त्रिपुरा: ‘कमल’ खिलते ही BJP समर्थकों ने बुल्डोजर से तोड़ी व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति

Advertisements

NEWS IN HINDI

त्रिपुरा: ‘कमल’ खिलते ही BJP समर्थकों ने बुल्डोजर से तोड़ी व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति

अगरतला। त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव में बीजेपी की शानदार जीत के बाद राज्य से तोड़फोड़ और मारपीट के बाद अब वामपंथी स्मारकों को तोड़ने की खबर आ रही है. आरोप है कि बीजेपी समर्थकों ने साउथ त्रिपुरा डिस्ट्रिक्ट के बेलोनिया सबडिविज़न में बुलडोज़र की मदद से रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति को ढहा दिया गया. साम्यवादी विचारधारा के नायक लेनिन की मूर्ति तोड़े जाने के बाद से वामपंथी दल और उनके कैडर नाराज हैं.

आपको बता दें कि त्रिपुरा राज्य में बीजेपी की जीत के बाद राज्य के कई इलाकों से तोड़फोड़ और मारपीट की ख़बर आ रही है. 25 साल से सत्ता में काबिज रही सीपीआई(एम) आरोप लगा रही है कि बीजेपी-आइपीएफटी कार्यकर्ता हिंसा पर उतारू हो चुके हैं. वे न सिर्फ वामपंथी दफ्तरों में तोड़फोड़ कर रहे हैं बल्कि कार्यकर्ताओं के घरों पर भी हमला कर उन्हें निशाना बना रहे हैं.

वहीं रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति ढहाते वक्त लोगों को भारत माता की जय के नारे लगाते हुए भी सुना जा सकता है. एक न्यूज चैनल के अनुसार त्रिपुरा के एसपी कमल चक्रवर्ती (पुलिस कंट्रोल) ने जानकारी दी कि सोमवार दोपहर क़रीब 3.30 बजे बीजेपी समर्थकों ने बुलडोज़र की मदद से चौराहे पर लगी लेनिन की मूर्ति ढहा दी. एसपी के मुताबिक बीजेपी समर्थकों ने बुलडोज़र ड्राइवर को शराब पिलाकर इस घटना को अंजाम दिया. फ़िलहाल पुलिस ने ड्राइवर को गिरफ़्तार कर लिया है और बुलडोजर को सीज़ कर दिया है.

लेफ्ट ने कहा, डराने की कोशिश
इस घटना पर सीपीआई(एम) ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए नाराजगी जताई है. साथ ही वामपंथी कैडरों और दफ्तरों पर हुए हमलों की लिस्ट जारी करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी पर उनके कार्यकर्ताओं को डराने और उनके मन में खौफ पैदा करने का आरोप लगाया है. साथ ही कहा कि ये हिंसक घटनाएं प्रधानमंत्री द्वारा बीजेपी को लोकतांत्रिक बताने के दावों का मजाक है.

कौन हैं व्लादिमीर लेनिन
रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन ने 1893 से उन्होंने रूस के साम्यवादी विचारधारा का प्रचार शुरू किया था. इस वजह से उस दौरान लेनीन को कई बार जेल भेजा गया था और निर्वासित भी किया गया. ‘प्रलिटरि’ एवं ‘इस्क्रा’ के संपादन के अतिरिक्त 1898 में उन्होंने बोल्शेविक पार्टी की स्थापना की. 1905 की क्रांती के उनके प्रयास असफल रहे, लेकिन 1917 में उन्होंने रूस के पुननिर्माण योजना बनाई और सफल हुए. उन्होंने केरेन्सकी की सरकार पलट दी और 7 नवम्बर, 1917 को लेनीन की अध्यक्षता में सोवियत सरकार बनी. लेनिन की कम्युनिस्ट सिद्धांत और कार्यनीति लेनिनवाद के नाम से जानी जाती है. आज के वामपंथ विचारधारा और कार्यशैली में इनके सिद्धांतों का अहम योगदान है.

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Tripura: The idol of Vladimir Lenin smashed by the BJP supporters by the bulldozers when the ‘Kamal’ blooms

Agartala After the BJP’s splendid victory in Tripura assembly elections, news of the demolition of the Left Monuments after the state’s sabotage and assault has now come to an end. It is alleged that BJP supporters destroyed the Statue of Vladimir Lenin, the protagonist of the Russian Revolution, with the help of Bulldozers in the Belonia Subdivision of South Tripura District. The leftist and their cadre are angry since the statue of Lenin, the leader of communist ideology, has been broken.

Let us tell you that after the BJP victory in Tripura state, news of subversion and violence from many areas of the state is coming. The CPI (M), which has been occupying power for 25 years, is accusing the BJP-IPF activists of being on violence. They are not only destroying the Left offices but also attacking the workers’ homes and targeting them.

At the same time, during the demolition of statue of Vladimir Lenin, the protagonist of the Russian Revolution, people can be heard even with slogans of Bharat Mata. According to a news channel Tripura SP SP Kamal Chakraborty (Police Control) informed that on Monday afternoon at around 3.30 pm, BJP supporters collapsed the idol of Lenin on the intersection with the help of bulldozer. According to the SP, BJP supporters carried out the incident by drinking the bulldozer driver. At present the police has arrested the driver and has sealed the bulldozers.

Left said, try to frighten
CPI (M) has expressed resentment over the incident. In addition, while issuing a list of attacks on Left cadres and offices, PM Narendra Modi and BJP have accused their workers of scaring and creating fear in their minds. Also said that these violent incidents were the joke of the prime minister’s claim to declare a democratic BJP.

Who is Vladimir Lenin?
Vladimir Lenin, the protagonist of the Russian Revolution, started the promotion of communist ideology of Russia from 1893. For this reason, Lenin was sent to jail several times and was also exiled. In addition to the editing of ‘Prolitry’ and ‘Israqa’ he founded the Bolshevik party in 1898. His efforts to the 1905 revolution were unsuccessful, but in 1917 he made a plan to rebuild Russia and succeeded. He overturned the government of Kerencie and became the Soviet government under the leadership of Lenin on November 7, 1917. Lenin’s communist theory and strategy is known as Leninism. His principles in today’s leftist ideology and style of work are a major contributor.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.