अवैध सबंधो के कारण की गई थी राजेश की हत्या,आरोपी बैतूल गंज पुलिस की गिरफ्त में

Advertisements

NEWS IN HINDI

अवैध सबंधो के कारण की गई थी राजेश की हत्या,आरोपी बैतूल गंज पुलिस की गिरफ्त में

बैतूल। बैतूल आमला रेलवे लाइन पर मलकापुर रोड़ पर 20 जनवरी को एक युवक की लाश मिली थी। जिसकी सूचना मलकापुर स्टेशन मास्टर शशिकांत डहाके ने गंज थाने में दी थी। कि बरसाली मलकापुर के अप ट्रेक पर एक युवक मृत अवस्था मे मिला है। जिसके शव को सुरक्षित रख दिया गया है। गंज थाना बैतूल ने मर्ग क्रमांक 03/18 धारा 174 के तहत मामला दर्ज कर जांच में लिया था। जांच के दौरान मृतक की शिनाख्त राजेश परते उम्र 19 वर्ष निवासी रतनपुर थाना बैतूल बाजार के रूप में हुई थी। पुलिस ने शव का पंचनामा बनाकर पिस्टमार्टम कराया था। जिसमे मृतक राजेश को चोटें आना पाया गया। जो कि धारदार हथियार की थी। जिसे देखते हुए पुलिस ने 22 जनवरी को अपराध क्रमांक 34/18 धारा 302,201 के तहत प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया। और अज्ञात आरोपी की पतासाजी के लिए पुलिस अधीक्षक डीआर तेनीवर के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक घनश्याम मालवीय के मार्गदर्शन में एसडीओपी उमेश त्रिवेदी के द्वारा गंज थाना प्रभारी संतोष पन्द्रे ,उपनिरीक्षक निकिता विल्शन,मुजफ्फर हुसैन,केएस यादव,बंसीलाल,नरेश रघुवंशी,विकास जैन और अजय वरवड़े की टीम गठित की। तब पुलिस ने अपनी जांच शुरू की। जिसमे सामने आया प्रकरण मृतक राजेश परते ग्राम भिलावाड़ी में संतोष सरयाम के घर खेती का काम करता था। इस दौरान संतोष शराब एक्ट के तहत जेल गया था। संतोष जब जेल से वापस आया तो उसे गांव वालों से पता चला। कि उसकी पत्नी श्यामरती बाई के राजेश से अवैध सबन्ध है। इस बात से नाराज संतोष ने राजेश को अपने घर से भगा दिया था। बावजूद इसके राजेश संतोष के घर आता जाता था। फिर राजेश का सन्तोष के साथ मजदूरी लेने को लेकर झगड़ा भी हुआ था। और राजेश ने संतोष को मारा भी तभी से संतोष राजेश से रंजिश रखता था।

मृतक राजेश शराब के नशे में गया था संतोष के घर
19 जनवरी को मृतक राजेश अपने दोस्त मनोज अहाँके,और बाबूराव इवने के साथ शराब पीकर मोटरसाइकिल से भिलावाड़ी संतोष के घर शाम 7 बजे गया। और सन्तोष के घर घुस गया। सन्तोष जे नौकर चिया से बातचीत की इसके बाद वापस जाते समय राजेश और उसके दोनों दोस्त मोटरसाइकिल से संतोष के घर के सामने ही गिर गए। तब राजेश ने अपने दोस्तों को मोटरसाइकिल लेकर अपने गांव रतनपुर भेज दिया। और स्वम् वन्ही रुक गया। तभी संतोष को कुछ लगा और उसने देखा कि राजेश नशे में है। और रात में अकेला पैदल जा रहा है। तन उसने कुल्हाड़ी लेकर राजेश का पीछा किया। जब राजेश मलकापुर के पास पंहुचा। तब संतोष ने राजेश से कहा कि चल तुझे घर पंहुचा देता हूँ। बोलकर राजेश को रेलवे लाइन पर ले गया। और राजेश जे सिर पर कुल्हाड़ी से वार कर दिया। और अपना अपराध छुपाने के लिए राजेश को रेलवे लाइन पर डालकर कुल्हाड़ी लेकर अपने घर चला गया। इस पूरे मामले में पुलिस की बारीकी से जांच करने पर ही अपराधी संतोष सरयाम तक पंहुच पाई थी। पुलिस ने आरोपी को 23 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया। जंहा आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया था।

 

NEWS IN English

Rajesh’s murder, arrest of accused policeman

Gajendra Soni
Betul A youth was found dead on 20th January at Malkapur road on Betul Amla Railway Line. Whose information was given by the Malkapur station master Shashikant Dahake at Ganj police station. A youth was found dead on the up trek of Barasali Malkapur. Whose dead body has been kept safe. Ganj Thana Betul filed a case under the Magarg numbers 03/18 Section 174 and investigated it. During the investigation, Rajesh Parvesh, identified as the deceased, was in the form of Betul Bazar in Ratanpur Thana, a resident of 19 years of age. The police had made a pastearmam with the cremation of the dead body. In which the deceased Rajesh was found to be injured. That was the sharp weapon. In view of that, the police took the matter under the offense under section No 34/18 Section 302,201 on 22 January. Under the guidance of Additional Superintendent of Police Ghanshyam Malviya in the direction of the Additional Superintendent of Police, Dr Tanveer, for the information of unknown accused, in the direction of Additional Superintendent of Police, Umesh Trivedi, Ganj police station in-charge Santosh Pandit, sub-inspector Nikita Wilson, Muzaffar Hussein, KS Yadav, Bansilal, Naresh Raghuvanshi, Vikas Jain And Ajay Varvade’s team formed. Then the police started their investigation. In the case of the case, the deceased Rajesh Parteet used to work farming in the house of Santosh Siram in village Bhilawadi. During this Santosh was jailed under the liquor act. When Santosh returned from the jail, he came to know the villagers. That his wife Shyamarti Bai has an illegal connection to Rajesh. Angered Santosh had driven Rajesh away from his house. Regardless of it, Rajesh went to Santosh’s house. Then there was a quarrel over Rajesh’s satisfaction with taking wages. And when Rajesh killed Santosh, Santosh kept away from Rajesh.

The deceased Rajesh was drunk in the house of Santosh
On January 19, the deceased Rajesh drunk alcohol with his friend Manoj Ahanke and Baburao Iwane went to the house of Bhilawadi Santosh at 7 in the motorcycle. And the house of satisfaction has entered After going back to Santosh J. servant Chia, Rajesh and his two friends fell down in front of Santosh’s house with a motorcycle. Then Rajesh sent his friends with a motorcycle to his village Ratanpur. And the self stopped all. Then he felt some satisfaction and saw that Rajesh was intoxicated. And going alone in the night is going on. Tan, he pursued Rajesh with ax. When Rajesh reached Malakpur Then Santosh told Rajesh, let’s move to your house. Rajesh took the railway to the railway line. And Rajesh ji hit the head with an ax. And to hide his crime, Rajesh put him on the railway line and took his ax and went home. In this entire case, only after the police was closely examined, the culprit reached Santosh Siraj. The police arrested the accused on 23 January. The accused had admitted his crime.

Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.