ये रहे भारत की साउथ अफ्रीका पर जीत के हीरो

Advertisements

NEWS IN HINDI

 ये रहे भारत की साउथ अफ्रीका पर जीत के हीरो
भारत ने तीसरे और फाइनल मुकाबले में साउथ अफ्रीका को 7 रनों से हराकर टी-20 सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली। भारतीय टीम ने पहले बैटिंग करते हुए 7 विकेट के नुकसान पर 172 रन बनाए। जवाब में साउथ अफ्रीकी टीम निर्धारित 20 ओवरों में 6 विकेट के नुकसान पर 165 रन बना सकी। विराट की गैरमौजूदगी में रोहित शर्मा ने कप्तानी की तो 1 साल बाद टी-20 टीम में कमबैक करने वाले सुरेश रैना को ऑलराउंड परफॉर्मेंस के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। आइए जानें, रैना के अलावा कौन-कौन से खिलाड़ी भारत के लिए मैच विनर साबित हुए…

पिछले दोनों मुकाबलों में जोरदार हिट लगाने वाले सुरेश रैना ने इस मैच में भी चिरपरिचित अंदाज में शुरुआत की। कप्तान रोहित (11) के आउट होने के बाद बैटिंग करने आए रैना ने सिर्फ 27 गेंदों में 5 चौके और 1 छक्का लगाते हुए 43 रन की जोरदार पारी खेली। उनके और शिखर के बीच दूसरे विकेट के लिए 65 रनों की साझेदारी हुई। बैटिंग में हाथ दिखाने के बाद रैना ने डेविड मिलर (24) को आउट भारत को बड़ी सफलता भी दिलाई। उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

धवन ने शुरुआत काफी धीम की। पहले चौके के लिए 29 गेंदें खेलीं, लेकिन अंत तक जाते-जाते उन्होंने फॉर्म पा लिया और 40 गेंदों में 47 रन बनाए। वह फिफ्टी से तो चूक गए, लेकिन दूसरे विकेट के लिए रैना के साथ 65 और तीसरे विकेट के लिए मनीष पांडे के साथ मिलकर 32 रनों की साझेदारी करते हुए भारत को बड़े स्कोर तक पहुंचने में अहम भूमिका निभाई। सीरीज में वह बेस्ट स्कोरर रहे। 3 मैच में उन्होंने 47.67 की औसत से 143 रन बनाए।

भारत की ओर से सबसे सफल बोलर भुवनेश्वर रहे। उन्होंने 4 ओवर में सिर्फ 24 रन देकर 2 विकेट झटके। भुवी ने साउथ अफ्रीकी पारी का पहला विकेट रीजा हेंड्रिक्स (7) और आखिरी विकेट जोंकर (49) का लिया। जोंकर वही बल्लेबाज हैं, जिसने सिर्फ 24 गेंदों में 5 चौके और 2 छक्के लगाते हुए साउथ अफ्रीकी टीम को जीत ललक दिखा दी थी, लेकिन भुवी के रहते वह अपना लक्ष्य पूरा नहीं कर सके। उन्होंने टी-20 सीरीज में कुल 7 विकेट लिए। उन्हें मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

हार्दिक पंड्या इस मैच में वह करके दिखाया, जिसके लिए उन्हें जाना जाता है। उन्होंने पहले बैटिंग में अपेक्षाकृत धीमी, लेकिन 17 गेंदों 21 रनों की उपयोगी पारी खेली। इसके बाद बोलिंग में उन्होंने 4 ओवर में सिर्फ 22 रन देकर पिछले मैच में खतरनाक साबित हुए क्लासेन (7) को सस्ते में आउट कर भारत को मैच में ला दिया।

भारत की जीत के 5वें हीरो रहे शार्दुल ठाकुर। उन्होंने शुरुआत में काफी कसी बोलिंग की थी, लेकिन जोंकर ने उनके एक ओवर में 18 रन मारकर उनकी बोलिंग का आंकड़ा खराब कर दिया। बावजूद इसके उन्हें जीत का श्रेय जाएगा, क्योंकि उन्होंने पिछले मैच में साउथ अफ्रीका को जीत दिलाने वाले कप्तान जेपी ड्यूमिनी (55) को आउट किया, जो इस मैच में भी फॉर्म में रहे। ड्यूमिनी ने 41 गेंदों में 2 चौके और 3 छक्के लगाए।

