जम्मू कश्मीर: हिमस्खलन की चपेट में आने से तीन सैनिकों की मौत हुई

Advertisements

NEWS IN HINDI

जम्मू कश्मीर: हिमस्खलन की चपेट में आने से तीन सैनिकों की मौत हुई

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के माचिल सेक्टर में शुक्रवार को हिमस्खलन की चपेट में सेना की एक चौकी आ गई, जिसमें तीन सैनिकों की मौत हो गई है और कई घायल बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि माचिल में सोना पंडी गली के पास स्थित 21 राजपूत सेना की चौकी को करीब 4.30 बजे हिमस्खलन ने अपनी चपेट में ले लिया। बता दें कि दो दिन पहले बुधवार को कुपवाड़ा सहित जम्मू-कश्मीर के विभिन्न जिलों में हिमस्खलन को लेकर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया था। सरकारी एजेंसी ने जम्मू कश्मीर के कई जिलों में हिमस्खलन की चेतावनी जारी की थी। अफगानिस्तान – ताजिकिस्तान सीमा क्षेत्र में 6.2 की तीव्रता वाला भूकंप आने पर उत्तर भारत में कई हिस्सों के थर्राने के बाद यह कदम उठाया गया था। हिमस्खलन अध्ययन प्रतिष्ठान ने स बारामुला जिले के ऊंचे स्थानों पर तृतीय स्तर के मध्यम खतरे वाले हिमस्खलन की चेतावनी और कुपवाड़ा, बांदीपुर, शोपियां तथा कारगिल जिलों में द्वितीय स्तर की कम खतरे वाली चेतावनी जारी की गई थी।

 

NEWS IN ENGLISH

Jammu Kashmir: Three soldiers died after avalanches of avalanches

New Delhi: A police checkpoint was hit by an avalanche in Machil sector of Kupwara district in Jammu Kashmir, in which three soldiers were killed and many others were being reported. It is being told that in the Machil, the 21 Rajput army post near the gold pandi street was taken by the avalanche at around 4.30 am. Explain that high alert was issued on avalanches in different districts of Jammu and Kashmir, including Kupwara on Wednesday two days ago. The government agency issued a warning of avalanches in many districts of Jammu and Kashmir. Afghanistan – The 6.2-magnitude earthquake in the Tajikistan border region, after the tremor of several parts in North India, was initiated. The avalanche study establishment warned of the third level moderate hazard avalanche at the high places of the Baramulla district and the second level low alert warning was issued in Kupwara, Bandipur, Shopian and Kargil districts.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.