उज्ज्वला योजना : एक बड़ा गैस सिलेंडर लौटाने पर मिलेंगे दो छोटू सिलेंडर

Advertisements

NEWS IN HINDI

उज्ज्वला योजना : एक बड़ा गैस सिलेंडर लौटाने पर मिलेंगे दो छोटू सिलेंडर

नई दिल्ली। उज्ज्वला योजना की एक बड़ी समस्या गरीबों के लिए कनेक्शन लेने के बाद दोबारा रिफिल कराने के रूप में सामने आई है। इसकी वजह (14.2 किलोग्राम के सिलेंडर) रिफिल की कीमत ज्यादा होना है जिसका भुगतान करने में अधिकांश परिवार खुद को असमर्थ महसूस करते हैं। अब सरकारी तेल कंपनी इंडियन आयल ने इसका समाधान निकाल लिया है। कंपनी ने बड़े सिलेंडर लौटा कर गरीब परिवार को पांच किलोग्राम के दो गैस सिलेंडर लेने का प्रस्ताव किया है। इसके लिए जल्द ही एक योजना लागू की जाएगी। बड़े सिलेंडर को रिफिल करवाने की कीमत नई दिल्ली में अभी 783 रुपए है। दूसरी तरफ पांच किलो ग्राम के सिलेंडर के रिफिल करवाने की कीमत तकरीबन 350 रुपए पड़ेगी। इस तरह से छोटे सिलेंडर के रिफिल करवाने की राशि का इंतजाम करना ज्यादा आसान होगा।

इंडियन आयल कार्पोरेशन (आईओसी) के चेयरमैन संजीव सिंह ने बताया कि पहले कुछ चयनित स्थानों में यह योजना लागू की जाएगी। एक समस्या सिक्योरिटी कीमत को लेकर आ रही है क्योंकि बड़े सिलेंडर के लिए सिक्यूरिटी कीमत 1250 रुपए है जो अनुदान के तौर पर केंद्र देता है। दूसरी तरफ दो छोटे सिलेंडरों की सिक्यूरिटी कीमत 1600 रुपए होगी।

समस्या यह है कि दो सिलेंडरों के बदले सिक्योरिटी प्राइस का अंतर 350 रुपए का भुगतान किस तरह से किया जाये। इसके लिए सरकार से बात की जा रही है कि वह इस अंतर को भी बतौर अनुदान दे। लेकिन अगर कोई ग्राहक अभी चाहे तो 350 रुपए के अंतर का भुगतान कर बड़े सिलेंडर के बदले दो छोटे सिलेंडर ले सकता है।

आईओसी के निदेशक (मार्केटिंग) बी एस कंठ ने बताया कि उनकी कंपनी ने यह अध्ययन किया है कि उज्ज्वला ग्राहक क्यों रिफिल नहीं करवाते। एक बड़ी वजह पैसे की दिक्कत है तो दूसरी दिक्कत दूर दराज या पहाड़ी इलाकों में बड़े सिलेंडरों को ढोने की भी है। छोटे सिलेंडर इन दोनों समस्याओं का एक साथ समाधान करते हैं। वैसे अब उज्ज्वला के ग्राहकों की तरफ से रिफिल करवाने की रफ्तार थोड़ी बढ़ी है।

गैस कनेक्शन लेने वाला एक सामान्य परिवार सालाना 7.6 सिलेंडर रिफिल करवाता है जबकि उज्ज्वला के ग्राहक औसतन 3.8 फीसद रिफिल करवा रहे हैं। छोटे सिलेंडरों की शुरुआत होने के बाद यह संख्या बढ़ सकती है। उज्ज्वला योजना के तहत अभी तक 3.30 करोड़ गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं। इसका 44 फीसद अनुसूचित जाति व जनजाति परिवारों को गया है।

 

NEWS IN English

 Ujjawala plan: two small cylinders will be returned after returning a big gas cylinder

new Delhi. A major problem of the Ujjwala scheme has come as a refill, after taking connections for the poor. The reason for this (14.2 kg cylinder) refill is high, which most families feel unable to pay. Now the government oil company Indian Oil has taken the solution. The company has proposed to take two gas cylinders of five kilograms to the poor family by returning the big cylinder. A plan will be implemented soon for this. The cost to refill the big cylinder is just Rs 783 in New Delhi. On the other hand, the price of refill of five kilogram cylinders will be around 350 rupees. In this way, it will be easier to arrange the amount of refill of small cylinders.

Indian Oil Corporation (IOC) Chairman Sanjeev Singh said that this scheme will be implemented in the first few selected places. One problem is coming with the security price because the security price for the big cylinder is Rs 1250, which gives the center as a grant. On the other hand, the security price of two small cylinders will be 1600 rupees.

The problem is how the difference in the security price for 350 cylinders will be made in 350 rupees. It is being talked to the government that it will grant this difference as a grant. But if a customer wishes now, by paying a difference of 350 rupees, he can take two small cylinders instead of the big cylinder.

IOC Director (Marketing) BS Kanth said that his company has studied why the bright customers do not refill. One reason is the problem of money, the other problem is to draw large cylinders in far flung or mountainous areas. Small cylinders solve these two problems together. Well, the speed to refill from Ujjawala’s customers has increased slightly.

A normal family consuming gas connections is refurbished 7.6 cylinders annually, while Ujjwala customers are refilling an average of 3.8%. This number may increase after the introduction of small cylinders. Under the Ujjwala scheme, 3.30 crore gas connections have been given so far. It has 44 percent Scheduled Castes and Scheduled Tribes families.

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.