सैलरी के साथ आपको मिलते हैं ये 8 अलाउंस, जानें कैसे करें क्लेम

Advertisements

NEWS IN HINDI

सैलरी के साथ आपको मिलते हैं ये 8 अलाउंस, जानें कैसे करें क्लेम

आप वेतनभोगी हैं, तो आपकी सैलरी स्ल‍िप में कई अलाउंस शामिल होते हैं. इनमें से कुछ पर आपको टैक्स छूट म‍िलती है, तो कुछ पर आपकी टैक्स देनदारी बनती है. ऐसे में इनकी बेहतर जानकारी रखना आपके लिए फायदेमंद साबित होता है.

घर का किराया (HRA):अगर आपकी सैलरी में घर का किराया अथवा हाउस रेंट अलाउंस शामिल है और आप किराये के मकान पर रहते हैं, तो आप इस पर टैक्स छूट हासिल कर सकते हैं. हालांकि यह छूट आपको कुछ नियम व शर्तों के साथ मिलती है.
हालांक‍ि अगर आप किसी भी तरह का किराया नहीं भरते हैं, तो सैलरी में मिलने वाला आपका पूरा HRA टैक्सेबल होगा.

ट्रांसपोर्ट अलाउंस (TA): अगर ट्रांसपोर्ट अलाउंस आपकी सैलरी का हिस्सा है, तो आप हर साल 19200 रुपये के TA पर टैक्स छूट पा सकते हैं. हालांकि नेत्रहीन, बध‍िर और दिव्यांग कर्मचारियों के लिए यह 32000 रुपये सालाना होता है. इसके लिए भले ही आपको किसी भी तरह का बिल नहीं भरना पड़ता है, लेक‍िन जरूरी है कि आप कंपनी की तरफ से दी जा रही परिवहन सुविधा न लेते हों.

ये चीज रखें ध्यान: इस बार बजट में ट्रांसपोर्ट अलाउंस और मेडिकल रिइंबर्शमेंट खत्म कर दिया गया है. इसकी वजह से अगले साल से आपको यह नहीं मिलेगा. इसकी जगह पर आपको 40 हजार रुपये का स्टैंडर्ड ड‍िडक्शन मिलेगा.

लीव ट्रैवल अलाउंस (LTA): सैलरी में मिलने वाले LTA पर भी आप टैक्स छूट पा सकते हैं. हाालंकि इसके कुछ नियम व शर्तें हैं, जिन्हें पूरा करने के बाद ही आप इसका फायदा उठा सकते हैं. जैसे कि LTA आप 4 साल के एक ब्लॉक में सिर्फ दो यात्राओं पर ही क्लेम कर सकते हैं. इसमें एयर ट्रैवल और ट्रेन का ही सफर शामिल किया जाता है. बस और कार का कुछ खास मामलों में ही शामिल होता है

ड‍ियरनेस अलाउंस (DA): ज्यादातर समय पर DA सरकारी कर्मचारियों को मिलता है. हालांकि आप चाहे सरकारी कर्मचारी हों या गैर-सरकारी, अगर आपको DA मिलता है तो इस पर आपको टैक्स चुकाना होता है. इसमें आपको टैक्स छूट नहीं मिलती है

मेडिकल रिइंबर्समेंट: मेडिकल रिइंबर्समेंट अगर आपकी सैलरी में शामिल है, तो आप 15 हजार रुपये तक के अलाउंस पर टैक्स छूट पा सकते हैं. मेडिकल रिइंबर्समेंट आपके इम्प्लॉई द्वारा आपके और आपके परिवार के मेडिकल खर्च का वहन करने के लिए दिया जाता है. इसके लिए आपको बिल जमा करना जरूरी होता है. हालांकि अगले साल से यह खत्म कर दिया गया है.

फिक्स्ड मेडिकल अलाउंस: फिक्स्ड मेडिकल अलाउंस अगर आपकी तनख्वाह का हिस्सा है, तो इस पर आपको टैक्स छूट नहीं मिलती है. इसे मेडिकल रिइंबर्समेंट के साथ न जोड़ें. दोनों चीजें अलग हैं. मेडिकल अलाउंस जहां टैक्सेबल है. वहीं, मेडिकल रिइंबर्समेंट पर टैक्स छूट होती है.

चिल्ड्रन एजुकेशन अलाउंस: आपकी सैलरी में अगर आपको चिल्ड्रन एजुकेशन अलाउंस मिल रहा है, तो इस पर भी आप टैक्स छूट हासिल कर सकते हैं. हालांकि यह सीमित है. इसके तहत आप सालाना 1200 रुपये पर टैक्स छूट पा सकते हैं. यह छूट आप अध‍िकतम दो बच्चों के लिए हासिल कर सकते हैं.

स्पेशल अलाउंस: कई बार कुछ कंपनियां अपने कर्मचारियों को कुछ स्पेशल अलाउंस देती हैं. ऐसे अलाउंस पर आपको टैक्स देना पड़ता है.

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए लिंक पर क्लिक करके https://www.facebook.com/samacharokiduniya/ पेज को लाइक करें या वेब साईट पर FOLLOW बटन दबाकर ईमेल लिखकर ओके दबाये। वीडियो न्यूज़ देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे। Youtube

 

NEWS IN ENGLISH

With these salaries you meet these 8 alliances, learn how to claim

If you are the salaried, then your salary slip includes many aliases. On some of these you get tax exemption, your tax liability arises on some. In this way, it is beneficial for you to know better.

House rent (HRA): If you have a house rent or house rent allowance in your salaried house and you live on a rented accommodation, you can get tax rebate on it. However this discount gives you some terms and conditions.
However, if you do not fill any kind of rent, then your complete HRA will be taxable in salary.

Transport Alliance (TA): If Transport Allowance is part of your salary, then you can get a tax exemption on TA of 19200 rupees every year. However, for blind, deaf and illiterate employees it is 32,000 rupees annually. For this, even if you do not have to pay any kind of bills, but it is important that you do not take the transportation facility offered by the company.

Keep this thing in mind: this time the transport alliance and medical reimportement has been abolished in the budget. Because of this you will not get this from next year. Instead you will get a standard deduction of 40 thousand rupees.

Leave Travel Alliances (LTA): You can also get tax exemption on LTA, which is available in salary. However, there are some terms and conditions that you can take advantage of it. Like LTA you can claim in a 4-year block on only two visits. It involves the journey of air travel and train. Bus and car are included only in certain cases

Deans Alliance (DA): Most of the time DA gets government employees. Even if you are a government employee or a non-official, if you get a DA, then you have to pay tax on it. You do not get tax exemption in this

Medical reimbursement: If medical reimbursement is included in your salary, then you can get a tax exemption of up to Rs 15,000. Medical reimbursement is given by your employer to carry medical expenses for you and your family. You need to submit a bill for this. However, it has been eliminated from next year.

Fixed Medical Allowance: Fixed Medical Allowance If you are part of your salary, you do not get tax exemption on this. Do not add it to medical reimbursement. Both things are different. Medical allowance where the taxable is At the same time, tax on medical reimbursements is waived.

Children’s Education Alliance: If you are getting a children’s education allowance in your salon, you can also get a tax exemption. Although it is limited. Under this, you can get tax rebates at Rs 1,200 per annum. This discount can be acquired for you up to two children.

Special Alliances: Sometimes a few companies give some special allowance to their employees. You have to pay tax on such an allowance.

 

To get the latest updates, click on the link: https://www.facebook.com/samacharokiduniya/Like the page or press the FOLLOW button on the web site and press the OK Subscribe to our YouTube channel to see the video news. Youtube

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.