सारनी: छतरपुर के गुस्साए ग्रामीण शनिवार को कोयले का परिवहन बन्द करेंगे

Advertisements

NEWS IN HINDI

सारनी: छतरपुर के गुस्साए ग्रामीण शनिवार को कोयले का परिवहन बन्द करेंगे

कैलाश पाटील
बैतूल/सारनी। ग्राम पंचायत छत्तरपुर के अंतर्गत वेस्टर्न कोल् फील्ड लिमिटेड कंपनी की दो भूमिगत खदाने संचालित है।गांव के पंच मुकेश धुर्वे ने बताया की प्रतिदिन यहां से कोयले के डम्परो का परिवहन होता है। जिसके कारण रोड पर कोयले का डस्ट जमा हो गया है। ओवरलोडिंग डम्परो से बहुत सारा कोयला रोड पर गिरता है जिसके कारण रोड पर पड़ा पड़ा कोयला डस्ट बन जाता है। जिसके कारण ग्रामीणो को परेसानी होती है। रोड पर पड़ा डस्ट इतना उड़ता है कि सुबह के समय स्कूल जाने वाले बच्चों की यूनिफार्म भी ख़राब हो जाती है। इसके अलावा आस पास के पेड़ पौधे पर डस्ट जमा रहता है। इस उड़ते कोयले के डस्ट के संबंध में कई बार लिखित शिकायत देने के बाद भी प्रबंधन ने दिखावे के लिए एक 1-2 दिन पानी का छिड़काव करने के बाद स्थित जब की तस है। युवा समाजसेवी सुनिल सरयाम ने बताया कि छतरपुर प्रबंधन के आधिकारियो के लापरवाही के कारण कई बार ग्रामीण आंदोलन के लिए लामबंद हुए है। गुरुवार को पानी के छिड़काव के लिए ग्रामीण मुख्य महाप्रबंधक कार्यालय पहुचे किन्तु वहां कोई भी अधिकारी नही मिले। गुस्साए ग्रामीण शनिवार को कोयले का परिवहन को बन्द करेंगे और जब तक पानी का छिड़काव सुचारू रूप से प्रतिदिन नही होता है। विरोध करने में ग्रामीण उपसरपंच देवकराम काकोडिया, दिलीप वरकडे, मनोज, धनराज के अलावा बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

 

NEWS IN ENGLISH

Sarni: The angry people of Chhattarpur will stop transportation to the rural on Saturday.

Kailash Patil
Betul / Sarani Under the village panchayat Chhattarpur, two underground fields of Western Coalfield Limited Company are operated. The Panchayat Panchayat Mukesh Dhayev told that the daily dumpers of coal are transported from here. Due to this the dust of coal has been deposited on the road. Due to overloading Dumpro, a lot falls on the coal road, due to which the coal lying on the road becomes dust. That is why the villagers have transmigration. Dust lying on the road so flies that the uniforms of children going to school in the morning also get worse. Apart from this, dust is stored on nearby tree plants. Despite giving written complaint several times in relation to the dust of this flying coal, the management has shown the presence of one after the spraying of water for 1-2 days for appearances. Youth social worker Sunil Siram told that due to the negligence of Chhatarpur management officials, many times the mobilization has been mobilized for rural movement. On Thursday, the rural general general manager reached the office for the sprinkling of water, but there were no officials there. Angry people will stop the transportation of coal on Saturday, and unless water sprinkler is not done smoothly every day. In protest, there was a large number of villagers present in addition to the village’s Deputy Secretary, Devakram Kakodia, Dilip Varade, Manoj, Dhanraj.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.