पर्यावरण सप्ताह के समापन पर प्रतियोगिता में सफल छात्रो और कर्मचारियो को वेकोलि प्रबंधन ने किया पुरस्कृत

Advertisements

पर्यावरण सप्ताह के समापन पर प्रतियोगिता में सफल छात्रो और कर्मचारियो को वेकोलि प्रबंधन ने किया पुरस्कृत


सारनी। 1 जून से 7 जून तक वेकोलि पाथाखेडा मे पर्यावरण सप्ताह मनाया गया। जिसका शुभारंभ 1 जून को वेकोलि पाथाखेडा महाप्रबंधक सोमेंद्र कुंदू द्वारा महाप्रबंधक कार्यालय में पर्यावरण ध्वज फहराकर पर्यावरण सप्ताह का शुभारंभ किया गया। उसके बाद कक्षा 1 से 12 वीं कक्षा तक के स्कूली छात्रों की 2 जून को पर्यावरण संबंधित निबंध और 3 जून को चित्रकला प्रतियोगिता आफिसर क्लब में आयोजित की गई।

जिसमें आधा सैकडा से अधिक स्कुली बच्चो ने भाग लिया। तथा 4 और 5 जून को वेकोलि के कर्मचारियो की भी प्रतियोगिता बीटीसी में आयोजित की गई। वही पर्यावरण सप्ताह का समापन 7 जून को आफिसर क्लब पाथाखेडा मे किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथी के रूप में वेकोलि के रंजय सिन्हा, महाप्रबंधक (संचालन), डॉ जयश्री मोघे, क्षेत्रीय चिकित्सा अधिकारी, कैलाशम जल्ला, क्षेत्रीय खान सुरक्षा अधिकारी, जितेंद्र प्रसाद, क्षेत्रीय कार्मिक प्रबंधक, जिगर देसाई, क्षेत्रीय पर्यावरण अधिकारी उपस्थित थे। अतिथियो के स्वागत के बाद सभी अतिथियो ने छात्रो द्वारा बनाई पेंटिंग का अवलोकन किया।

इस अवसर पर रंजय सिन्हा, महाप्रबंधक (संचालन) ने कहा कि हम सबको पर्यावरण के संरक्षण और सुरक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहना होगा। क्योकि आज हमारी पृथ्वी का अस्तित्व खतरे में है अगर हम ही इसकी सुरक्षा नही करेगे तो आने वाली पीढ़ी खतरे में पड़ जायेगी।कैलाशम जल्ला, क्षेत्रीय खान सुरक्षा अधिकारी ने कहा कि हमे अधिक से अधिक पौधो का रोपण करना चाहिए जिससे हमें शुद्ध वायु मिलती रहे। इसके अलावा पर्यावरण की सूरक्षा के लिए प्लास्टिक का उपयोग कम करना होगा। नदियो को स्वच्छ रखने के लिए उसमे कूडा कचरा नहीं बहाना चाहिए। पेडो का दोहन रोकना होगा तभी हम सूरक्षित रहेगे।

उसके बाद प्रतियोगिता में सफल प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पाने वाले छात्रो और कर्मचारियो को अतिथियो के द्वारा पुरस्कृत किया गया। वही स्लोगन में डॉ जयश्री मोघे, क्षेत्रीय चिकित्सा अधिकारी को पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर वेकोलि के कर्मचारी लक्ष्मण कवडे, कार्डिनेटर के रूप में वर्मा सर, शिक्षक फैयाज, सगीर कुरैशी, आनंदी बडोदे, पत्रकार कैलाश पाटील के अलावा बडी संख्या स्कूली छात्र-छात्राऐ और पालकगण उपस्थित थे।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.