सारनी : भाजपा के निर्वाचित पार्षदों ने छह सूत्रीय मांगों का ज्ञापन प्रभारी सीएमओ कमल किशोर भावसार को सौंपकर मामले का निराकरण करने की मांग की

Advertisements

NEWS IN HINDI

सारनी : भाजपा के निर्वाचित पार्षदों ने छह सूत्रीय मांगों का ज्ञापन प्रभारी सीएमओ कमल किशोर भावसार को सौंपकर मामले का निराकरण करने की मांग की

ब्रजकिशोर भारद्वाज
बैतूल/सारनी। भारतीय जनता पार्टी के निर्वाचित पार्षदों का लगातार नगर पालिका परिषद सारणी में अपमान होने की वजह को देखते हुए 27 फरवरी को भाजपा के पार्षदों ने छह सूत्रीय मांगों का ज्ञापन प्रभारी सीएमओ कमल किशोर भावसार को सौंपकर मामले का निराकरण करने की मांग की है। भारतीय जनता पार्टी के पार्षद एवं नपा के उपाध्यक्ष भीम बहादुर थापा जी बताया कि कुछ अखबारों में नगर पालिका परिषद सारणी को 48 करोड़ की राशि स्वीकृत होने संबंधी समाचार प्रकाशित हुए थे। इसकी डीपीआर भी तैयार होना बताया जा रहा है। उन्होंने बताया कि डीपीआर नगर पालिका परिषद सारणी ने किस मद से आवंटित किया है इसकी जानकारी भाजपा के पार्षदों को दी जानी चाहिए। भाजपा के पार्षदों ने बताया कि नगर पालिका क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले 36 वार्डों में वैवाहिक कार्यक्रम के उपरांत कचरा साफ सफाई करने के एवज में घर मालिक से 1000 लिया जाना उप समिति के माध्यम से तय किया गया था, जो कि न्याय संगत नहीं है। भारतीय जनता पार्टी के पार्षद इसके पक्ष में नहीं है। उन्होंने विवाह कार्यक्रम आयोजक परिवारों से 1000 की राशि न लिए जाने की मांग की है। भारतीय जनता पार्टी के पार्षदों ने बताया कि नगर पालिका परिषद सारणी में उप समिति का गठन बिना पार्षदों की अनुमति से किया गया है, जो न्याय संगत नहीं है ऐसी स्थिति को देखते हुए समिति को तत्काल प्रभाव के साथ भंग किया जाना चाहिए। पार्षदों ने बताया कि नगर पालिका परिषद सारणी के नई परिषद गठन होने के उपरांत 7 माह का लंबा समय बीतने के बाद भी पार्षदों की पार्षद निधि कार्यों में किसी भी प्रकार का कोई काम आजतक नहीं किया है, जिसकी वजह से सत्ता पक्ष के पार्षदों में आक्रोश का माहौल है। पार्षदों ने बताया कि व्ही नियमितीकरण के अंतर्गत 2007 के बाद नियमितीकरण से बाकी कर्मचारियों को परिषद से 2016 तक बाकी कर्मचारियों को भी नियमित किया जाना चाहिए। इसके अलावा पार्षदों ने कई बार मुख्य नगरपालिका अधिकारी और नपा अध्यक्ष से मांग की थी कि वार्डो में जब भी साफ-सफाई हो, इसकी सूचना पार्षदों को की जाए, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है और ना ही पार्षदों के कहे अनुसार वार्ड में टैंकर और स्टेट लाइट की मरम्मत भी नहीं की जा रही है। इसकी वजह से पार्षदों में नई परिषद के प्रति आक्रोश लगातार बढता जा रहा है। बैठक में नागेंध निगम, सोनू माला धुर्वे ,संदीप झपाटे, सुनंदा नंदू पाटिल, संजय अग्रवाल, सपना गणेश मस्की बंडू मकोडे ,अनिल वराठे, रूप लाल बेलवंशी सहित बडी संख्या में पार्षद मौजूद थे।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Sarni: BJP’s elected councilors demanded to resolve the issue by handing over the memorandum of six-point demands to CMO Kamal Kishore Bhavsar.

Brajkishor bharadwaj
Betul / Sarani Given the reasons for the insult of the elected councilors of the Jatiya Party continuously, on 27th February, the BJP’s councilors have demanded to resolve the matter by handing over the memorandum of six point demands to CMO Kamal Kishore Bhavsar. Bhim Bahadur Thapa, vice-president, Bharatiya Janata Party’s councilor and Napa said that in some newspapers, the news of the sanctioning of 48 crore rupees to the Municipality Council was published. Its DPR is also being prepared to be ready. He told that the DPR Municipality Council has allotted the matter to the council, the information should be given to the BJP’s councilors. The BJP’s councilors said that in the 36 wards under the municipal area, for the cleaning of the garbage after the marriage program, 1000 rupees from the home owner were decided through the sub-committee, which is not justified. Bharatiya Janata Party’s councilor is not in favor of it. He has demanded not to take any amount of 1000 rupees from the organizers of the marriage program organizer’s family. The councilors of Bharatiya Janata Party told that the sub-committee in the Municipality Council Table has been constituted without the permission of the councilors, in view of such situation, the committee should be dissolved with immediate effect. The councilors said that after the new council formed the new Council of the Municipality Council, even after a long time of 7 months, the Councilors’ council has not done any work of any kind in the fund work, due to which the anger in the councilors Is the atmosphere. Councilors said that under the regularization of V. Regularization, after 2007, the rest of the employees should be regularized from council to 2016 by 2016. Apart from this, councilors have repeatedly demanded the Chief Municipal Officer and the Napa President that whenever the wardo is cleaned, it should be reported to the councilors, but this is not happening nor as the councilors say tankers in the ward and State Light is not being repaired. Because of this, resentment towards council of councilors is increasing in the councilors. A large number of councilors were present in the meeting including Nagendra corporation, Sonu Mala Dhavai, Sandeep Jhattate, Sunanda Nandu Patil, Sanjay Aggarwal, Sapna Ganesh Masaki Bandu Makode, Anil Varathe, Roop Lal Belvanshi and others.

 

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.