बैटिंग में सिर्फ 11 रन बनाने वाले रोहित शर्मा ने कप्तानी में कसर पूरी कर दी। उन्होंने सुरेश रैना का एक बोलर के रूप में बेहतरीन तरीके से उपयोग किया। रैना ने 3 ओवर में सिर्फ 27 रन दिए और डेविड मिलर (24) का अहम विकेट भी लिया। उनके 3 अच्छे ओवर होने से साउथ अफ्रीका पर दबाव बनता गया, जिसका फायदा जसप्रीत बुमराह और शार्दुल ठाकुर को मिला। यही नहीं, इस चतुराई की वजह से ही अंतिम के 5 ओवर जसप्रीत, शार्दुल और भुवी के खाते में गए, जिसकी वजह से साउथ अफ्रीका मैच नहीं जी सका। अगर ऐसा नहीं होता और कोई स्पिनर अफ्रीकी बल्लेबाजों को मिल जाता तो मैच का रिजल्ट कुछ और हो सकता था।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करकेhttps://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

These are the heroes of India’s victory over South Africa.

India defeated South Africa by 7 runs in the third and final match to make it to the T-20 Series 2-1. The Indian team first scored 172 runs at the loss of 7 wickets while batting. In reply, the South African team could score 165 runs in 6 overs in the 20 overs. In the absence of Rohit Sharma in the absence of Virat, one year later, Suresh Raina, who had a comeback in the T-20 team, was chosen as the man of the match for an all-round performance. Let’s know, apart from Raina, who proved to be a match winner for India …

In the last two matches, Suresh Raina, who hit a huge hit, also started in this match in a familiar manner. After captain Rohit (11) was dismissed, Raina, who came in to bat, scored an impressive 43 off only 27 balls with 5 fours and 1 six. Between him and the peak, partnership of 65 runs for the second wicket. After showing off in the batting, Raina gave away great success to David Miller (24). They were selected Man of the Match.

Dhawan started a lot in the beginning. He played 29 balls for the first four, but after going to the end, he got the form and scored 47 in 40 balls. He missed out with Fifty but for the second wicket with Raina and 65 for the third wicket and Manish Pandey, together with 32 runs, India played a key role in reaching the big score. He was the best scorer in the series. In the 3 matches he scored 143 runs at an average of 47.67.

India’s most successful bowler Bhubaneswar He hit 2 wickets in 24 balls with just 24 runs. Bhuvai took the first wicket of South African innings Riaz Hendrix (7) and the last wicket Jonker (49). Zonkar is the same batsman who, in the 24 balls, had 5 chances and 2 sixes, showed the victory to the South African team but could not complete his goal while in Bhuvai. He took 7 wickets in the T20 Series. They were selected Man of the Series.

Hardik Pandya showed this in the match, for which he is known. He was relatively slow in first batting, but played 17 useful innings of 21 runs. After this, in the bowling, he just got 22 runs in 4 overs, which proved dangerous in the previous match, got rid of Klassen (7) cheaply and brought India to the match.

Shardul Thakur, the 5th hero of India’s victory. He had bowled a lot in the beginning, but Zonkar spoiled his bowling figures by scoring 18 runs in his over. Despite this, it will be credited with winning them, as they dismissed skipper JP Duminy (55), who gave South Africa victory in the last match, who also remained in the form in this match. Duminy hit two fours and three sixes in 41 balls.

Rohit Sharma, who scored just 11 runs in the batting, finished the job in the captaincy. He used Suresh Raina as a speaker in the best manner. Raina got only 27 runs in 3 overs and took a crucial wicket of David Miller (24). With three good overs, the pressure was on South Africa, which benefited Jaspreet Bumrah and Shardul Thakur. Not only this, because of this cleverness, the last five overs went into the account of Jaspreet, Shardul and Bhuvai, due to which South Africa could not play. If it does not happen and some spinner could get the African batsmen, then the result of the match could have been more.

 

Advertisements
Advertisements

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.