किराडू मंदिर के गलियारे में जब कदमों की आहट सुनाई दी

Advertisements

NEWS IN HINDI

किराडू मंदिर के गलियारे में जब कदमों की आहट सुनाई दी

किराडू मंदिर के इस अंतिम भाग से पहले दो भागों में आपने जाना इस जगह का इतिहास और उसके साथ क्या हुआ… अनहोनी होने का सिलसिला यहीं नहीं थमा. 900 साल से कायम अंधविश्वास को चुनौती देने पहुंची टीम मजबूती के साथ रहस्यों को उजागर करने में जुटी हुई है. टीम के साथ कुछ-कुछ अजीबोगरीब घटनाएं भी घट रही हैं, लेकिन उसके बावजूद तफ्तीश जारी है.

दूर-दूर तक घना अंधेरा और मंदिर में पसरा है एक अजीब सा सन्नाटा. टीम के सभी सदस्य विज्ञान के कुछ आधुनिक उपकरणों की सहायता से 900 साल पुराने अंधविश्वास को लगातार चुनौती दे रहे हैं. खोजबीन का सिलसिला चल ही रहा था कि तभी के-2 मीटर पर अचानक तीन लाइटें लगने लगीं. यानी विज्ञान की भाषा में कहें, तो टीम के आसपास कोई अदृश्य ऊर्जा मौजूद है. के-2 मीटर का प्रयोग अभी पूरा भी नहीं हुआ कि अचानक पैरानॉर्मल सोसाइटी ऑफ इंडिया के सदस्य गोविंद को मंदिर के पिछले गलियारे में किसी के चलने की आवाज सुनाई दी.

गोविंद ने कहा कि मेरे पीछे से किसी के चलने की आवाज आई है. गोविंद के वहम को दूर करने के लिए पूरी टीम मंदिर के उस हिस्से तक जैसे ही पहुंची. के-2 मीटर दोबारा किसी के होने का संकेत देने लगा. इस बीच टीम को अपने इर्द-गिर्द फिर किसी परछाई के होने का अहसास हुआ.

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

When in the corridor of Kiradu Temple heard the tricks of the steps

Before this final part of the temple of Kiradu you went to the two parts, the history of this place and what happened with it … there was no untoward incident here. The 900-year-old team, who has come to challenge blind superstition, is firmly engaged in uncovering the mysteries. Some strange events are also going down with the team, but in spite of this, the investigation continues.

Far from deep darkness and in the temple is a strange silence. All members of the team are constantly challenging 900 years old superstition with the help of some modern science tools. There was a continuation of the investigation that only three lights were started suddenly on K-2 meters. That is, in the language of science, there is an invisible energy around the team. The K-2 meter experiment was not yet completed so that suddenly a member of the Paranormal Society of India Govind heard the voice of someone walking in the past corridor of the temple.

Govind said that there was a voice of someone walking behind me. The entire team reached as far as that part of the temple to remove Govind’s vulnerability. K-2 meter again started to indicate anybody else. Meanwhile, the team realized that there was no shadow around them.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.