भाजपा कार्यकर्ता के रूप काम कर रहे है जनपद के प्रभारी सीईओ एवं अन्य अधिकारी – कांग्रेस

Advertisements

भाजपा कार्यकर्ता के रूप काम कर रहे है जनपद के प्रभारी सीईओ एवं अन्य अधिकारी – कांग्रेस

जनपद के शपथ ग्रहण को बनाया भाजपा का निजी कार्यक्रम

नवनिर्वाचित जनपद उपाध्यक्ष से दिलवाई अध्यक्ष सहित सभी सदस्यों को शपथ

अधिकारियों ने भाजपा की चाटुकारिता में भूली शासकीय कार्यक्रम की सारी मर्यादाएं

कार्यक्रम होना था 11 बजे से भाजपा नेताओं के बिलंब से पहुंचने से दोपहर 2 बजे के बाद हुआ शपथ ग्रहण

दोषी अधिकारियों की शिकायत उच्च अधिकारियों से कर काँग्रेस पार्टी करेगी आंदोलन


जुन्नारदेव, (दुर्गेश डेहरिया)। त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव 2022 में निर्वाचित हुए जनपद अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित जनपद सदस्यों के शपथ ग्रहण जैसे शासकीय कार्यक्रम को जनपद पंचायत जुन्नारदेव के अधिकारियों ने भाजपा का निजी कार्यक्रम बनाने में कोई कोर कसर नही छोड़ी। शपथ ग्रहण कार्यक्रम में जनपद के अधिकारियों के ऐसे भेदभाव एवं चाटुकारिता भरे कृत्य पर ब्लॉक काँग्रेस जुन्नारदेव के अध्यक्ष घनश्याम तिवारी ने भारी आपत्ति जताते हुए इसकी कड़ी निंदा की है।

उन्होंने कहा कि जुन्नारदेव जनपद के प्रभारी सी ई ओ सहित सभी अधिकारियों ने भाजपा नेताओं को खुश करने के चक्कर मे शासकीय कार्यक्रमों की सारी मर्यादाएं लांघ दी है। कार्यक्रम तो हुआ जनपद पंचायत में लेकिन यह कार्यक्रम कहीं से भी शासकीय नही रहा। यहाँ सिवाए भाजपा नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के किसी अन्य दल के नेताओं को आमंत्रित नही किया गया था और न ही उन्हें कार्यक्रम के बारे में किसी प्रकार की जानकारी दी गई।

शपथ ग्रहण के कार्यक्रम का समय प्रातः 11 बजे से निर्धारित किया गया था,पर कार्यक्रम के मुख्यअतिथि जिला भाजपा अध्यक्ष के 3 घन्टे से भी अधिक विलंब से आने के कारण कार्यक्रम को घंटों लेट किया गया। हद तो तब हो गई जब नवनिर्वाचित जनपद सदस्य विधायक सुनील उईके के साथ शपथ ग्रहण के लिए जनपद पंचायत के सभाग्रह में पहुंचे तो वहाँ पूरे सभाग्रह में भाजपा के नेता एवं कार्यकर्ता सी ई ओ के साथ बैठे थे। नवनिर्वाचित जनपद सदस्यों के लिए कोई भी स्थान रिक्त नही था। सदस्यगण या खड़े रहे या पीछे की पंक्ति में बैठने को मजबूर थे।

कुछ देर के बाद भाजपा नेताओं से जगह खाली कराकर उन सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की गई। विधायक के साथ गए अन्य पार्टी पदाधिकारियों एवं अन्य निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को पीछे की पंक्ति में बैठाया गया। जब नवनिर्वाचित अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं जनपद सदस्यों को शपथ दिलाने की बारी आई तो यहाँ भी बड़ा अलग ही नजारा नजर आया। यह पहली बार देखने को मिला कि जो व्यक्ति स्वयं पहली बार निर्वाचित हुआ है और जिसने खुद भी पहले शपथ नही ली वह स्वयं भी अपनी शपथ लेने के साथ साथ अन्य सदस्यों को भी शपथ दिलवा रहा है।

जबकि इस जनपद में कई ऐसे वरिष्ठ जनपद सदस्य मौजूद थे जो या तो एक से अधिक बार सदस्य निर्वाचित होने के साथ ही पूर्व में जनपद अध्यक्ष एवं जनपद उपाध्यक्ष रह चुके है। इसके अलावा यह भी देखने मे आया है। कि जनपद के उपाध्यक्ष अपने से बड़े पद याने अध्यक्ष को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिला रहे है। यह समझ से परे है कि अधिकारियों का यह रवैया भाजपा नेताओं के दबाव में था या उन्हें खुश करने का नायाब तरीका। यह जो भी रहा हो लेकिन अधिकारियों ने उक्त कार्यक्रम में बड़ी ही अजीबोगरीब स्थिति उतपन्न करने में कोई कसर शेष नही छोड़ी।

इसके पश्चात जनपद प्रांगण में बड़ा पंडाल लगाकर कार्यक्रम रखा गया था जिसकी जानकारी न तो विधायक सुनील उईके को दी गई थी और न ही नवनिर्वाचित जनपद सदस्यों को। यह पूरी तरह से भाजपा द्वारा आयोजित कार्यक्रम लग रहा था। क्योंकि यहां पर भी पंडाल में पहले से ही बड़ी संख्या में भाजपा के कार्यकर्ता बैठे थे। शपथग्रहण के तुरंत बाद विधायक श्री उईके, काँग्रेस समर्थित जनपद सदस्य एवं काँग्रेस पदाधिकारी जनपद कार्यालय से चले गए। आगे श्री तिवारी ने कहा कि अगर यह कार्यक्रम जनपद पंचायत के द्वारा आयोजित था तो जो लोग यहाँ आए थे उन्हें आमंत्रित किसने किया था?

अगर यह कार्यक्रम जनपद के द्वारा आयोजित था तो यहाँ भाजपा के अलावा अन्य दलों के लोगों को आमंत्रित क्यो नही किया गया? काँग्रेस समर्थित नवनिर्वाचित जनपद सदस्यों को उक्त कार्यक्रम की जानकारी क्यों नही दी गई। जनपद के प्रांगण में आयोजित इस कार्यक्रम का खर्च किसने वहन किया? शासकीय कार्यक्रम का संचालन भाजपा नेताओं के द्वारा कैसे किया गया? समाचार पत्रों में छपी खबरों के अनुसार जिला भाजपाध्यक्ष ने शासकीय कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं को विधानसभा चुनाव से संबंधित तैयारियों को लेकर वक्तव्य कैसे दिया ? क्या यह भाजपा का अपना कार्यक्रम था?

कार्यक्रम में ऐसा लगा मानो प्रभारी सी ई ओ सहित पूरा जनपद का अमला भाजपा के कार्यकर्ता की तरह कार्य कर रहा है। जनपद पंचायत के प्रभारी सी ई ओ के कई किस्से पहले से ही प्रचलित है। शपथ ग्रहण कार्यक्रम में इन्होंने सारी मर्यादाओं को लांघ दिया है। काँग्रेस पार्टी अब सरकारी अधिकारियों के ऐसे किसी भी कृत्य को बर्दाश्त नही करेगी। सी ई ओ सहित इन अधिकारियों की पक्षपात पूर्ण कार्यप्रणाली की निंदा करते हुए काँग्रेस पार्टी जिला कलेक्टर से शिकायत कर प्रभारी सी ई ओ सहित वर्षों से जुन्नारदेव जनपद में जमें दोषी अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर कड़ी कार्यवाही कर इन्हें तत्काल यहाँ से हटाए जाने की माँग करेगी।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.