त्रिपुरा में BJP के रंग में भंग! साथी दल ने की आदिवासी CM की मांग

Advertisements

NEWS IN HINDI

त्रिपुरा में BJP के रंग में भंग! साथी दल ने की आदिवासी CM की मांग

कोलकाता। त्रिपुरा में भारी जीत का जश्न मना रही बीजेपी के लिए नतीजे आने के 24 घंटे बाद ही एक बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई है. असल में गठबंधन के उसके साथी दल IPFT ने राज्य में आदिवासी मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर दी है. ऐसे में जब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बि‍प्लब देब का सीएम बनना तय माना जा रहा है, यह भारी जीत हासिल कर चुके गठबंधन के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार, बिप्लब देब रविवार को अगरतला के अपने विधानसभा क्षेत्र बनमालीपुर में पत्नी और हजारों समर्थकों के साथ एक विजय जुलूस लेकर निकले थे. इसी बीच इंडिजीनस पीपल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (IPFT) के अध्यक्ष एन.सी. देबबर्मा ने प्रेस क्लब में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्य में आदिवासी सीएम बनाने की मांग कर दी. उनके इस बैठक के बारे में बीजेपी नेताओं को कोई जानकारी नहीं थी.

देबबर्मा ने कहा, ‘चुनाव के नतीजों में बीजेपी और आईपीएफटी गठबंधन को भारी बहुमत मिला है. लेकिन यह आदिवासी वोटों के बिना संभव नहीं हो पाता. हम आरक्ष‍ित एसटी विधानसभा क्षेत्रों में जीत की वजह से ही यह चुनाव जीत पाए हैं. आदिवासी वोटों की भावना को ध्यान में रखते हुए, यह उचित होगा कि सदन का मुखिया एसटी क्षेत्र के ही किसी विधायक को बनाया जाए. स्वाभाविक है कि जो विधानसभा का लीडर होगा, वही मुख्यमंत्री होगा.’

बिप्लब देब के बारे में पूछे जाने पर आईपीएफटी के नेता ने कहा, ‘मैं बिप्लब देब के बारे में कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता.’ किस नेता को सीएम बनाया जाए इस सवाल पर देबबर्मा ने कहा कि इसके बारे में चर्चा के बाद ही कुछ तय किया जा सकता है. बीजेपी के त्रिपुरा प्रभारी सुनील देवधर ने कहा कि उन्हें देबबर्मा के बयान की जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा, ‘उन्होंने अपना विचार दिया है. हम सोमवार सुबह को आईपीएफटी नेताओं से मिलेंगे और इसके बाद ही इस पर कुछ विचार किया जा सकता है.’

जल्द खत्म होगा हनीमून!
सीपीएम और कांग्रेस नेताओं ने कहा कि उन्हें इस बात पर कोई आश्चर्य नहीं है. आदिवासी नेता और सीपीएम सांसद जितेंद्र चौधुरी ने कहा, ‘बीजेपी और आईपीएफटी का यह हनीमून ज्यादा दिन तक नहीं टिकेगा. जब आप अलगाववादी समूह के साथ तात्कालिक चुनावी फायदों के लिए गठबंधन बनाएंगे तो ऐसा ही होगा.’

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

Tripura dissolved in color of BJP Companion team demands tribal CM

Kolkata. Only 24 hours after the results for the BJP, which is celebrating a massive victory in Tripura, a big problem has arisen. Actually, the coalition partner of the coalition has demanded the formation of tribal chief minister in the state. In such a situation, when the BJP state president Bipel Debe is expected to become CM, it is not a good sign for the alliance which has won this huge victory.

According to the news of Indian Express, Biplab Deb came out with a victory procession in his assembly constituency, Banmalipur, with wife and thousands of supporters on Sunday. In the meantime, the president of the Indigenous Peoples Front of Tripura (IPFT), NC Debbarma demanded to form a tribal CM in the state by making a press conference in the press club. The BJP leaders had no information about their meeting.

Debbarma said, “In the results of the elections, the BJP and the IPF coalition got an overwhelming majority. But it is not possible without tribal votes. We have won this election only because of the victory in the reserved ST assembly constituencies. Keeping in view the spirit of tribal votes, it would be reasonable to make a leader of the house of the head of the ST area only. It is natural that the leader of the assembly will be the Chief Minister. ‘

When asked about Bipelub, the IPFT leader said, “I do not want to comment on Bipel Deb.” On this question, which leader should be made CM, Debbarma said that something can be decided only after discussion about it. BJP’s Tripura in charge, Sunil Deodhar said that he is not aware of Debbarma’s statement. He said, ‘He has given his thoughts. We will meet the IPFT leaders on Monday morning and only after this some consideration can be made. “

Honeymoon will end soon!
CPM and Congress leaders said that they are not surprised at this. Tribal leader and CPM MP Jitendra Chowdhury said, “This honeymoon of BJP and IPFT will not last for a long time. This will happen when you form an alliance with the separatist group for the immediate electoral benefits. ‘

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.