सारनी : दानपात्र की आड़ में गौ तस्करी करते बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गौवंश से भरा पिकअप वाहन पकड़ा

Advertisements

NEWS IN HINDI

सारनी : दानपात्र की आड़ में गौ तस्करी करते बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गौवंश से भरा पिकअप वाहन पकड़ा

दीपेश दुबे
बैतूल/सारनी। दानपात्र की आड़ में गौ तस्करी करते बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने सारनी बैरियर के पास एक सफेद रंग की गाय से भरी पिकअप पकड़ा। जिस में दो व्यक्तियों द्वारा गौवंश भर कर ले जा रहे थे। वही सोमवार शाम 7 बजे बाकुड ग्राम से मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई। कि दानपात्र की आड़ में गौ तस्करी हो रही है गांव के कई लोगों की मिलीभगत से गौ तस्करी की जा रही है। सूचना नाम ना बताने की शर्त पर बाकुड ग्राम के एक व्यक्ति ने सारणी के युवक संजय झिंझोरे को बताया कि सफेद कलर की पिकअप जिसमें गौ तस्करी की जा रही है। दानपात्र की आड़ लेकर संजय ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इसकी जानकारी बाबा मठारदेव मित्र मंडल के शशांक चतुर्वेदी तथा बजरंग दल के प्रखंड संयोजक सुनील भारद्वाज,राकेश सोनी,विजय पडलक एवं अन्य सदस्यों को दी सूचना के आधार पर गाड़ी को स्टेट बैंक कॉलोनी महाजन पान सेंटर के पास रोका गया। किंतु ड्राइवर रोकने का इशारा देख वाहन और तेजी से चलाने लगा। युवाओं ने बड़ी मशक्कत से वाहन को मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग सारनी के बेरियल के पास रुकवाया गया और देखा। कि गाड़ी में दोनों ही तरफ नंबर नहीं लिखे हुए थे। एवं चार पहिया वाहन चार में मवेशी बंधे हुए थे। सदस्यों ने ड्राइवर से पूछा कहां ले जा रहे हो। जिस पर ड्राइवर द्वारा अलग-अलग जवाब दिया जा रहा था। जिस पर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को शक हो गया। मुख्य रोड पर पिकअप में गायों को देख आने जाने वाले लोग रुकने लगे रोड पर जाम की स्थिति ना बन जाए। यह सोच कार्यकर्ताओं ने पिकअप वाहन को स्टेट बैंक कॉलोनी रोड पर लाया। एवं दोबारा ड्राइवर से पूछताछ की। लेकिन संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर उन्होंने इसकी जानकारी सारनी पुलिस थाने में दी। मौके पर तत्काल सारणी थाने से हेडकांस्टेबल दिनेश झरबड़े पहुंचे। तथा रमलू,रामलाल ,फागुलाल,अजनु दो व्यक्ति निवासी बाकुड अन्य दो बिछुआ ग्राम के बताए गए चारों को थाने ले जाकर एएसआई फतेह बहादुर सिंह,दिनेश झरबड़े द्वारा पूछताछ की गई। जिसमें भी वह अलग-अलग जवाब देने लगे बाकुड ग्राम से दानपात्र पर गाय लेकर जा रहे हैं। और कभी बोलते हैं खरीदी है। आरोपियों से गाय परिवहन के कागज पूछे गए जो उनके पास नहीं थे। और ना ही सरपंच का लिखा हुआ कोई लेटर था। चारों व्यक्ति अलग-अलग जवाब देने लगे एवं पूछताछ में पाया गया कि चालक के पास पिकअप वाहन के एक भी कागजात नहीं थे। और ना ही आगे पीछे नंबर प्लेट थी। आरोपी द्वारा वाहन रामपुर का बताया गया। वाहन पकड़े जाने की जानकारी लगते ही बाकुड ग्राम के सरपंच भी थाने आये। सरपंच ने बताया कि मुझे कोई जानकारी नहीं है। कि यह दानपात्र पर ले जा रहे हैं या खरीद कर। सरपंच के साथ एक व्यक्ति आए थे। जो बोल रहे थे। मेरी गाय है मैंने दानपात्र पर दी है। कुछ समय बाद बोलते हैं कि बेची है। उनके द्वारा भी संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया। जिस पर सारणी पुलिस ने तत्काल कार्यवाही की एएसआई फतेह बहादुर सिंह,दिनेश झरबड़े ने बताया की रात्रि 12बजे गायों को घोड़ाडोंगरी के गोपाल गौशाला पहुंचाया गया है। गायों की संख्या तीन और एक नंदी है। आरोपी रमलू,रामलाल,फागुलाल,अजनु चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर चारों के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्यवाही कर मंगलवार न्यायालय भेजा जाएगा। पिकअप वाहन जप्त कर लिया गया है। पूर्ण जांच कर वाहन पर राजसात कि कार्यवाही की जाएगी।

इनका कहना है।
मवेशियों को एक गांव से दूसरे गांव या शहर की ओर दानपात्र या खरीद कर ले जाने के लिए सरपंच का लेटर एवं मुहर लगती है। किंतु इनके पास कुछ नहीं था। और चारों व्यक्ति जवाब अलग-अलग दे रहे थे। जिस पर हम सभी कार्यकर्ताओं को शक हो गया। दानपात्र कि आड़ में गौ तस्करी होने लगी है। जिसका बजरंग दल खुलकर विरोध कर ऐसे लोगों पर शिकंजा कसेगा। एवं पिकअप वाहन को राजसात करने की मांग की गई है।
सुनील भारद्वाज प्रखंड संयोजक बजरंग दल सारनी

