बेटे ने की पिता का गला रेतकर फेवीक्विक से चिपकाने की कोशिश

Advertisements

NEWS IN HINDI

 बेटे ने की पिता का गला रेतकर फेवीक्विक से चिपकाने की कोशिशइकलौते बेटे ने बुजुर्ग पिता का पहले गला रेता फिर फेवीक्विक से चिपकाने की कोशिश की। बूढ़े बाप की चीख बाहर न सुनाई दे इसलिए टीवी और म्यूजिक सिस्टम ऑन कर दिया। इसके बाद घर में ताला बंदकर पिता को लहूलुहान हालत में तड़पता छोड़कर भाग निकला। घटना की जानकारी पड़ोसियों को तीसरे दिन शनिवार की सुबह हुई। इसके बाद जख्मी रामदेव मिश्र (65) को जिला अस्पताल पहुंचाया गया जहां उनकी हालत गंभीर है। आरोपी बेटा जगदीश मिश्र (40) घटना के बाद से ही फरार है। बेरोजगार जगदीश वर्ष 2005 में अपनी पहली पत्नी की भी हत्या कर चुका है।

दिल दहला देने वाली यह वारदात सोनहा थाना क्षेत्र के दरियापुर जंगल टोला के भैसहवा निवासी रेलवे के रिटायर्ड चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी रहे रामदेव मिश्र के साथ गुरुवार रात हुई। शनिवार को बिजली न होने और इन्वर्टर भी डिस्चार्ज होने के बाद रामदेव की चीख-कराह गांव की एक महिला ने सुनी तो अनहोनी की आशंका में उसने ग्राम प्रधान को इसकी जानकारी दी।

मौके पर पहुंचे ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि महेंद्र पांडेय ने ‘डायल 100’ पर सूचना देकर पुलिस बुलाई। ताला तोड़ा गया तो भीतर रामदेव को मरणासन्न हाल में देख पुलिस और स्थानीय लोग सकते में आ गए। तत्काल उन्हें भानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया। यहां से डॉक्टरों ने जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है लेकिन हालत नाजुक बनी हुई है। रामदेव मिश्र रेलवे से सेवानिवृत्त होने के बाद से गांव में रहते हैं। उनकी पत्नी की मौत काफी पहले हो चुकी है। रामदेव की दो बेटियां हैं जिनकी शादी हो चुकी है। फिलहाल वे बेटे जगदीश के पत्नी-बच्चों के साथ रहते हैं।

आरोपी जगदीश ने 13 साल पहले छत से धकेल कर पहली पत्नी को मार डाला था। जेल से छूटने के बाद उसने दूसरी शादी की जिससे दो बच्चे हैं। उसके अभद्र व्यवहार के चलते गांव के लोगों या रिश्तेदारों का रामदेव के घर आना-जाना न के बराबर है। गांव के लोगों में दबी जुबान यह भी चर्चा है कि गुरुवार को दिन में रामदेव की बहू और दो पोते घर में देखे गए थे लेकिन शाम के बाद से वे भी लापता हैं।

घटना की बाबत सोनहा थाने के प्रभारी निरीक्षक श्रीनाथ यादव ने बताया कि पुलिस ने जख्मी रामदेव को अस्पताल में भर्ती कराया है। उन्होंने बेटे द्वारा हमला करने की बात कही है। हालांकि परिवार की ओर से अब तक कोई तहरीर नहीं दी गई है। तहरीर मिलते ही मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल आरोपी युवक और उसके पत्नी-बच्चों की तलाश की जा रही है।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करकेhttps://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

NEWS IN ENGLISH

Son’s father tried to paste the throat of Sand Sagar Faviqvi

The only son tried to paste the old father’s first neck rake then the Favicquik. The old father’s shit was not heard out, so the TV and music system turned on. After this, locking the lock in the house, the father escaped unharmed and fled. The incident took place on Saturday morning on the third day of the incident. After this, wounded Ramdev Mishra (65) was taken to the district hospital where his condition is serious. The accused son Jagdish Mishra (40) is absconding since the incident. The unemployed Jagdish had also murdered his first wife in the year 2005.

The heartbreaking incident took place on Thursday night with Ramdev Mishra, a retired fourth grade employee of Bhayeshwara resident of Ranipur Jungle Tola of Sonha Police Station area. After the disruption of the inverter and the inverter was disrupted on Saturday, a woman from Ramdev’s scream-karnah village listened to it and in the fear of unhygienic, she gave this information to the village head.

Gram Pradhan’s representative Mahendra Pandey, who reached the spot, called the police after giving information on ‘Dial 100’. If the lock was broken, then the police and local people could see Ramdev in the dying condition of the dead. Immediately they were dispatched to Bhanpur Community Health Center. The doctors here referred the district hospital. He is undergoing treatment in the district hospital but condition remains fragile. Ramdev Mishra lives in the village since retirement from the railway. His wife’s death has been done quite a while ago. Ramdev has two daughters who have got married. At present, they live with the sons and sons of Jagdish.

The accused, Jagdish, was killed by the roof 13 years ago and the first wife was killed. After leaving the jail, she has another marriage, she has two children. Due to his indecent behavior, the people of the village or relatives of Ramdev’s house is not equal. It is also discussed in the village people that Ramdev’s daughter-in-law and two grandchildren were seen in the house on Thursday, but they are also missing since the evening.

In connection with the incident, Inspector of Sonha Police Station, Srinath Yadav said that the police has admitted the injured Ramdev to the hospital. He has spoken of son attacking. However, no tehsur has been given on behalf of the family so far. Action will be taken by filing a suit as soon as Tahrir meets. Currently, the accused and his wife and children are being searched.

 

Advertisements
Advertisements

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.