertisements

NEWS IN HINDI

दावोस में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- पिछली बार से छह गुना बढ़ी हमारी जीडीपी

दावोस। स्विट्जरलैंड के दावोस में आ‍योजित 48वां वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम वैश्विक स्‍तर पर भारत की मजबूत छवि की मिसाल पेश करने वाला है। इस सालाना सम्‍मेलन के लिए दुनियाभर के कई ताकतवर नेताओं का जमावड़ा जुटा है। मगर इसके सत्र की शुरुआत भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण से हुई।
वह इस वक्‍त दावोस से पूरी दुनिया के वैश्विक नेताओं को संबोधित कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा, पिछली बार 1997 में भारतीय पीएम एचडी देवगौड़ा दावोस आए थे। उस वक्‍त हमारा जीडीपी 400 बिलियन डॉलर से थोड़ा ज्‍यादा था। अब यह इससे छह गुना से भी ज्‍यादा है। वहीं पीएम मोदी ने कहा, 1997 में चिड़िया ट्वीट करती थी, अब मनुष्‍य करते हैं। तब अगर आप अमेजन इंटरनेट पे डालते तो नदियां और जंगल की तस्‍वीर आती। पीएम मोदी ने जोर देते हुए कहा कि तकनीक ने दुनिया को बदला है। उन्‍होंने कहा, ‘अाज डाटा सबसे बड़ी संपदा है। डाटा के वैश्विक संचार से सबसे बड़े अवसर बन रहे हैं और सबसे बड़ी चुनौतियां भी। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे सामने कई महत्वपूर्ण सवाल हैं। उन्‍होंने कहा कि वो कौन सी शक्तियां हैं, जो दुनिया में सामंजस्य की जगह अलगाव चाहतीं है? पीएम मोदी ने जोर देते हुए कहा कि भारत हमेशा से वसुधैव कुटुम्बकम के मंत्र में विश्‍वास करता है, जिसका मतलब होता है कि पूरी दुनिया एक परिवार है और दूरियों को दूर करने के लिए यह अब भी प्रासंगिक है।

पीएम मोदी ने कहा कि मानवता के लिए तीन महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं। इनमें जलवायु परिवर्तन एक बहुत बड़ी चुनौती है। जलवायु परिवर्तन को नियंत्रित करने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है। पीएम मोदी ने कहा कि मानव धरती की संतान है, फिर धरती के साथ ही ऐसा बर्ताव क्यों? संसाधनों को जरूरत के हिसाब से उपयोग करना चाहिए। लालच की पूर्ति के लिए संसाधनों का उपभोग सही नहीं है। महात्‍मा गांधी भी इसके विरोध में थे। हम प्राकृतिक संसाधनों का शोषण कर रहे हैं। हमें अपने आप से यह सवाल पूछने की जरूरत है कि क्‍या हम विकास की तरफ बढ़ रहे हैं या पीछे जा रहे हैं।

आतंकवाद के मुद्दे पर भी पीएम मोदी बोले। उन्‍होंने कहा कि यह एक बड़ा खतरा है और उस वक्‍त और भी ज्‍यादा जब कोई आपको अच्‍छे आतंकवाद और बुरे आतंकवाद की परिभाषा देता है। पीएम मोदी ने एक बार फिर भारत को जोरदार तरीके से दुनिया के सामने रखा। उन्‍होंने कहा, भारत में हम हमारे लोकतंत्र और विविधता पर गर्व करते हैं। विविध धर्मों, संस्‍कृति, भाषाओं, वेशभूषा और खानपान वाले एक समाज के लिए लोकतंत्र सिर्फ एक राजनीतिक प्रणाली नहीं, बल्कि जीवन जीने का एक तरीका है।

2014 के ऐतिहासिक आम चुनाव का भी जिक्र किया। पीएम मोदी ने कहा कि भारत में पहली बार जनता ने 30 साल बाद 2014 में किसी एक पार्टी को पूर्ण बहुमत दिया। हमने सभी के विकास के लिए संकल्‍प लिया ना कि एक विशेष वर्ग के लिए। हमारा मकसद ‘सबका साथ सबका विकास’ है। जीएसटी जैसा बड़ा सुधार हमारी सरकार ने किया, हमारे काम की दुनियाभर मे सराहना हो रही है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि विश्व शांति के लिए भारत हमेशा खड़ा हुआ है। संयुक्त राष्ट्र की शांति सेना में भारत का अहम योगदन रहा है। वह हमेशा दुनिया में शांति के लिए काम करता रहेगा। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे साझा भविष्य के लिए विश्व की बड़ी ताकतों के बीच सहयोग बेहद जरूरी है। उन्‍होंने कहा कि हम मिलकर एक ऐसी दुनिया बनाएं, जहां सामंजस्य एवं सहयोग के लिए काम हो।

 

NEWS IN English

PM Narendra Modi said in Davos: Our GDP grew sixfold from last time

Davos The 48th World Economic Forum, held in Davos, Switzerland, is going to present an example of India’s strong image globally. There is a gathering of many powerful leaders around the world for this annual conference. But its session began with the speech of Indian PM Narendra Modi.
He is currently addressing the global leaders of the whole world with Davos. He said, last time in 1997 Indian PM HD Devgowda had come to Davos. At that time our GDP was slightly more than $ 400 billion. Now it’s more than six times this. At the same time PM Modi said, in 1997, the chicks tweeted, now humans do. Then if you put Amazon on the internet then the photos of the rivers and the forest. PM Modi emphasized that technology has changed the world. He said, ‘Azad data is the biggest asset. The biggest opportunities are being created by the global communication of data and the biggest challenges PM Modi said that there are many important questions in front of us. He said, what are those powers, which wants separation at the place of harmony in the world? PM Modi emphasized that India always believes in the Mantra of Vasudhaiva Kutumbakam, which means that the whole world is a family and it is still relevant to remove the distances.

PM Modi said that there are three important challenges for humanity. Climate change is a major challenge in this. There is a need to work together to control climate change. PM Modi said that human is the child of the earth, then why such behavior with the earth? Resources should be used according to need. Consumption of resources is not right for greed. Mahatma Gandhi was also opposed to it. We are exploiting natural resources. We need to ask ourselves the question of whether we are moving towards development or going back.

PM Modi also spoke on the issue of terrorism. He said that it is a big danger and even more when someone defines you good terrorism and bad terrorism. PM Modi once again put India in front of the world in a mighty way. He said, in India, we are proud of our democracy and diversity. For a society of diverse religions, culture, languages, costumes and catering, democracy is not just a political system but a way of living.

The 2014 general election is also mentioned. PM Modi said that for the first time in India, for the first time in 30 years, the people had given full majority to any one party in 2014. We took the resolution for the development of all, not for a particular class. Our motive is ‘development of everyone with everything’. Our government has done great reform like GST, our work is being appreciated all over the world.

PM Modi further said that India has always stood for world peace. India has been a significant contributor to the UN peacekeeping force. He will always work for peace in the world. PM Modi said that cooperation between the world’s biggest forces is extremely important for our shared future. He said that together we create a world where there is work for reconciliation and cooperation.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.