जब हमने वाहन चालक तथा उसके साथियों से पूछताछ की तो चारों अलग-अलग जवाब देने लगे बाकुड ग्राम से दानपात्र पर गाय लेकर जा रहे हैं। और कभी बोलते हैं खरीदी है। आरोपियों से गाय परिवहन के कागज पूछे गए जो उनके पास गाय परिवहन के कागज नहीं थे। और ना ही सरपंच का लिखा हुआ कोई लेटर था। चारों व्यक्ति अलग-अलग जवाब देने लगे एवं पूछताछ में पाया गया कि चालक के पास पिकअप वाहन के एक भी कागजात नहीं थे। और ना ही आगे पीछे नंबर प्लेट थी। आरोपी द्वारा वाहन रामपुर का बताया गया। सरपंच ने बताया कि मुझे कोई जानकारी नहीं है। कि यह दानपात्र पर ले जा रहे हैं या खरीद कर। उनके द्वारा भी संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया। जिसके बाद आरोपी रमलू,रामलाल,फागुलाल,अजनु चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर चारों के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्यवाही कर मंगलवार न्यायालय भेजा जाएगा।
फतेह बहादुर सिंह एएसआई थाना सारनी

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Sarni: Bajrang Dal activists caught a cow-filled pickup vehicle while smuggling cattle under the guise of donation

Deepesh dube
Betul / Sarani Bajrang Dal activists smuggled the cow in the garb of a donation grabbed a picky cow full of a white cow near Sarni Barrier. In which two people were carrying the cowown. On Monday evening, at 7.00 pm, the informant received information from Bakud village. Groo smuggling is being done under the guise of charitable donation, with the collusion of many people of the village being gangraped. On the condition of not disclosing the information name, a person from Bakud village told Sanjay’s youth Sanjay Zinjor that the white color pickup in which the cow is being smuggled. Taking advantage of the donation, Sanjay took the matter seriously and informed the information given by Baba Mataradeva Mitra Mandal’s Shashank Chaturvedi and Bajrang Dal’s block coordinator Sunil Bhardwaj, Rakesh Soni, Vijay Padalkar and other members on the basis of the donation, the car was transferred to State Bank Colony Mahajan Stopped near Pan Center But the driver stopped to see the signal to stop the driver. The youth, with great difficulty, got the vehicle stopped near the Bariel of Madhya Pradesh Power Generating Sarni and saw the vehicle. That number was not written on both sides of the car. The four-wheeled vehicle was tied in four. The members asked where the driver was taking. On which the driver was responding differently. On which Bajrang Dal activists were suspicious. People who came to see the cows in the pickup on the main road would not stop the road going on the road. Thinking this, the workers brought the pickup vehicle to the State Bank Colony Road. And again the driver inquired. But after getting satisfactory reply, they gave it information to Sarni police station. On the spot, the commanding station reached Dinesh Jharkhand with immediate table. And four persons, told from Ramlal, Phagulal, Ajnu two persons resident Bakud and two other small villages, were questioned by ASI Fateh Bahadur Singh, Dinesh Zarna, after taking them to the police station. In which he started answering different types of cow from the village of Bakud. And never speak, bought it. The accused were asked to transport cow transport which they did not have. Nor was there a letter written by a sarpanch. Four people began to respond differently and the inquiry found that the driver did not have a single pic of the pickup vehicle. Nor was the back plate plate behind. The vehicle was informed by the accused Rampur. As soon as information about the vehicle was caught, Sarpanch of Bakud village also came to the police station. Sarpanch said that I have no information. That they are taking it on donation or by purchasing. A man came along with the sarpanch. Who were speaking. My cow is on donation. After some time have spoken that sold. They were not given a satisfactory answer too. The police on which the immediate action was taken by the ASI Fateh Bahadur Singh, Dinesh Zarna, told that the cows have been transported to Gopal Gausha of Ghoradongri at 12 o’clock in the night. The number of cows is three and one is Nandi. The accused, Ramlal, Ramlal, Phagulal, Ajunu, and four accused will be arrested and proceeded against the four under the Animal Cruelty Act, and will be sent to the court on Tuesday. The pickup vehicle has been seized. Action will be done on the vehicle after thorough investigation.

They have to say
A letter and a seal of the sarpanch is taken from a village to another village or city towards a donation or purchase. But they did not have anything. And the four people were giving the answers differently. On which we all got suspicious of the workers. Due to the donation, cow trafficking has started. Whose Bajrang Dal will openly oppose such people. And there has been a demand to regulate the pick-up vehicle.
Sunil Bhardwaj Block Coordinator Bajrang Dal Sarni

When we interrogated the driver and his associates, they started taking four different answers from Bakud village to donate cow on donation. And never speak, bought it. The accused were asked to transport cow transport cards which they did not have the COW transport papers. Nor was there a letter written by a sarpanch. Four people began to respond differently and the inquiry found that the driver did not have any papers of pickup vehicles. Nor was the back plate plate behind. The vehicle was informed by the accused Rampur. Sarpanch said that I have no information. That they are taking it on donation or by purchasing. They were not given a satisfactory answer too. After which the accused Ramlul, Ramlal, Phagulal, Ajunu, all four accused will be arrested and proceeded against the four under the Animal Cruelty Act and sent to the court on Tuesday.
Fateh Bahadur Singh ASI Thana Sarni

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.