सारनी: जमीनी विवाद में महिला का गला दबाकर मारने का किया प्रयास

Advertisements

NEWS IN HINDI

सारनी: जमीनी विवाद में महिला का गला दबाकर मारने का किया प्रयास

बैतूल/सारनी। घटना का शिकार हुई महिला ने अपनी रिपोर्ट में बताया की मेरा नाम सुमन्ताबाई w/o डोडू कुदारे उम्र 50 वर्ष नि.बिसलदेही थाना सारणी मेरे तीन बेटे एक बेटी है पति को 25 वर्ष हो गये स्वर्गवास हुए। बेटे दो की शादी हो गई बडा बेटा बहू दोनो भयावाडी रहते है। मंझला वाला मेरे पास बिसलदेही में ही रहता है। बहू बेटे दोनो अलग कमरे में रहते है। मै अपना अलग कमरा है जिसमें मै खाति बनाती हूँ। सभी को 5 एकड जमीन में हिस्सा है मेरा भी पट्टा है जो रामकिशन को दिया है। बहू रजनी घर पर उसके भाई छोटू s/o शम्भू हाथिया के साथ थी। मैने रात्री 7-8 बजे लगभग बहूं से कहा की मेरा पट्टा देना पटवारी साहब ने बुलाया है। तो वह मुझसे झगडा कर गाली गुप्तार कर मारने दौडी और उसके भाई ने मेरा गला दबा दिया और बोला आज तुझे यहीं खत्म कर देता हूँ तथा वहीं पडी किसी वस्तु से मेरी बायें गाल पर मारा तो चोट लगकर खून निकला मै बेहोश हो गई। मोहल्ले के लोगों ने सूना देखा फिर सिरपत, स्वरूप दोनो ने घोडाडोंगरी ले गये। 108 गाडी से फिर वहां से बैतूल भर्ती किया है। ईलाज चल रहा है।

 

 

NEWS IN ENGLISH

Sarni: The attempt to kill the woman in the ground dispute

Betul / Sarani In the report of the victim, the woman said in her report that my name is Sumantabai w / o Dodu Kudera age 50 years. Bisaldeehi police station, my three sons are a daughter, husband has been 25 years old. Son 2 is married, big dear daughter-in-law, both are from Bhayawadi. The mediator remains in Bilalahi only. The daughter-in-law is living in separate rooms. I have a separate room in which I will make a meal. Everyone has a share in 5 acres of land. I also have a lease which has given to Ramkishan. Bahu Rajani was with her brother Chhotu s / o Shambhu Hathiya at home. I told him almost at 7-8 in the night that the patwari sir has called me a lease. Then he fought with me and tried to kill him, and his brother pressed my throat, and said, “I will finish you here today and hit the left cheek with some body lying there, I got unconscious after I got hurt.” The people of the locality saw the desert and then the syrup, both of them took the horse to Ghoddongari. 108 has been admitted to Betul from there. Treatment is going on.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.