जिंदगी दाव पर लगा कर भविष्य सवारने जा रहे नौनिहाल

Advertisements

जिंदगी दाव पर लगा कर भविष्य सवारने जा रहे नौनिहाल


आठनेर, (पीयूष जगदले)। क्षेत्र के ग्राम आष्टी में तेज बहाव के कारण रपटा बहने से लोगो को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम के बीच मे स्थित माडु नदी पर यह रपटा था रपटा के एक ओर पुरानी बस्ती एवं दूसरी ओर नई बस्ती स्थापित है बाजार , स्कूल समेत अन्य सुविधा नई बस्ती में उपस्थित है।

ऐसे में दोनों ही बस्ती वालो को जाने आने के लिए यही रपटा एक मात्र स्थान था जो भारी बारिश के वजह से क्षतिग्रस्त हो गया अब ऐसे में तेज बहाव एवं पत्थरों की भरमार वाली नदी पार करने हेतु अन्य कोई सुविधा नही है। हाल ही में ग्रामीणों के पास तेज बहाव एवं पत्थरों की भरमार को वाली नदी पार करने के अलावा और कोई दूसरा चारा बचा नही है। दरअसल पहाड़ी इलाका होने के कारण जरा सी बारिश से नदी को बाढ़ आ जाती है जिसके बाद ग्रामीणों को घण्टो वहा खड़े रहकर बाढ़ उतरने की रास्ता देखना पड़ता है और फिर जाकर कहीं एक दूसरे के सहारे नदी को पार करना पड़ता है।

जिंदगी दांव पर लगाकर भविष्य सुधारने को मजबूर नौनिहाल

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम आष्टी में मिडिल स्कूल नई बस्ती में हिडली रोड पर्णबना है अब ऐसे में पुरानी बस्ती के बच्चों को नदी पार कर स्कूल जाना आना पड़ता है पहले नदी पर रपटा होने की वजह से बाकी समय बच्चों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता था परंतु रपटा क्षतिग्रस्त होने के बाद से ही बच्चों को आने-जाने में भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने जानकारी देते हुए बताया कि पुरानी बस्ती से लगभग 100 से 150 बच्चे रोजाना स्कूल आते जाते हैं।

नदी पर रपटा नही होने के कारण ग्रामीण हाथ पकड़कर नौनिहालो को नदी के तेज बहाव एवं पत्थरों की भरमार वाली नदी से पार कराते हैं ऐसे में अगर अचानक नदी में बाढ़ आ जाए तो कोई बड़ी दुर्घटना हो सकती है ग्रामीणों ने इस नदी पर जल्द से जल्द उचित व्यवस्था बनाने की मांग प्रशासन से की है।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Related posts

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.