भगवा पर हुए अपमान को राष्ट्रीय हिन्दू सेना नहीं सहेगा, डिंपल यादव पर मामला दर्ज करने सौंपा ज्ञापन

Advertisements

राष्ट्रीय हिन्दू सेना बैतूल भगवा पर हुए अपमान को राष्ट्रीय हिन्दू सेना नहीं सहेगा

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की धर्मपत्नी पर हों मामला दर्ज

डिंपल यादव पर मामला दर्ज करवाने पहुंचे राष्ट्रीय हिन्दू सेना के पदाधिकारी कोतवाली थाना बैतूल


बैतूल। जिला युवा सेना प्रमुख अनुज राठौर ने बताया कि राष्ट्रीय हिन्दू सेना द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम से भगवा रंग के विरूद्ध आपत्तिजनक बयान देने पर डिम्पल यादव के विरूद्ध एफआईआर करने मांग को लेकर पुलिस अधीक्षक बैतूल के नाम कोतवाली पहुंचकर ज्ञापन सौंपा है।

मध्य भारत प्रान्त प्रवक्ता अखिलेश वाघमारे ने बताया कि डिम्पल यादव जो एक राजनेत्री हैं,कन्नौज से दो बार सांसद रह चुकी, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमन्त्री अखिलेश यादव की धर्मपत्नी डिम्पल यादव ने चुनाव प्रचार के दौरान एक जनसभा में माईक पर चिल्ला चिल्ला कर भगवे का अपमान किया मंच से डिंपल यादव ने कहा कि भगवा रंग लोहे के ज़ख जैसा है।
मध्यभारत प्रांत अध्यक्ष पवन मालवीय ने बताया कि श्रीमती डिम्पल यादव एक पढी-लिखी महिला हैं उन्होने वक्तत्व सोच समझ कर दिया गया है। यह बयान घोर आपत्तिजन और इरादतन था।

तहसील संयोजक अरविंद मालवीय एवं तहसील अध्यक्ष सरद सोनी ने कहा कि डिम्पल यादव के इस बयान से हिन्दू समाज को ठेस पहुंची है क्योंकि भगवा रंग हिन्दू आस्था का प्रतीक है। हिन्दू धर्म में सकल संत समाज भगवा रंग धारण करता है इस हेतु यह संतों का भी अपमान है।
जिला युवा सेना उपाध्यक्ष अजय खवादे ने कहा कि डिम्पल यादव के बयान से हिन्दू समाज अपमानित हुआ है और आक्रोशित है ओर हमने ज्ञापन में मांग की गई है कि भगवा के विरूद्ध ऐसे अपशब्द इस्तमाल करने वाली डिम्पल यादव के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की जाए।

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष दीपक मालवीय, युवा सेना जिला अध्यक्ष अनुज राठौर, युवा सेना जिला उपाध्यक्ष अजय खवादे, तहसील अध्यक्ष सरद सोनी, तहसील संयोजक अरविंद मालवीय, प्रखंड अध्यक्ष स्वप्निल छोटू, प्रखंड अध्यक्ष लोकेश रावत,आकाश आहाके, सरगम चडोकार, कमलेश चंदेलकर,आयूष बोडखी, रोहित लोखंडे,आदि पदाधिकारी उपस्थित थे।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.