JLF में प्रसून जोशी को मिल सकती है जेड श्रेणी की सुरक्षा

Advertisements

NEWS IN HINDI

JLF में प्रसून जोशी को मिल सकती है जेड श्रेणी की सुरक्षा

जयपुर। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में आ रहे सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी को जेड श्रेणी की सुरक्षा मिल सकती है। पद्मावत फिल्म मामले में करणी सेना ने प्रसून जोशी को जयपुर में नहीं आने देने की चेतावनी दे रखी है। जयपुर की पुलिस उन्हें मिली धमकी का आकलन करवा रही है। इस आकलन के बाद ही उन्हें दी जाने वाली सुरक्षा का स्तर तय होगा।

करणी सेना ने हाल में चेतावनी दी थी कि प्रसून जोशी को जयपुर नहीं आने दिया जाएगा और वे आ भी गए तो उनका कड़ा विरोध होगा और उन्हें यहां बोलने नहीं दिया जाएगा। प्रसून जोशी को 28 जनवरी को जयपुर आएंगे। यहां जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में वे दो सत्रों में भाग लेंगे।

करणी सेना ने जावेद अख्तर को भी चेतावनी दे रखी है, हालांकि उनका कोई सत्र इस बार नहीं है। जयपुर पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल का कहना है कि हम उन्हें मिली चेतावनी की गम्भीरता का आकलन करवा रहे है। उन्हें हर सम्भव सुरक्षा उपलब्ध कराई जाएगी।

 

NEWS IN English

Prasun Joshi can get Z category security in JLF

Jaipur. Censor Board President Prasun Joshi, who is coming to Jaipur Literature Festival, can get the security of Z category. In the Padmavat film case Karani Senna has warned Prasoon Joshi not to come to Jaipur. The Jaipur Police has been assessing the threat they received. Only after this assessment will they determine the level of security to be given.

Karan Sena had recently warned that Prasun Joshi will not be allowed to come to Jaipur and if he comes, he will be strongly opposed and they will not be allowed to speak here. Prasun Joshi will come to Jaipur on January 28. They will participate in two sessions at the Jaipur Literature Festival here.

The Karan army has also warned Javed Akhtar, although he has no session this time. Jaipur Police Commissioner Sanjay Agarwal says that we are getting the assessment of the seriousness of the warning given to them. They will be provided with every possible security.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.