सीरिया में तत्काल संघर्षविराम चाहते हैं संयुक्त राष्ट्र प्रमुख

Advertisements

NEWS IN HINDI

 सीरिया में तत्काल संघर्षविराम चाहते हैं संयुक्त राष्ट्र प्रमुख
संयुक्त राष्ट्र : संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सीरिया में 30 दिवसीय संघर्षविराम के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित कर दिया. बीबीसी के मुताबिक, 15 सदस्यीय परिषद ने शनिवार को सीरिया के प्रभावित इलाके में सहायता पहुंचाने और मेडिकल सुविधाएं मुहैया कराने के पक्ष में वोट किया.इस सप्ताह पहले सीरिया की राजधानी दमिश्क के पास विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाके पूर्वी गूता में बमबारी शुरू हुई थी लेकिन कार्यकर्ताओं का कहना है कि समझौते के बाद भी हवाई हमले जारी हैं. इस प्रस्ताव पर गुरुवार से ही अड़चने आ रही थी. सीरिया सरकार का समर्थक देश रूस इस प्रस्ताव में संशोधन की मांग कर रहा था, जिस पर पश्चिमी देशों के राजनयिकों ने उन पर समय बर्बाद करने का आरोप लगाया.

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निकी हेली ने संर्घषविराम को तत्काल भाव से लागू करने का आह्वान किया था लेकिन साथ में सीरिया द्वारा संघर्षविराम को लागू करने पर आशंका भी जताई थी. संयुक्त राष्ट्र में रूस के दूत वासिली नेबेंजिया ने कहा कि युद्धग्रस्त धड़ों के बीच समझौते के बगैर यह संघर्षविराम संभव नहीं होगा. ब्रिटेन की मानवाधिकार संस्था सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स का कहना है कि परिषद में प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के कुछ ही मिनटों बाद पूर्वी गूता में बमबारी हुई. इससे पहले संस्था ने कहा था कि रविवार से शुरू हुई इस बमबारी में अभी तक 500 लोगों की मौत हो चुकी है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेसे ने कहा था कि पूर्वी गूता में स्थिति नर्क जैसी हो गई है.

 हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करकेhttps://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

United Nations chief wants immediate ceasefire in Syria

United Nations: The UN Security Council passed the 30-day ceasefire proposal in Syria unanimously. According to the BBC, the 15-member council voted in favor of providing aid and medical facilities to the affected area of ​​Syria on Saturday.

Earlier this week, a bombing started in the Eastern Goyas in the occupied area of ​​the rebel near Damascus, the Syrian capital, but activists say that air strikes are continuing even after the agreement. This proposal was coming to a halt on Thursday. Russia, which was a supporter of the Syrian government, was seeking an amendment in this proposal, on which the Western diplomats accused him of wasting time on them.

In the United States, US Ambassador Nikki Haley called for an urgent enforcement of the truce but simultaneously expressed doubts about the implementation of the ceasefire by Syria. Russia’s ambassador to the United Nations Vasily Nebenzia said that this ceasefire would not be possible without a compromise between warring factions. The Syrian Observatory for Human Rights, a UK-based human rights organization, says that a few minutes after the proposal was approved in the Council, Eastern Goose was bombed. Earlier, the institution had said that 500 people have died in the bomb blast that started on Sunday. United Nations Secretary-General Antonio Guterres had said that the situation in Eastern Gutha has become like hell.

Advertisements
Advertisements

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.