मुलताई : जब तक नहीं मिलेगा स्टापेज, तब तक चलेगा आंदोलन

Advertisements

NEWS IN HINDI

मुलताई : जब तक नहीं मिलेगा स्टापेज, तब तक चलेगा आंदोलन

जय मालवीय
बैतूल/मुलताई। ट्रेनों के स्टापेज की मांग को लेकर जनआंदोलन मंच के बैनर तले सोमवार से आंदोलन शुरू हो गया है। सोमवार को दर्जनों लोग क्रमिक भूख-हड़ताल पर बैठे, एवं घोषणा की कि जब तक ट्रेनों का स्टापेज नहीं होगा। तब तक क्रमिक भूख-हड़ताल जारी रहेगी। दिन भर भूख हड़ताल के बाद शाम को स्टेशन मास्टर को ज्ञापन सौंपा और लगातार चलने वाले आंदोलन के बारे में विस्तृत जानकारी दी। सोमवार को जनआंदोलन मंच के अनिल सोनी, रवि यादव, कमल सोनी, महेश शर्मा, हाजी शमीम खान, मोहनसिंह परिहार, यादोराव निंबालकर, सुमीत शिवहरे सहित दर्जनों लोगों ने आंदोलन की शुरुआत अनिश्चित भूख हड़ताल के साथ की। ट्रेनों को रोकने के इस आंदोलन में नगर पालिका की उपाध्यक्ष रेखा शिवहरे सहित दर्जनों संठगनों द्वारा आंदोलन को को समर्थन दिया और ट्रेनों के स्टापेज की मांग की। जनआंदोलन मंच के सदस्यों अनिल सोनी एवं रवि यादव ने क्रमिक भूख हड़ताल को संबोधित करते हुए कहा कि मुलताई में बहुत कम ट्रेनों का स्टापेज है, ताप्ती की उद्यम स्थली होने के बाद भी यहां से सीधा भेदभाव हो रहा है, इसलिए अब जब तक ट्रेनों का स्टापेज नहीं मिलेगा, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। आंदोलनकारी सुमित शिवहरे ने कहा कि मां ताप्ती का उद्यम स्थल मुलताई ट्रेनों के स्टापेज को तरस रहा है, ट्रेनों का स्टापेज नहीं होने से हजारों तीर्थ यात्री मुलताई नहीं आ पा रहे हैं, हालात यह है कि मुलताई के लोगों को भी या तो बैतूल या फिर नागपुर से ट्रेने पकड़ना पड़ता है।

पुलिस की भारी व्यवस्था के बीच हुआ आंदोलन
ट्रेनों के स्टापेज की मांग को लेकर सोमवार से शुरू किए गए आंदोलन की तैयारी पुलिस-प्रशासन द्वारा भी की गई थी। सोमवार को आरपीएफ सहित लोकल पुलिस बल भी भारी मात्रा में मौजूद था। आंदोलनकारियों ने कहा कि पुलिस दिखाकर उन्हें डराया जा रहा है, लेकिन उनका आंदोलन तब तक जारी रहेगा, जब तक उन्हें ट्रेनों का स्टापेज नहीं मिल जाता। उन्होंने कहा कि मुलताई के साथ लगातार दूजा व्यवहार हो रहा है एवं लगातार भेदभाव किया जा रहा है, इसलिए अब आश्वासन से काम नहीं चलेगा अब घोषणा के बाद ही आंदोलन खतम होगा।

विधायक ने लिखा रेलमंत्री को पत्र
इधर विधायक चंद्रशेखर देशमुख ने रेलमंत्री को पत्र लिखकर मुलताई में संघमित्रा एक्सप्रेस एवं जबलपुर-अमरावती एक्सप्रेस के स्टापेज की मांग की है। उन्होंने लिखे पत्र में बताया कि मुलताई पवित्र नगरी है और यहां हजारों की संख्या में श्रद्घालु आते है, ऐसे में इन दो ट्रेनों के स्टापेज से लोगों को मुलताई आने में सुविधा होगी और मुलताई के लोगों को भी राहत मिलेगी। उन्होंने बताया कि व्यापार एवं उच्च शिक्षा के लिए मुलताई के लोगों को लगातार बाहर जाना पड़ता है, इसलिए इन दोनों ट्रनों का स्टापेज किया जाए।

 

NEWS IN English

Multi: Stapages will not be available until the movement is run till

Jai Malavi
Betul / MultaI. On the demand of stamps of trains, the movement has started from Monday under the banner of the People’s Movement. On Monday, dozens of people sat on hunger strike, and announced that until the stops of trains would not be there. By then, gradual hunger strike will continue. After a hunger strike throughout the day, the memorandum handed over to the station master in the evening and gave detailed information about the continuous movement. On Monday, dozens of people, including Anil Soni, Ravi Yadav, Kamal Soni, Mahesh Sharma, Haji Shamim Khan, Mohansinh Pehar, Yadvaro Nimbalkar, Sumeet Shivabhum, started the movement with an indefinite hunger strike. In this movement to stop the trains, the movement supported by dozens of representatives including the Deputy Chairman of the municipality, Line Shivhav, and demanded the stapes of trains. Addressing a series of hunger strike, Anil Soni and Ravi Yadav, members of Janandolon Forum, said that there is a shortage of few trains in Multai, but there is a direct discrimination even after Tapti’s venture is situated, so that till now Stapes will not be available, till then the movement will continue. The agitator Sumit Shivvari said that Mother Tapti’s venture site has been relieving the stages of Multai trains, thousands of pilgrims have not been able to avail the pilgrimage due to not having a stamp of trains, the situation is that the people of Multai also have either Betul or Traffic has to be taken from Nagpur.

Movement between the police’s heavy system
The movement started from Monday on demand of stamps for trains was also done by the police-administration. On Monday, the local police force, including RPF, was also present in large quantities. The agitators said that they are being intimidated by showing the police, but their agitation will continue till they get a stamp of trains. He said that continuous dowry behavior is being done with Mulatai and continuous discrimination is being done, hence the assurance will not work now. Only after the announcement, the movement will end.

Legislator wrote letter to the Railway Minister
Here, Chandrasekhar Deshmukh wrote a letter to the Railway Minister and demanded the stampage of Sanghamitra Express and Jabalpur-Amravati Express in Multai. In his letter, he said that Mulatai is a holy city and there are thousands of devotees coming here, in such a situation, the stapages of these two trains will be provided to the people and the residents of Multan will also get relief. He told that the people of Multayan have to go out for business and higher education continuously, so the two trunks should be stamped.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.