सारनी को मिलेगा तहसील का दर्जा,सारनी के व्यापारी मिले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से

Advertisements

NEWS IN HINDI

सारनी को मिलेगा तहसील का दर्जा,सारनी के व्यापारी मिले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से

प्रमोद गुप्ता
बैतूल/सारनी। नगर पालिका क्षेत्र सारनी के अंतर्गत आने वाले दो उद्योगिक क्षेत्र दिन-प्रतिदिन उजड़ते जा रहे हैं। ऐसी स्थिति में क्षेत्र के व्यापारी व्यापार और क्षेत्र को सुरक्षित रखने के उद्देश्य मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात करके पाथाखेड़ा क्षेत्र में भूमिगत कोयले की खदान और सारनी में सतपुड़ा ताप विद्युत गृह की नई इकाइयां खुलवाने की मांग की है। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता दशरथ सिंह जाट ने बताया कि मुख्यमंत्री से मुलाकात करने के बाद उन्होंने सारनी को तहसील का दर्जा देकर तत्काल प्रभाव के साथ तहसील खोले जाने के आदेश दिए साथ ही क्षेत्र में जल्द ही नई इकाई की सौगात मिलेगी।

जनप्रतिनिधियों में रुझान नहीं
बगडोना के व्यापारियों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बताया कि लंबे समय से नगर पालिका क्षेत्र सारनी में रोजगार के लिए कोई भी वैकल्पिक विकल्प नहीं किया गया है। 1 नवंबर सन 1956 को मध्यप्रदेश की स्थापना हुई थी लेकिन बीते कुछ सालों में सारनी-पाथाखेड़ा क्षेत्र में उद्योग स्थापित किए जाएंगे। लेकिन उद्योग स्थापित नहीं हो पाए जिसकी वजह से व्यापारियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। व्यापारियों ने बताया कि बगडोना बड़े शहरों से कम नहीं लगता। लेकिन व्यापार ना के बराबर है ऐसी स्थिति में व्यापारी अपनी दुकानों और मकानों को बेचने के लिए निकल चुके हैं। उसके बाद भी कोई खरीदार नहीं मिल पा रहा है।

उजड़ते क्षेत्र और घटते व्यापार से चिंतित है व्यापारी
नगर पालिका क्षेत्र सारनी के अंतर्गत बगडोना,शोभापुर,पाथाखेड़ा और सारनी आता है। इन क्षेत्रों में दो बड़ी औद्योगिक संस्था है। लेकिन यह दोनों औद्योगिक संस्था की क्षमता लगातार कम होती जा रही है। ऐसी स्थिति में क्षेत्र के व्यापारी व्यापार को लेकर खासे चिंतित हैं। मिथिलेश सिंह रघुवंशी ने बताया कि मुख्यमंत्री के समक्ष मांग रखी गई है। कि क्षेत्र में जल्द नई इकाई की सौगात दी जाए। इसके अलावा पाथाखेड़ा क्षेत्र में तीन भूमिगत खदान खोली जा सकती है। जिसकी प्रक्रिया लगभग 10 वर्षों से जारी है। यदि प्रशासन और सरकार चाहे तो यह खदाने जल्द खुल सकती है। मुख्यमंत्री से मुलाकात करने वालों में प्रमोद दरबाई,मिथिलेश सिंह रघुवंशी,भूपेश सावले,अमित मालवी,रमेश हरोडे,जोगेंद्र सिंह, देवेन्द्र सोनी,बबलू सोनी,कमलेश ठाकरे,राजू आय सहित अन्य व्यापारी शामिल थे।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Sarni will get tahsil status, Sarni merchants meet Chief Minister Shivraj Singh Chauhan

Pramod Gupta
Betul / Sarani Two industrial areas under the Municipality area, Sarni, are languishing day by day. In such a situation, the purpose of safeguarding the merchant trade and area of ​​the area on Tuesday, with Chief Minister Mr. Shivraj Singh Chauhan, demanded to open new units of Satpura thermal power plant in Satkhua thermal power plant in Sathani and underground coal in Patkhheda area. Senior leader of Bharatiya Janata Party Dasharath Singh Jat told that after meeting the Chief Minister, he gave the status of tahsil to Sarni and ordered to open the tehsil with immediate effect, as soon as possible in the area the new unit will be available.

No Trends in People’s Representatives
The traders of Bagdona told Chief Minister Shivraj Singh Chauhan that for long, no alternative option has been made for employment in the Nagarpalika area Sarni. Madhya Pradesh was established on November 1, 1956, but in the last few years industry will be set up in the Sarni-Pathkheda area. But the industry could not be established, due to which traders are facing a lot of trouble. Merchants said that Bagdona does not seem to be less than big cities. But the trade is no. In such a situation, the traders have come out to sell their shops and houses. Even then, no buyer can get it.

Businessman worried about falling business and dwindling trade
Nagarpalika area under Sarni comes Baggona, Shobapur, Patkheda and Sarni. There are two big industrial institutions in these areas. But the capacity of these two industrial institutions is continuously decreasing. In this situation, traders in the area are very worried about the business. Mithilesh Singh Raghuvanshi said that the demand has been placed before the Chief Minister. In that area, the new unit will be given soon. Apart from this, three underground quarries can be opened in Patkhheda area. Whose process has continued for almost 10 years. If the administration and the government want it, this risk can be opened soon. Among those who met the Chief Minister included Pramod Darbai, Mithilesh Singh Raghuvanshi, Bhupesh Saawale, Amit Malvi, Ramesh Hirode, Jogendra Singh, Devendra Soni, Babbu Soni, Kamlesh Thakre, Raju Income and other traders.

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.