43 साल बाद वियतनाम में अमेरिका ने उतारा युद्धपोत, चीन को दिया कड़ा संदेश

Advertisements

NEWS IN HINDI

43 साल बाद वियतनाम में अमेरिका ने उतारा युद्धपोत, चीन को दिया कड़ा संदेश

वियतनाम के साथ अमेरिका का युद्ध खत्म होने के बाद सोमवार को अमेरिका ने पहली बार एयरक्राफ्ट ले जाने में सक्षम एक जहाज वियतनाम के बंदरगाह पर भेज दिया है। इस कार्रवाई से बहुत साफ है कि अमेरिका किसी भी सूरत में दक्षिण-चीन सागर क्षेत्र के भीतर चीन के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए तैयारी कर चुका है। चीन के लिए यह अब तक का सबसे खतरनाक संकेत है क्योंकि अमेरिका ने पहली बार अपने पारंपरिक शत्रु देश के बंदरगाह पर ड्रैगन का बढ़ता प्रभाव कम करने के लिए विमानवाहक पोत को भेजकर दोस्ती गांठी है।

वियतनाम में अमेरिकी युद्ध झेल चुके केंद्रीय बंदरगाह शहर ‘दानांग’ में अमेरिका ने अपने पोत ‘कार्ल विंसन’ पोत का लंगर डाल दिया है, जो अब यहां सबसे बड़ी पोस्ट के रूप में अपनी सेवा देना शुरू कर देगा। अमेरिकी युद्धपोत के कमांडर रियर एडम ने कहा कि यह बेहद ही बड़ा और ऐतिहासिक कदम है क्योंकि यहां पर 40 साल तक कोई मालवाहक जहाज नहीं रहा है। रियर एडम ने कहा कि यह कदम इस क्षेत्र में सुरक्षा, स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए उठाया गया है। इस इलाके में चीन ने काफी निर्माण कार्य कर लिया है, और चीन इस इलाके पर अपना दावा भी करता है, इसलिए अमेरिकी पोत की यहां तैनाती चीन के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं।

इससे पहले रियर एडम के पिता जॉन वी. फुलर भी वियतनाम में अपनी सेवाएं दे चुके हैं लेकिन तब दोनों देशों में शत्रुता के संबंध थे। कार्ल विंसन पोत पहली बार 5,500 नाविकों के के साथ वियतनाम पहुंचा है जिसके साथ हजारों अमेरिकी सैन्य कर्मी वियतनाम की धरती पर उतर चुके हैं। हालांकि अपने चार दिवसीय कार्यक्रम के दौरान बंदरगाह पर अमेरिकी पोत कर्मचारी एक अनाथालय और एजेंड ओरेंज के पीड़ितों के लिए दौरा करेंगे, जहां वियतनाम के जहर पीड़ित लोगों को रखा जाता है। लेकिन इस समाज सेवा के पीछे का मकसद चीन के इस इलाके में बढ़ते प्रभुत्व को चुनौती देना है। इससे पहले चीनी आपत्ति के बावजूद दक्षिण चीन सागर से अमेरिका अपने जंगी पोतों को गुजार चुका है।

इलाके पर चीन जताता रहा है अपना दावा
अमेरिकी पोत कार्ल विंसन दक्षिण-चीन सागर में तैनात किया गया है जो दुनिया की सबसे व्यस्त शिपिंग मार्ग में से एक है। यहां छह सरकारें प्रतिस्पर्धा का दावा कर रही हैं जिनमें से चीन प्रमुख है। इलाके में चीन ने अपने व्यापक सुधार कार्यक्रम चलाते हुए कई चट्टानों को काटकर यहां विशाल कृत्रिम द्वीपों का निर्माण कर लिया है और यहां वह अपने सैन्य ठिकाने बना रहा है। अकेले 2017 में यहां चीन ने करीब दो लाख 90 हजार वर्ग मीटर क्षेत्र की भूमि पर स्थायी सुविधाओं का निर्माण किया है। अमेरिका इस इलाके में अपने लिए समर्थन जुटा रहा है और वियतनाम उसे सबसे बेहतर साथी दिखाई दे रहा है।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

After 43 years, the United States launched a warship, Vietnam’s strong message to China

After America’s war with Vietnam, on Monday, the US has sent a ship capable of carrying the aircraft for the first time on the port of Vietnam. It is very clear from this action that the US has already prepared to reduce China’s growing influence within the South China Sea region. This is the most dangerous sign for China since the first time America has made friends by sending the aircraft carrier to reduce the dragon’s growing influence on its traditional enemy country’s port.

In the US war-hosted Central port city ‘Danang’, the US has put an anchor of its vessel ‘Karl Winson’, which will now start serving as the biggest post. American warship commander Rear Adam said that this is a very big and historic step as there is no cargo ship for 40 years. Rear Adam said that this step has been taken to promote safety, stability and prosperity in this area. China has done a lot of work in this area, and China also boasts its claim on this area, so deployment of US ships here is not a good sign for China.

Prior to this, Rear Adam’s father John V. Fuller has also served in Vietnam, but then there were links to hostilities in both countries. Carl Winson vessel has arrived in Vietnam for the first time with 5,500 sailors, along with thousands of US military personnel who have landed in Vietnam. However during the four-day program, US vessel employees will visit an orphanage and aged orange victims on the harbor, where Vietnam’s poisoned people are kept. But the purpose behind this social service is to challenge the growing domination in this area of ​​China. Earlier, despite the Chinese objection, the United States has passed its warship ships from the South China Sea.

China is claiming its territory
American vessel Karl Winson has been stationed in South China Sea, one of the busiest shipping routes in the world. Here six governments are claiming competition, of which China is the chief. In the area, China has started its extensive reform program, cutting off many rocks and creating huge artificial islands here and making it a military base here. In 2017 alone, China has built permanent facilities on nearly two lakh 90 thousand square meter area land. America is building support for itself in this area and Vietnam is seeing her the best partner.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.