कोयला व्यापारी के साथ मिलकर पीएनबी अफसरों का 80 करोड़ का घोटाला

Advertisements

NEWS IN HINDI

कोयला व्यापारी के साथ मिलकर पीएनबी अफसरों का 80 करोड़ का घोटाला

भोपाल संवाददाता
भोपाल। उज्जैन के एक कोयला व्यापारी ने पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों के साथ मिलकर करीब 80 करोड़ रुपए का घोटाला किया। सीबीआई ने घोटाले को लेकर भोपाल, इंदौर, उज्जैन और विदिशा सहित देशभर में 47 स्थानों पर छापे मारे। बैंक के अधिकारियों सहित कोयला व्यापारी और उसके रिश्तेदारों-मित्रों के ठिकानों पर सीबीआई की टीम ने कार्रवाई की। लोन स्वीकृति और वितरण के अलावा क्रेडिट लिमिट में भी गड़बड़ी करने की शिकायत सीबीआई को मिली थी। मामला 2011 से 2016 के बीच का है। 47 ठिकानों में बैंक की 4 ब्रांच भी शामिल है। जानकार सूत्रों के मुताबिक उज्जैन के कोयला व्यापारी नरेंद्र प्रजापति ने पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों के साथ मिलकर ऋण लिए थे। प्रजापति ने एक नहीं बल्कि अपने रिश्तेदारों, मित्रों के नाम से कई ऋण लिए। जिन संपत्तियों के आधार पर नरेंद्र प्रजापति ने ऋण लिए उन संपत्तियों की कीमत बढ़ा-चढ़ाकर बताई। इस तरह ऋण लेने के बाद उसने किसी का भी भुगतान नहीं किया। पंजाब नेशनल बैंक ने ऋण की वसूली नहीं होने पर जब उसकी संपत्तियों की नीलामी शुरू की तो असलियत सामने आई। संपत्तियों की कीमत जो बैंक में बताई गई थी, उससे कई गुना कम कीमत बाजार में थी। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक मामले में शुक्रवार सुबह देशभर में एकसाथ कार्रवाई की। इसमें करीब 350 सीबीआई अफसरों की दर्जनों टीमों ने कार्रवाई करते हुए मध्यप्रदेश सहित उत्तरप्रदेश, हरियणा, पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र में 47 ठिकानों पर छापे मारे। मध्यप्रदेश में भोपाल, इंदौर, उज्जैन और विदिशा में छापे मारी की गई। भोपाल में अरेरा कॉलोनी, महाराणा प्रताप नगर, गणेश नगर जैसे स्थानों पर छापे मारे गए। देरशाम तक यह छापे मारी चलती रही।

 

NEWS IN English

PNB officials get 80 crore scam in collaboration with coal dealer

Bhopal correspondent
Bhopal. A Coal dealer from Ujjain, together with officials of Punjab National Bank, scam around Rs 80 crores. The CBI raided 47 locations across the country including Bhopal, Indore, Ujjain and Vidisha on the scam. The CBI team took action against bank officials and its relatives and friends, including bank officials. In addition to loan acceptance and distribution, the CBI got the complaint of disturbing credit limit. The case is between 2011 and 2016. The bank also includes 4 branches of 47 banks. According to knowledgeable sources, Ujjain’s coal dealer Narendra Prajapati had taken loans with the officials of Punjab National Bank. Prajapati has taken a lot of money in the name of his relatives and friends, not one. On the basis of the properties, Narendra Prajapati told the increase in the value of those properties for loans. After taking this loan, he did not pay anyone. When the National Bank of Punjab started the auction of properties in the absence of the loan, the reality came to light. The price of the property, which was told in the bank, was far below the market price. According to CBI sources, in the case on Friday morning, together, action taken together across the country. In this, dozens of teams of about 350 CBI officers took part in raids and conducted raids on 47 bases in Madhya Pradesh, including Uttar Pradesh, Haryana, Punjab, Delhi and Maharashtra. In Madhya Pradesh, raids were conducted in Bhopal, Indore, Ujjain and Vidisha. In Bhopal, raids were carried out in places like Arira Colony, Maharana Pratap Nagar, Ganesh Nagar. This raid continued till late in the year.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.