जानिए, श्रीलंका में क्यों आमने-सामने आ गए हैं बौद्ध और मुस्लिम?

Advertisements

NEWS IN HINDI

जानिए, श्रीलंका में क्यों आमने-सामने आ गए हैं बौद्ध और मुस्लिम?

श्रीलंका। सरकार ने देशभर में इमरजेंसी लगा दी है. सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा है कि सांप्रदायिक हिंसा भड़काने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए इमरजेंसी लगाई गई है. सोमवार को कैन्डी नाम के शहर में कर्फ्यू लगाई गई थी. इससे पहले एक बौद्ध शख्स की हत्या कर दी गई थी और मुस्लमों की दुकानों में आग लगा दिया गया था. आइए जानते हैं पूरा मामला…

बौद्ध और मुस्लिमों के बीच तनाव की स्थिति कई दिनों से चल रही थी. पुलिस ने कहा था कि कैन्डी जिले में ही दंगे के मामले हुए हैं. लेकिन अलजजीरा की रिपोर्ट में कहा गया था कि पूरा देश हिंसा की चपेट में है.

श्रीलंका में इससे पहले भी सांप्रदायिक हिंसा में काफी जानें गई हैं. यहां 10 फीसदी आबादी मुस्लिमों की है और 75 फीसदी लोग बौद्ध हैं. 13 फीसदी हिन्दूओं की आबादी भी यहां रहती है.

फरवरी में दोनों संप्रदायों के बीच हिंसा में 5 लोग घायल हो गए थे और काफी दुकानों और मस्जिदों को नुकसान पहुंचाया गया था.

रिपोर्ट के मुताबिक, जून 2014 में एलुथगामा दंगे के बाद मुस्लिम विरोधी कैंपेन चलाए गए थे. कुछ बौद्ध समूहों ने आरोप लगाया था कि मुस्लिम जबरन धर्म परिवर्तन करा रहे हैं.

2015 में सत्ता में आने के बाद राष्ट्रपति एम सिरेसेना ने कहा था कि वे मुस्लिम विरोधी हिंसा के मामलों की जांच करवाएंगे. हालांकि, बाद में कुछ खास नहीं हुआ.

आपको बता दें कि मालदीव में पहले से ही आपातकाल चल रहा है. सेना ने मालदीव की संसद पर भी कब्जा कर लिया था. सैन्यकर्मियों ने संसद में मौजूद सांसदों को खींचकर बाहर निकाल दिया था.

उधर,रोहित शर्मा की अगुवाई में भारतीय क्रिकेट टीम इस समय श्रीलंका के दौरे पर है और टी-20 सीरीज का पहला मैच आज शाम को खेला जाना है.

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Know why they have come face to face in Sri Lanka, Buddhists and Muslims?

Sri Lanka. The government has imposed emergency in the country. A spokesman of the government has said that emergency has been set up to take action against those who incite communal violence. On Monday, a curfew was imposed in the city of Kandy. Earlier a Buddhist was killed and Muslims’ shops were set on fire. Let’s know the whole case …

The situation of tension between Buddhists and Muslims was going on for several days. The police had said that the cases of riots took place in Kandy district only. But in Aljazeera’s report it was said that the whole country is in the grip of violence.

Earlier in Sri Lanka, too much has been lost in communal violence. Here, 10 percent of the population belongs to Muslims and 75 percent of them are Buddhists. The population of 13 percent Hindus also lives here.

In February, 5 people were injured in violence between the two communities and many shops and mosques were damaged.

According to the report, anti-Muslim campaigns were launched in June 2014 after the Allutgama riots. Some Buddhist groups have alleged that Muslims are forcibly changing the religion.

After coming to power in 2015, President M. Syrcena had said that he would conduct investigations into cases of anti-Muslim violence. However, nothing special happened later.

Let us know that the Emergency is already underway in the Maldives. The army also captured the parliament of the Maldives. The army workers dragged the MPs present in the Parliament out.

On the other hand, under the leadership of Rohit Sharma, the Indian cricket team is currently in Sri Lanka and the first match of the T20 series is to be played this evening.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.