श्योपुर : साहब गांव के सभी मर्द बन गए शराबी, घर तक रख दिए गिरवी

Advertisements

NEWS IN HINDI

श्योपुर : साहब गांव के सभी मर्द बन गए शराबी, घर तक रख दिए गिरवी
श्योपुर। साहब! हमारे गांव में खुलेआम शराब बिक रही है। खुलेआम शराब बिकने से गांव के सभी मर्द शराब के आदि हो गए हैं। शराब की लत के चलते मर्दों ने घर तक गिरबी रख दिए हैं। यह शिकायत सूसवाड़ा गांव की महिलाओं ने मंगलवार को कलेक्टर पीएल सोलंकी को जनसुनवाई में आवेदन सौंपकर की है।
जनसुनवाई में महिलाओं ने बताया कि गांव में शराबियों ने आंतक मचा रखा है। गांव में खुलेआम शराब बिकने से गांव के अधिकतर लोग दिनभर नशे में डूबे रहते हैं और कोई काम धंधा भी नहीं करते हैं। शराब के लिए लोगों ने अपने घर गिरबी रख दिए हैं। इसलिए गांव में बिक रही खुलेआम शराब पर प्रतिबंध लगाया जाए। इसके अलावा महिलाओं ने बताया कि गांव में न तो शौचालय बने हैं और नहीं किसी को पीएम आवास मिले हैं।
महिलाओं की यह भी शिकायत है कि सचिव ने पीएम के आवास स्वीकृत कराने के नाम पर प्रत्येक हितग्राही से 700 रुपए भी लिए हैं इसके बाद भी किसी को भी आवास नहीं मिला है। महिलाओं से उक्त सभी समस्याओं को हल किए जाने मांग की है। इस दौरान आवेदन देने वालो में नाथी बाई, कौशल्या बाई, मजो, लाली, ममता बाई, मांगी, कविता, काड़ी बाई, रानी बाई, मिथलेश बाई, पुप्षा, सरस्वती बाई आदि के नाम शामिल है।
महिलाओं ने बताई पानी, रोजगार की समस्या
ग्राम नयागांव लाखा से शिकायत लेकर आई विद्या बाई, पाना बाई, हल्की बाई, कौशल्या, शारदा, कैलाशी बाई सहित आधा सैकड़ा करीब महिलाओं ने कलेक्टोरेट का घेराव कर अपनी विभिन्न समस्याएं बताई। महिलाओं का कहना है कि गांव में पानी की गंभीर समस्या है लोगों को पीने के लिए पानी नही मिल रहा है। उधर बावड़ीचापा में तालाब सूख जाने से मवेशी प्यास के मारे अकाल मौत मर रहे हैं। कई बार सरपंच- सचिव को इस बारे में अवगत करा दिया गया लेकिन अभी तक कोई ध्यान नहीं दिया। इसके अलावा महिलाओं ने गांव में लगे शराब ठेके को भी हटवाए जाने की मांग की है।
NEWS IN EnglishSheopur: All the men in the Sahib village became alcoholic, mortgaged to the house

Sheopur Sir! Our village is openly selling liquor. All the villages in the village have become so-called liquor due to the sale of liquor freely. Due to the addiction of alcohol, men have kept the jarbari at home. This complaint has been filed by the women of Souswada village on Tuesday by placing an application to collector PL Solanki in the hearing of the incident.
In the public hearing, women told that alcoholics in the village have made an intense fight. Most people of the village are drunk all day and they do not even work. For alcohol, people have put their house down. Therefore, there is a ban on openly sold alcohol in the village. Apart from this, women said that neither the toilets have been built in the village nor did anyone get the PM housing.

It is also a complaint of women that the Secretary has also given Rs 700 for each beneficiary in the name of sanctioning the accommodation of PM even after this, no one has even got accommodation after this. The women have demanded to solve all the above problems. During this period, Nathi Bai, Kaushalya Bai, Majo, Lalhi, Mamta Bai, Maangi, Kavita, Kadi Bai, Rani Bai, Mithlesh Bai, Pupsha, Saraswati Bai etc. are included in the application.

Advertisements
Advertisements

Women told water, problem of employment
About half an hour, including Vidya Bai, Pana Bai, Light Bai, Kaushalya, Sharda, Kailashi Bai, took a complaint from village Nayagaon Lakhan and told about their various problems by encroaching the collectorate. Women say that there is serious water problem in the village and people are not getting water to drink. On the other hand, due to drying of the pond in Bawadi Chapa, premature deaths are due to thirst. Many times the sarpanch-secretary was apprised about this but has not given any attention to it so far. Apart from this, women have also demanded to be removed from the liquor contracts in the village.

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.