कोनराड संगमा बने मेघालय के मुख्यमंत्री, शपथ ग्रहण में शाह-राजनाथ रहे मौजूद

Advertisements

NEWS IN HINDI

कोनराड संगमा बने मेघालय के मुख्यमंत्री, शपथ ग्रहण में शाह-राजनाथ रहे मौजूद

शिलांग। पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में आए चुनावी नतीजों के बाद अब सरकार बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. मंगलवार को कोनराड संगमा ने मेघालय के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. गौरतलब है कि एनपीपी की अगुवाई में बन रही सरकार में बीजेपी भी हिस्सेदार है. इस दौरान शपथ ग्रहण कार्यक्रम में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे. कोनराड के साथ करीब जेम्स पीके संगमा, ए एल हेक (बीजेपी) समेत कुल 11 विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली.

ऐसी है विधानसभा की स्थिति
3 मार्च को आए नतीजों में 60 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के खाते में 21 , एनपीपी के खाते में 19 और बीजेपी के खाते में दो सीटें आई थीं. वहीं, यूनाईटेड डेमोक्रेटिक पार्टी के छह विधायक और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के दो विधायक चुने गए थे. एनसीपी और खुन हनीट्रैप नेशनल अवेकिंग मूवमेंट के खाते में एक-एक सीट आई है. इसके अलावा तीन निर्दलीय विधायक भी चुनाव जीते हैं.

पिछड़ गई कांग्रेस
मेघालय में कांग्रेस को सबसे ज्यादा 21 सीटें मिली हैं, लेकिन वह 60 सदस्यों वाली विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए जरूरी आंकड़े जुटाने से 10 सीट पीछे रह गई. कांग्रेस की ओर से पार्टी के बड़े नेता अहमद पटेल, कमलनाथ समेत चार नेता वहां पर सरकार बनाने की संभावना तलाशने गए थे, लेकिन सफल नहीं हो सके.

और बन गई बीजेपी सरकार!
वहीं, दूसरे नंबर पर रही नेशनल पीपल्स पार्टी (एनपीपी) के पास 19 विधायक हैं. बीजेपी (2 विधायक), यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (6 विधायक), एचएसपीडीपी (2 विधायक), पीडीएफ (4 विधायक) और 1 निर्दलीय विधायक के साथ आने से इस गठबंधन के पास 34 विधायकों का समर्थन हो गया है.

मेघालय में मजबूत नेता के रूप में सामने आए कोनराड संगमा राज्य में आठवीं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रहे हैं. उन्होंने नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के विधायक के रूप में सदन में विपक्ष का नेतृत्व किया. 27 जनवरी 1978 को जन्मे कोनराड संगमा वेस्ट गारो हिल्स जिले के सेलसेल्ला निर्वाचन क्षेत्र का विधानसभा में प्रतिनिधित्व किया. इससे पहले कोनराड संगमा 2008 में मेघालय के सबसे युवा वित्त मंत्री बने थे और अभी वह मेघालय की तुरा सीट से लोकसभा सदस्य हैं.

सियासी करियर की शुरुआत
अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद कोनराड संगमा 1990 दशक के अंतिम दिनों में पिता पीए संगमा के प्रचार प्रबंधक के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की. उस समय पीए संगमा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) में थे. बता दें कि राकांपा से विवाद के बाद अलग होकर पीए संगमा ने जुलाई 2012 में नेशनल पीपुल्स पार्टी का गठन किया था. मेघालय विधानसभा में 2009-2013 तक कोनराड संगमा विपक्ष के नेता रहे. वह अभी तुरा सीट से लोकसभा सांसद हैं, जो उनके पिता पीए संगमा के निधन के बाद खाली हुई थी.

‘धोखे से सरकार बना रही बीजेपी’
मेघालय में बन रही बीजेपी सरकार को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी बीजेपी पर निशाना साधा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि मेघालय में बीजेपी धोखे से सत्ता आ रही है. उन्होंने कहा है कि इसी तरह से बीजेपी गोवा और मणिपुर में भी सत्ता में आई थी. राज्य के विधानसभा चुनावों में केवल दो सीटें पाने वाली बीजेपी सरकार में शामिल होने जा रही है. कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट किया, ‘सिर्फ 2 सीटों के साथ ही बीजेपी मेघालय में अपनी सरकार बनाने में कामयाब रही. मणिपुर और गोवा की तरह, मेघालय में भी जनादेश का अपमान हुआ. सत्ता के लालच में बीजेपी बड़े पैमाने पर पैसों का इस्तेमाल करके एक अवसरवादी गठबंधन बनाने में कामयाब रही है.’

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Conrad Sangma becomes the Chief Minister of Meghalaya; Shah-Rajnath is present in the swearing-in

Shillong After the election results in three states of the northeast, the process of forming a government has now begun. On Tuesday, Konrad Sangma took oath as the Chief Minister of Meghalaya. Significantly, BJP is also a partner in the government led by NPP. During this, many big leaders including Home Minister Rajnath Singh and BJP President Amit Shah were present during the swearing-in program. A total of 11 MLAs, including James PK Sangma, AL Haque (BJP), along with Konrad also took the oath of office.

Such is the state of assembly
In the result of the March 3 results, in the 60-member assembly, 21 seats in the Congress account, 19 in the NPP account and two in the BJP’s account came. At the same time, six legislators from the United Democratic Party and two legislators of the People’s Democratic Party were elected. NCP and Khoon Hanitrap National Awake Movement have got one seat each. Apart from this, three independents also won the elections.

Backward Congress
The Congress has got 21 seats in Meghalaya, but it remains behind 10 seats after raising the required number to prove the majority in the 60-member assembly. On behalf of the Congress, four leaders, including Ahmed Patel, Kamal Nath, went to explore the possibility of forming a government there, but could not succeed.

And the BJP government became!
At the same time, the National People’s Party (NPP), having the second number, has 19 MLAs. With the joining of BJP (2 MLAs), United Democratic Party (6 MLAs), HSPDP (2 MLAs), PDF (4 MLAs) and 1 independents, this coalition has got support from 34 MLAs.

Konrad Sangma, who emerged as a strong leader in Meghalaya, has been the Leader of the Opposition in the eighth Assembly in the state. He led the opposition in the House as a legislator of the National People’s Party (NPP). Born on January 27, 1978, Konrad Sangma represented the Sealsassa constituency of West Garo Hills District in the Assembly. Earlier, Conrad Sangma had become the youngest finance minister of Meghalaya in 2008 and is currently a Lok Sabha member from Tura seat of Meghalaya.

Beginning of political career
After completing his studies, Konrad Sangma started his career as a promoter of father PA Sangma in the late 1990s. At that time PA Sangma was in the Nationalist Congress Party (NCP). Let us tell that after separation from the NCP, PA Sangma formed the National People’s Party in July 2012. In the Meghalaya Legislative Assembly from 2009-2013 Konrad Sangma became the leader of opposition He is a Lok Sabha MP from Tura seat, who had vacated after the demise of his father PA Sangma.

BJP forming ‘betrayer’
Congress president Rahul Gandhi has also targeted BJP on the BJP government in Meghalaya. Congress President Rahul Gandhi has said that BJP is coming out of power in Meghalaya. He said that in the same way BJP came to power in Goa and Manipur too. The BJP, which gets only two seats in the state assembly elections, is going to join the government. The Congress President tweeted, “With just two seats, BJP has managed to form its government in Meghalaya. Like Manipur and Goa, the mandate of Meghalaya has been insulted. In the greed of power, BJP has managed to create an opportunistic alliance by using large amounts of money.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.