सौरव गांगुली बोले- काश 2003 वर्ल्‍ड कप में ये क्रिकेटर मेरी टीम में होता

Advertisements

NEWS IN HINDI

सौरव गांगुली बोले- काश 2003 वर्ल्‍ड कप में ये क्रिकेटर मेरी टीम में होता

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान क्रिकेटर सौरव गांगुली मैदान पर अपनी आक्रामकता के लिए जाने जाते हैं। जब टीम इंडिया की कमान सौरव गांगुली के हाथों में थी तो भारत ने वर्ल्ड क्रिकेट में अपनी प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी की थी। सौरव ने अपनी आत्मकथा ‘A Century is Not Enough’ में क्रिकेट से जुड़े अपने दिनों के बारे कई बातों का खुलासा किया। सौरव की ये किताब 25 फरवरी को रिलीज हुई है। सौरव गांगुली ने टीम इंडिया के दूसरे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बारे में कई बातें लिखी हैं। बता दें कि सौरव की कप्तानी में ही रांची के क्रिकेटर महेंद्र सिंह अपनी क्रिकेट करियर की शुरूआत की थी। गांगुली के नेतृत्व में धोनी को बेहतरीन क्रिकेटर साथ मिला। गांगुली ने उनकी क्षमता को पहचाना और उन्हें टॉप ऑर्डर में बैटिंग करने के लिए प्रेरित किया। क्रिकेटर साथियों में ‘दादा’ के नाम से प्रसिद्ध गांगुली अपनी आत्मकथा में लिखते हैं, ‘मैंने कई वर्षों तक ऐसे खिलाड़ि‍यों पर लगातार नजर रखी जो दबाव के क्षणों में भी शांत रहते हैं और अपनी काबिलियत से मैच की तस्‍वीर बदल सकते हैं, धोनी पर मेरा ध्यान साल 2004 में गया, वे इसी तरह के खिलाड़ी थे, मैं पहले ही दिन से धोनी से बेहद प्रभावित हुआ था।’

गांगुली अपनी ख्वाहिश जाहिर करते हुए आगे लिखते हैं, ‘काश, धोनी वर्ल्‍डकप 2003 की मेरी टीम में होते, मुझे बताया गया कि जब हम वर्ष 2003 के वर्ल्‍डकप के फाइनल में खेल रहे थे, उस समय भी धोनी रेलवे में टिकट कलेक्‍टर (टीसी) थे, अविश्‍वसनीय।’ अपनी किताब में गांगुली लिखते हैं, ‘आज मैं इस बात से खुश हूं कि मेरा अनुमान सही साबित हुआ, यह शानदार है कि धोनी ने आज अपने आपको एक बड़े खिलाड़ी के रूप में स्‍थापित किया है।’ बता दें कि सौरव गांगुली ने भारत की ओर से 113 टेस्ट मैच खेले, जबकि भारत के लिए 311 वन डे मैच खेलने का रिकॉर्ड उनके नाम से हैं। ‘दादा’ ने टेस्ट क्रिकेट में 16 शतक लगाये। यह एक रोचक तथ्य है कि सौरव गांगुली ने जब अपना अंतिम मैच खेला था तो उस दौरान धोनी ही मैच के कप्तान थे। गांगुली ने अपना अंतिम अतंर्राष्ट्रीय मैच नवंबर 2008 में खेला था। यह मैच भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच में था। दोनों देशों के बीच यह टेस्ट मैच नागपुर में खेला गया था।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Sourav Ganguly said, “This cricketer was in my team in the 2003 World Cup.

Former Team India captain Saurav Ganguly is known for his aggression on the field. When Team India’s command was in the hands of Sourav Ganguly, India had increased its reputation in world cricket. Sourav disclosed many things about his days related to cricket in his autobiography ‘A Century is Not Enough’. This book of Sourav is released on February 25. Sourav Ganguly has written a lot about Team India’s second captain Mahendra Singh Dhoni. Let me tell you that Ranchi cricketer Mahendra Singh started his cricket career in the captaincy of Sourav. Under the leadership of Ganguly, Dhoni got the best cricketer together. Ganguly recognized his ability and motivated him to bat in the top order. In the cricketer’s team, the famous Ganguly in his autobiography, ‘Dada’, writes in his autobiography, ‘I have kept a constant eye on such players for many years who are also calm in moments of pressure and can change the picture of the match with their ability, Dhoni My attention went up in 2004, they were similar players, I was very impressed with Dhoni from the very first day. ‘

Ganguly expresses his desire and writes further, “I wish Dhoni was in the World Cup 2003 team, I was told that when we were playing in the 2003 World Cup final, at that time also, the ticket collector (TC) Ganguly writes in his book, “Today I am happy with the fact that my estimate has been proved right, it is fantastic that Dhoni today established himself as a big player “Sourav Ganguly played 113 Test matches from India, while the record for playing 311 ODIs for India is from his name. Dada has scored 16 centuries in Test cricket. It is an interesting fact that when Sourav Ganguly played his last match, during that time Dhoni was the captain of the match. Ganguly played his last international match in November 2008. This match was between India and Australia. This test match between the two countries was played in Nagpur.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.