पत्रकारों की सुरक्षा हेतु कड़ा कानून बने, पत्रकारों ने सौपा ज्ञापन

Advertisements

पत्रकारों की सुरक्षा हेतु कड़ा कानून बने, पत्रकारों ने सौपा ज्ञापन


मुलताई। प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल के मुलताई आगमन पर नगर के पत्रकारों ने पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग को लेकर पटेल को ज्ञापन सौंपा। नगर के बैतूल रोड पर दैनिक ताप्ती समन्वय कार्यालय में गरिमामय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान पटेल के साथ जिला पंचायत उपाध्यक्ष नरेश जिला पंचायत सदस्य राजा पवार रेखा शिवहरे मौजूद रही।

राज्य स्तरीय अधिमान्य पत्रकार गगनदीप खैरे सहित नगर के समस्त पत्रकारों की उपस्थिति में कृषि मंत्री कमल पटेल का फूल मालाओं से स्वागत किया गया। इसके साथ ही उन्हें श्री ताप्ती पुराण की प्रति भेंट की गई। वही श्री पटेल द्वारा दैनिक ताप्ती समन्वय के 22 वे वर्ष में पदार्पण होने पर संपादक गगनदीप खेरे को माला पहनाकर स्वागत करते हुए मिठाई खिलाई व ताप्ती समन्वय अखबार के उत्तरोत्तर प्रगति की कामना की। जिसके पश्चात उन्हें ज्ञापन सौंपा गया।

पत्रकार खेरे ने कृषि मंत्री को अवगत कराते हुए कहा कि प्रदेशभर के पत्रकार सकारात्मक पत्रकारिता करते हैं। जिसके चलते उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कई बार तो पत्रकारों पर माफियाओं द्वारा हमले तक करवाए जाते हैं साथ में उन्हें डराया धमकाया जाकर झूठे मुकदमे तक दायर किए जाते हैं। इन सब परेशानियों को देखते हुए प्रदेश सरकार को प्रदेश के समस्त पत्रकारों के हितों में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू किया जाना चाहिए। साथ ही एट्रोसिटी एक्ट की तरह धारा का प्रावधान होना चाहिए जो कि गैर जमानती हो, साथ ही पत्रकारों पर हमला करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। ताकि पत्रकार सुरक्षित माहौल में पत्रकारिता कर सके।

गरिमामय कार्यक्रम के दौरान भाजपा जिला उपाध्यक्ष मनीष मनकर नगर मंडल अध्यक्ष हनी भार्गव, भीम सिंह चंदेल, भाजपा नेता रितेश व्यास, राजू जैन, नमन अग्रवाल, श्यामू ढोमने, हनी सरदार, सुनील बिहारीया, प्रशांत भार्गव, तपन मोनू खंडेलवाल, पत्रकार विजय खन्ना, पंजाब राव मराठा, विजय सावरकर, राजू भार्गव, अल्ताफ खान, नितिन भार्गव, राजेश खडसे, रवि पाटिल, अमरदीप खेरे, रामचरण मालवी, सलमान शाह सहित अन्य प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.