तनख्वाह काटने के विरोध में हड़ताल, कई जिलों में 108-एम्बुलेंस थमा

Advertisements

NEWS IN HINDI

तनख्वाह काटने के विरोध में हड़ताल, कई जिलों में 108-एम्बुलेंस थमा

राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कई जिलों के 108 एम्बुलेंस कर्मी गुरुवार को हड़ताल पर चले गए हैं. एम्बुलेंस कर्मियों का आरोप है कि पिछले तीन माह से उनके मासिक वेतन में अनावश्यक रूप से कटौती की जा रही है. इनके हड़ताल पर जाने से अस्पताल लाए जाने वाले मरीजों को परेशानी उठानी पड़ेगी. हालांकि, मरीजों को अस्पताल लाने के सरकारी एम्बुलेंस सहित अन्य निजी एम्बुलेंस की सेवा सुचारू है. राजधानी के जय प्रकाश अस्पताल में इकठ्ठा हुए एम्बुलेंस कर्मचारी संगठनों के पदािधकारियों ने राज्य सरकार से भी इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की.

संगठन के मीडिया प्रभारी असलम खान ने बताया कि कर्मचारियों को बिना बताए कई बार उनका वेतन काट गया है. यह कटौती पिछले तीन माह से निरंतर जारी है. इस कटौती की वजह जानने के लिए कंपनी के अधिकारियों से बात करते हैं तो वो भी ठीक तरह से जवाब नहीं देते.

एम्बुलेंस चलाने वाले ड्राइवरों ने बताया कि फरवरी माह के वेतन बिना बताए तीन हजार रुपए काट लिए गए. इससे पहले भी पूरी तनख्वाह नहीं दी गई थी. इस संबध में पहले की गई शिकायत के बाद आश्वासन मिला था की पहले हुई कटौती का भुगतान इस माह कर दिया जाएगा. कंपनी की ओर से पिछली कटौती भी नहीं लौटाई गई और अब बिना बताए फिर से पैसे काट लिए गए. एम्बुलेंस संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि हमारी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल पर चले जाएंगे.

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Strike in protest against cutting bills, 108 ambulances in several districts

108 Ambulance workers from various districts of the state including Bhopal, have gone on strike on Thursday. Ambulance personnel allege that their monthly salary is being cut unnecessarily in the last three months. Patients brought to the hospital on their strike will have trouble. However, the services of other private ambulances, including the government ambulance, are available to bring the patients to the hospital. Officials of Ambulance Employees’ Organizations gathered at Jai Prakash Hospital in the capital demanded intervention of the state government in this case too.

Aslam Khan, media in-charge of the organization, told that many times his salary has been deducted without informing the employees. This deduction has continued continuously for the last three months. If you talk to the company officials to know the reason for this reduction, they also do not respond properly.

Drivers running the ambulance said that the salary for the month of February was not deducted to 3000 rupees. Even before, the full salary was not given. After the earlier complaint in this regard, the assurance was received that the deduction of the earlier deduction will be made this month. The last cut from the company was not returned and now the money was withdrawn without informing. Officials of the ambulance union said that if our demands are not considered then we will go on strike for indefinitely.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.